दुनिया की 10 सबसे पुरानी भाषाएँ | world’s oldest language

दुनिया की 10 सबसे पुरानी भाषाएँ | world's oldest language

10:- लैटिन | Latin  –

latin language

 

old Latin लैटिन भाषा को refer करता है। जो कि 75 BC से पहले की भाषा है।  यह भाषा बहुत सारे युद्ध जो Italian Peninsula में लड़े गए उनको जीतने वालों के द्वारा इस्तेमाल की जाती थी। यह भाषा तब अधिक प्रचलित हुई जब यह Roman Empire की औपचारिक भाषा बनी। सारी रोमन भाषाओँ की जननी लैटिन भाषा  को ही माना जाता है। यहाँ तक कि English Language में भी इसी भाषा का ज्यादा स्तेमाल होता है।


9 :- आर्मेनियन | Armenian –

आर्मेनियन भाषा भी भारतीय-यूरोपीय भाषाई समूह का हिस्सा है।  जो कि आर्मेनियन लोगों द्वारा बोली जाती है।  इस भाषा का इतिहास भी बहुत पुराना है। जिसमें पांचवी शताब्दी की Bible Translated मूल शब्दों का स्तेमाल किया गया है। आखिरी टेक्स्ट के मिलने के बाद यह अनुमान लगाया जाता है कि इस भाषा का प्रचलन 450 BC के समय में शुरू हुआ था इस वक़्त इस भाषा को बोलने वाले करीबन 50 लाख लोग है ।


8:- कोरियन | Korian  –

यह भाषा 620 BC की भाषा है और इस भाषा को बोलने वाले लोगों की संख्या 650 लाख हैं। और इसी भाषा को 50 लाख कोरियन के द्वारा भी बोला जाता है।


7:- हिब्रू | Hebrew –

hebrew language

हिब्रू भाषा के पुनरुद्धार की कहानी असाधारण है जो कि इतिहास में अद्वितीय है। इस भाषा की जड़ 3000 साल से अधिक पुरानी है। यह भाषा एक तरह से निष्क्रिय हो चुकी थी, जिसे पुनर्जीवित किया गया। आज की तारीख में यह भाषा 21वीं सदी में पहुंच चुकी है। करीब 150 साल पहले तक हिब्रू बातचीत की भाषा के रूप में प्रचलित नहीं थी। यह लिखित रूप से किसी की मातृभाषा भी नहीं थी। आज 9 मिलियन से अधिक लोग हिब्रू भाषा बोलते हैं, जिनमें से अधिकतर की यह मातृभाषा है। यहूदियों के पलायन के करीब एक हजार साल बाद 70 इसवी में दूसरे मंदिर के विनाश के बाद भी हिब्रू आराधना पद्धति और धार्मिक कामकाज के अलावा प्रवासियों के बीच जीवित रही। यहूदी दीन के बहुत सारे ग्रन्थ इसी भाषा में है। और आज यहूदिओ द्वारा इस भाषा को आम बोल चाल में भी प्रयोग किया जाता है।


6:- आरमेइक | Aramaic 

ये भाषा आज हिब्रू और अरबी भाषाओं में मिल चुकी है। कभी ये आर्मेनियाई गणराज्य की आधिकारिक भाषा हुआ करती थी। इसकी मौजूदगी के ईसा से 1000 साल के पहले के भी सबूत मिले हैं। आज भीअमेरिक भाषा इराक, इरान, सीरिया, इजरायल, लेबनान में आधुनिक रूप  में बोली जाती है।


5:- चीनी | Chinese –

चीनी भाषा को तीन हजार साल पुरानी यानी 1200 BC का माना जाता है, और  दुनिया के 1.2 अरब लोग इसी भाषा में बात करते हैं। प्राचीन चीनी भाषा तो अब नहीं रही लेकिन भाषा की बुनियाद वही है। मैंडरिन और केंटोनीज सबसे ज्यादा बोली जाने वाली आधुनिक चीनी बोलियां हैं।


4:- ग्रीक | Greek –

दुनिया की 10 सबसे पुरानी भाषाएँ | world's oldest language
Ancient greek writing on stone background

ग्रीक भाषा के पुराने लिखित सबूत 1450 BC के हैं। प्राचीन समय में ग्रीक भाषा काफी प्रचलित थी। लेकिन पुराणी ग्रीक भाषा से आज की ग्रीक भाषा काफी अलग है। तीन हजार साल से भी ज्यादा पुरानी यह भाषा ग्रीस और साइप्रस की आधिकारिक भाषा है।  इसके कई अक्षर दुनिया भर में गणित और विज्ञान में प्रतीकों के तौर पर इस्तेमाल होते हैं। जैसे – α, β, γ, Δ, ε अदि।


3:-  इजिप्टियन | Egyptian –

इजिप्टियन भाषा मिस्र की सबसे पुरानी ज्ञात भाषा है। यह भाषा एफ्रो-एशियाई भाषाई परिवार से है। यह भाषा ईसा से 2600-2000 साल पुरानी है।  अभी भी यह भाषा अपने अस्तित्व को जीवित बनाए हुए है।


2:-  तमिल | Tamil –

दुनिया की 10 सबसे पुरानी भाषाएँ | world's oldest language

तमिल भाषा को दुनिया की सबसे पुरानी भाषा के तौर पर मान्यता मिली हुई है और यह द्रविड़ परिवार की सबसे प्राचीन भाषा है। करीब 5000 साल पहले भी इस भाषा की उपस्थिति थी। एक सर्वे के मुताबिक प्रतिदिन सिर्फ तमिल भाषा में 1863 अखबार प्रकाशित होते हैं। वर्तमान में तमिल भाषा बोलने वालों की संख्या लगभग 7.7 करोड़ है। यह भाषा भारत, श्रीलंका, सिंगापुर तथा मलेशिया में बोली जाती है। हालाँकि संस्कृत और तमिल में अभी भी वाद विवाद है क्योंकि दोनों भाषाएँ 5000 साल पुरानी हैं। दोनों में एक से बढ़कर एक से सबूत है, लेकिन भारतीयों के सभी धर्म ग्रन्थ, वेद-पुराण, उपनिषद, आदि संस्कृत में ही मौजूद हैं इसलिए यह माना जाता है कि उस वक़्त संस्कृति तमिल से ज्यादा प्रचलित थी इसलिए ज्यादा ग्रंथो की रचना संस्कृत में की गयी।


1:-  संस्कृत | Sanskrit –

दुनिया की 10 सबसे पुरानी भाषाएँ | world's oldest language

संस्कृत भाषा को देवभाषा कहा जाता है. हमारे सारे वेद – उपनिषद संस्कृत में ही लिखे गए हैं।  दुनिया भर में फैले तमाम विश्विद्यालय एवं शिक्षण संस्थान संस्कृत को सबसे प्राचीन भाषा मानते हैं। यूरोप की सारी भाषाओ की जननी संस्कृत को ही माना जाता है। संस्कृत भाषा बोल चाल में आज बहुत कम हो चुकी है लेकिन हिन्दू  में  पूजा-पाठ, कर्म-काण्ड और सभी  संपन्न होने वाले शुभ कार्यों में वेद मंत्र का पाठ किया जाता है, जिसकी भाषा संस्कृत है। इसलिए पूजा पाठ के लिए संस्कृत का उपयोग ही किया जाता है। आपको जानकर हैरानी होगी, कंप्यूटर की बेसिक लैंग्वेज को संस्कृत भाषा के सिद्धांत पर ही बनाया गया है। इसके अलावा यह एक वैज्ञानिक भाषा है। इसे अमेरिका के नासा ने अपनी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के रूप में इस्तेमाल की बात कही है। आज के कंप्यूटर युग कंप्यूटर प्रोग्रामिंग के लिए सबसे अच्छी भाषा मानी जाती है। हम भारतीयों का दुर्भाग्य है कि हम संस्कृत को ख़तम होने की कगार पर ले आये और NASA, Oxford, और बड़ी बड़ी International University  संस्कृत को एक विषय के रूप में रख रहे हैं क्योंकि वेदो में बहुत सारी बाते ऐसी  हैं जो हम अभी तक भी नहीं जान पाए हैं।  पश्चिमी देशो के मेडिकल कॉलेजों में यजुर्वेद को पढ़ाया जाता और उनपर एक्सपरिमेंट भी किया जाता है। जिस योग को आज पूरी दुनिया में मान्यता मिली है वह योग भी वेदो में से ही निकला है। बाहर के लोग हमारे वेदो की महत्व को भली भांति जानते हैं इसलिए वे उनका अध्ययन करते हैं। और हम हैं की अपने पास पड़ी हुई चीज का महत्व ही नहीं जान रहे हैं। बाहर की भाषा और बाहर की संस्कृति को अपना कर हम भारतीयों का अपने अस्तित्व  को खोते जा रहे हैं ।

तो यह थी दुनिया की 10 सबसे पुरानी भाषाएँ इस विषय में आपका क्या कहना है जरूर बताएं।


यह भी पढ़ें –

भारतीय झंडे के बारे में 10 बाते जो आपको पता होनी चाहिये

दुनिया के 10 सबसे सस्ते देश जहाँ भारतीय घूम सकते हैं सस्ते में

कुरान की 10 आयतें जो वैज्ञानिक तौर पर गलत सिद्ध हुई

महाभारत को सच साबित करते 10 सबूत देखिये

Share post, share knowledge

5 thoughts on “दुनिया की 10 सबसे पुरानी भाषाएँ | world’s oldest language”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *