व्हाट्सप्प टू स्टेप वेरिफिकेशन क्या है Whatsapp two step verifitation

व्हाट्सप्प टू स्टेप वेरिफिकेशन क्या है

व्हाट्सप्प टू स्टेप वेरिफिकेशन क्या होता है और कैसे काम करता है इसके बारे में हम आज विस्तार से जानेंगे। साथ ही हम यह भी जानेंगे की यह कैसे काम करता है और इस से आपकी Security पर क्या फर्क पड़ेगा। साथ ही Two Step Verivication से सम्बंधित जितने भी सवाल और डाउट आपके मन में होंगे उनपर भी डिसकस करेंगे। तो सबसे पहले हम यह जान लेते हैं कि व्हाट्सप्प टू स्टेप वेरिफिकेशन क्या है।

व्हाट्सप्प टू स्टेप वेरिफिकेशन क्या है ? | What is Whatsapp two step verifitation ?

दोस्तों क्या हो अगर कोई आपकी व्हाट्सप्प चैट आपकी Permision के बिना पढ़ रहा हो, या कोई आपकी व्हाट्सअप चैट पढ़ रहा हो और आपको इसकी कोई खबर ही नहीं हो ?
मुझे पता है आपके मन में एक नहीं कई तरह के विचार आये होंगे कि आपकी व्हाट्सप्प चैट लीक होने से कई तरह के काण्ड हो सकते हैं जो आप बिलकुल भी नहीं चाहेंगे। और इतना तो आपको पता ही होगा की वाहट्सएप्प वेब के QR Code को अगर कोई आपके मोबाइल से स्कैन करेगा तो मोबाइल आपके पास होते हुए भी वह अपने कंप्यूटर में आपकी चाट को आसानी से देख पायेगा की अपने किसके साथ क्या बात कर रहे हो, साथ ही अगर को अपने मोबाइल में आपके नंबर से whatsapp  install  करता है और कुछ सेकंड के लिए आपका मोबाइल उसके पास रहा तो वह व्यक्ति OTP देखकर अपने मोबाइल पर आपके नंबर से वाहट्सएप्प इनस्टॉल कर सकता है, और अगर अपने  Whatsapp Data  Backup Enable कर रखा होगा तो वो आपकी पुरानी चैट भी आसानी से देख लेगा की अपने किसके साथ क्या क्या बात की थी। ऐसे में फिर आपकी secret chat उसको पता लग जाएगी और ऐसा काण्ड हो जायेगा जिसको आप कभी नहीं चाहेंगे।

व्हाट्सप्प टू स्टेप वेरिफिकेशन क्या है Whatsapp two step verifitation

तो दोस्तों इसी Weak Point को Secure  बनाने के लिए के लिए व्हाट्सअप ने नया फीचर Launch किया है जिसको हम Whatsapp two step verification कहते हैं। टू स्टेप वेरिफिकेशन फ़ीचर को Active करने पर यह आपसे एक 6 अंकों का PIN बनाने को कहता है। पिन बनाने के बाद आपको इसे याद रखना होगा। जब भी आप किसी दूसरे डिवाइस में अपना नंबर डालकर व्हाट्सएप इनस्टॉल या access करना चाहेंगे तो यह OTP तो मांगेगा ही साथ में वह 6 अंको का पिन भी मांगेगा जो अपने बनाया था, तभी आप दूसरे डिवाइस में आपका व्हाट्सएप एकाउंट फिर से चालू होगा। ऐसे में यदि कोई दूसरा व्यक्ति आपका OTP पता कर भी ले तभ भी वह आपका व्हाट्सप्प दूसरे डिवाइस में Acess या Install नहीं कर पायेगा। ऐसे में आपकी प्राइवेसी बनी रहेगी और आपकी अनुमति के बिना कोई भी आपकी चैट नहीं पढ़ पाएगा।

इसी प्रोसेस को Whatsapp Two Step Verification के नाम से जाना जाता है। User Security को ध्यान में रखते हुए अन्य सोशल मीडिया ने भी यह फीचर लांच कर दिया है। ताकि उनके यूजर की भी प्राइवेसी बनी रहे।

आप इन आर्टिकल को भी पढ़ सकते हैं –

Data Science क्या होता है।

Artificial Intelligence क्या होता है 

गूगल होम क्या है और यह कैसे काम करता है ?

NEFT, RTGS, IMPS, UPI में क्या फर्क है ?

Drone क्या है और यह कैसे काम करता है ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *