वेब होस्टिंग क्या है जानिये हिंदी | Web hosting in hindi

what is web hosting hindi वेब होस्टिंग क्या है

नमस्कार,
दोस्तों जैसे की हमने अपने पिछले आर्टिकल में आपको बताया था कि ।फ्री वेबसाइट या ब्लॉग कैसे बनाते हैं ,  और आज हम जानेंगे वेब होस्टिंग (web hosting ) के बारे में कि web hosting क्या है ? आजकल इन्टरनेट का ज़माना है तो वेबसाइट आपके बहुत काम आती है चाहे आप नॉलेज शेयर करना चाहते हो नेम फेम और पैसा कमाना चाहते हो या अपने बिज़नस को वेबसाइट के जरिये पूरी दुनिया के सामने लाना हो  जैसे बाकी लोग लेकर आ ही चुके हैं।

सितम्बर 2017 में आपने सुना होगा amazon.com के मालिक Jeffrey Preston Bezos दुनिया के सबसे व्यक्ति बन चुके हैं । यदि इन्टरनेट न होता उनकी amazon वेबसाइट नहीं होती तो वो आज उनका नाम दुनिया के अमीर आदमियों में शुमार नहीं होता । तो एक वेबसाइट इंसान को कहा से कहाँ पंहुचा सकती है Jeffrey Bezos उसके एक अच्छे उदहारण हैं।

और बाकि facebook के मालिक Mark  Zuckerberg  गूगल के मालिक और प्रेसिडेंट Larry Page,और Sergey Brin का नाम भी दुनिया के टॉप 10 अमीर आदमियो की लिस्ट में आता है ओर हमारे इंडिया के Flip kart, snap deal, वगेरा वगेरा भी अरबो का बिज़नस करते हैं  और जो लोग ब्लोगिंग करते हैं उनमे से आप आप अमित अगरवाल , हर्ष अगरवाल जैसे ब्लॉगर को देख सकते हैं जो लाखो में पैसा पैसा कम रहे हैं वो भी सिर्फ एक Intenet और वेबसाइट की मदद  से ।

तो खैर इस बात पर अगर हम गौर करे कि Internet और website इन्सान को कहाँ से कहाँ ली जा सकती है तो मेरे शब्द खत्म हो जायेंगे लेकिन बात अधूरी रह जाएगी । इसलिए टाइम न गंवाते हुए अपने पॉइंट वेब होस्टिंग पर आते हीन और जानतेहैं की web hosting क्या होती है  What is web hosting in hindi let’s start. ।

वेब होस्टिंग क्या है | what is web hosting 


वेब  होस्टिंग क्या है इसको जानने से पहले आपको थोडा बहुत इन्टरनेट का ज्ञान भी होना चाहिए ताकि आप इस बात को समझ सको कि इन्टरनेट भी एक दुनिया ही है।  जहाँ करोडो लोग रोजाना विजिट करते हैं और  जिनके पास अपनी वेबसाइट हैं तो आप ये समझ लो कि वह वेबसाइट इन्टरनेट पर उनका एक घर है।

जैसे मैं एक व्यक्ति हूँ जो इन्टरनेट पर आता जाता रहता हूँ और मेरी वेबसाइट का नाम है हिंदिश.कॉम तो एक तरह से यह वेबसाइट  मेरा घर है। मैं यहाँ कुछ भी कर सकता हूँ और आप यहाँ इस जानकरी को पढने के लिए आये हैं तो ये समझ लीजिये की आप मेरे मेहमान हैं।  तो इसी तरह आप समझ गए होंगे की इन्तेरेंट भी एक तरह की दुनिया ही हैं जहा आप फेसबुक पर लाखो लोगो से मिल सकते हैं वही आप जानकरी भी प्राप्त कर सकते हैं, विडियो देख सकते हैं, गाना सुन सकते हैं, अदि अदि, इन्टरनेट के बारे में अधिक पढने के लिये आप मेरी यह पोस्ट पढ़ सकते हैं – इन्टरनेट क्या है पूरी जानकारी  ।

तो अब बात करते हैं वेब होस्टिंग की तो वेब होस्टिंग दो चीजो से मिलकर बनी होती है।

  1. डोमेन नाम (domain name)
  2. वेब स्पेस (web space)

डोमेन नाम (domain name)


मैंने आपको दूकान का उदहारण इसलिए दिया ताकि आप यहाँ आसानी से समझ सको तो जैसे दुकान खोलते वक़्त हम अपनी दूकान का एक अच्छा सा नाम सोचते हैं। जिसको हम अपनि दूकान पर भी लिखते हैं और विसिटिंग कार्ड में भी लिखते हैं ताकि लोग हम तक आसानी से पह्च सके।  तो ठीक इसी तरह से  डोमेन नाम हमारी वेबसाइट का वेब एड्रेस होता है जिस से कोई भी व्यक्ति हमारी वेबसाइट तक पहुच सके।

जैसे मेरी website का डोमेन नाम  है hindish अब आप इसको याद रखोगे तो कभी भी कही से भी आप मेरी वेबसाइट पर आ जाओगे। और अपने दोस्तों को भी  hindish  पर भेज सकते हो । तो ये तो हुआ डोमेन नाम जो भी आप अपनी वेबसाइट का रखना चाहे लेकिन यह डोमेन नाम आपको एक 1st लेवल डोमेन के अंडर लेना होता है अब ये फर्स्ट लेवल डोमेन या 1st लेवल डोमेन क्या होता है इसके बारे में भी बता देता हूँ।

डोमेन लेवल (Domain level )

दरअसल किसी भी डोमेन में दो 3 Domain level होते है। जैसे आप मेरी वेबसाइट में  देख रहे होंगे जिसका वेब एड्रेस है hindish.com तो जो ये पीछे से .com लगा है  इसको 1st लेवल डोमेन कहते हैं ।

किसी वेबसाइट में आप आगे से www (world wide web) भी देखते होंगे उसको third level डोमेन कहते हैं।  यहाँ पर आप थर्ड लेवल डोमेन (TLD) www. को अपनी इच्छा के अनुसार चाहो तो लगा सकते हैं और चाहो तो हटा भी सकते है। और  सेकंड लेवल डोमेन (SLD) आपकी वेबसाइट का नाम होता है और फिर टॉप लेवल डोमेन (TLD) मैं .com, .org, .net, .edu. कुछ इस तरह के अन्य TLD भी मिलेंगे ।नीचे दी गयी इमेज से आप और भी अच्छे से समझ पाएंगे ।

वेब होस्टिंग क्या है | what is web hosting in hindi
डोमेन नाम लेवल

तो इन तीनो को मिलकर बनता है URL (Uniform Resource Locator) जिसको हम अपनी वेबसाइट का वेब एड्रेस भी कहते हैं । URL के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप यह पोस्ट पढ़ सकते हैं

URL क्या है पूरी जानकारी

ब्लॉग क्या है पूरी जानकारी | blog kya hai

अब बात करते हैं वेब स्पेस की  तो चलिए अब जानते हैं वेब स्पेस के बारे में ।

वेब स्पेस (web space)


मान लो यदि हम कोई दुकान खोलना चाह रहे हैं।  तो हम दुकान तभी खोल सकते हैं जब  हमारे पास कोई जगह हो और जगह नहीं होगी तो किराये पर लेनी पड़ेगी , और दूकान खोलनी है तो डेफिनेटली जगह की जरुरत तो पड़ेगी ही पड़ेगी।  जहा हम सामान रखेंगे और बेचेंगे अगर जगह ही नहीं रहेगी तो फिर सामान को कहा रखेंगे।  तो बिलकुल यही बात इन्टरनेट में  भी अप्लाई होती है।  अगर हमको अपनी वेबसाइट बनानी है और उसको इन्टरनेट पर लाइव करना है तो उसके लिए हमें जगह की जरूरत पड़ेगी जिसको हम Web space कहते हैं।

वेब स्पेस में आप अपनी फाइल, विडियो, इमेजेज,ऑडियो आदि इन सारी चीजो को हम वेब स्पेस में ही रखते हैं और यही से सारी इनफार्मेशन विजिटर तक पहुचती है।

वेब होस्टिंग कैसे कार्य करती है | How web hosting works


हम वेबसाइट इसलिए बनाते हैं ताकि हमारी बात या हमारी Information पूरी दुनिया तक पहुच सके तो उसके लिए सबसे पहले तो हमे वो इनफार्मेशन अपनी वेबसाइट पर अपलोड करनी होगी ।तो जैसे ही आप उस इनफार्मेशन, आर्टिकल, कोई फोटो, कोई विडियो, या कोई भी चीज अपलोड करते हैं तो वह सर्वर पर सेव हो जाती है । और हमेशा के लिए पूरी दुनिया के इन्टरनेट यूजरस  के लिए उपलब्ध हो जाती है जिसे कोई भी इन्टरनेट यूजर देख सकता है।

अब जैसे ही कोई इन्टरनेट यूजर जब कोई भी आपकी वेबसाइट तक पहुँचने के लिए उसका address या URL अपने browser में लिखता है तो यूजर का सबसे नजदीकी सर्वर उसकी रिक्वेस्ट को स्वीकार करता है   (जहा आपका डाटा पहले से ही सेव रखा होता है ) और फिर Server उस यूजर के  कंप्यूटर तक आपकी वेबसाइट फाइल्स की एक कॉपी पंहुचा देता है।  नीचे दी गयी इमेज से आप और भी अच्छे से समझ सकते हैं ।

वेब होस्टिंग कैसे काम करता है Web-hosting-ki-karya-pranali
वेब होस्टिंग कार्य प्रणाली

वेब होस्टिंग के प्रकार | Types of web hosting


वेब होस्टिंग मुख्यतः तीन प्रकार की होती है

1- Shared web hosting-


Shared web hosting के नाम से ही अपको पता चल गया होगा की इसमें वेब होस्टिंग को शेयर किया जाता है हजारो वेबसाइट की फाइल को एक ही सर्वर पर स्टोर कर के रखा जाता है। और सभी को शेयर करने वालो को एक ही सिस्टम का CPU RAM  मिलती है हाँ इसमें पंगा तब होता है जब कोई एक वेबसाइट फेमस हो गयी हो उसपर बहुत सा ट्रैफिक आ रहे हो तो उसके चक्कर में और वेबसाइट को पेजेज जल्दी लोड नहीं हो पाते ।  और उनकी स्पीड स्लो हो जाती है लेकिन लोग इसको इसलिए स्तेमाल करते हैं क्योकी यह एक sharing है इसलिए सस्ता पड जाता है।   जैसे हम किसी किराये के रूम पर अकेले रहते हैं तो जयदा पैसे देने पड़ते हैं।  लेकिन शेयर करके रहते हैं तो थोडा compromise करना पड़ता है लेकिन पैसे भी कम देने पड़ते हैं।  बिलकुल उसी तरह यह भी है, और इसकी अच्छी बात यह है की अगर आपकी वेबसाइट का ट्राफिक ज्यादा हो जाता है तो आप अपनी वेबसाइट की होस्टिंग change कर सकते हैं और VPS hosting खरीद सकते है।

2- VPS (Virtual Private Server) –


VPS hosting में होता यह है की यहाँ सभी चीजो पर आपका ही अधिकार रहता है । जैसे अभी तक आप रूम शेयर करके कम पैसे मे compromise करके रह रहे थे तो यहाँ आपका पूरा अपना रूम रहेगा।  जहा सब कुछ सिस्टम RAM Speed CPU सब अपका ही रहेगा और किसी की वेबसाइट से आपकी वेबसाइट पर कोई असर नहीं होगा यह सिर्फ आपका ही रहेगा ।

 3- Dedicated hosting –


Dedicated hosting   में पूरा Server  ही किसी एक वेबसाइट को dedicate कर दिया जाता है। जहा किसी और की वेबसाइट को जगह नहीं दी जाती।  उदहारण के लिए आप ऐसे समझ सकते हैं कि जैसे अभी तक आप रूम शेयर कर रहे थे, फिर traffic ज्यादा हुआ तो रूम  आपने खरीद लिया, फिर आप आपको रूम से ज्यादा जरूरत पड़ी तो आप आगे बढ़ेगे, और आपको पूरा मकान ही लेना पड़ेगा जहा सारे रूम आपके ही होंगे । तो ठीक इसी तरह यहाँ भी है शेयर होस्टिंग कम पड़ी तो VPS खरीद ली, और VPS कम पड़ी तो , फिर आपको Dedicated hosting खरीदनी पड़ेगी । लेकिन यह बहुत महंगे होते हैं इनकी जरूरत  बड़ी बड़ी high traffic वाली वेबसाइट को पड़ती है जी Facebook, Youtube,  Amazon, Flip Kart, snapdeal etc ।

अब बात आती है खरीदने की की वेब होस्टिंग (web hosting)  कहा से खरीदें।

वेब होस्टिंग कहा से खरीदें 


वैसे तो बहुत सारी कंपनिया हैं जो आपको होस्टिंग की सुविधा उपलब्ध करवाती हैं लेकिन जो सबसे बेस्ट वेब होस्टिंग सर्विस (best web hosting service) देती हैं मैं आपको उनका नाम नीचे बता देता हूँ  । आप जिस कंट्री को से टारगेट ट्रैफिक पाना चाहते हैं अपको उसी कंट्री के वेब होस्टिंग कंपनी से होस्टिंग खरीदनि चाहिए क्योंकि सर्वर जितना नजदीक रहेगा Website को access करने में भी उतना ही कम टाइम लगेगा ।

Hostgator
Godaddy
Bigrock
Bluehost

वेब होस्टिंग खरीदने से पहले आपको किन किन बातो का ध्यान रखना चाहिए 


जब भी हम कोई चीज खरीदते हैं तो उसमे कुछ खासियत ढूंडते हैं । अगर हमको अच्छा लगता है तो खरीद लेते हैं तो यहाँ भी आपको वेब होस्टिंग की कुछ खासियतो को ध्यान में रखना पड़ता है तभी आप एक best web hosting company से अपनी होस्टिंग खरीद पाएंगे तो आपको निन्मलिखित टॉपिक को ध्यान में रखना होता है ।

Storage –


कभी भी वेब होस्टिंग खरीदने से पहले स्टोरेज चेक कर लें जैसे आपके कंप्यूटर और मोबाइल में disc space होता है। उसी तरह वेब होस्टिंग में भी storage होता है की आप कितने GB तक फाइल को अपलोड कर सकते हैं । यहाँ आपको बहुत सारे प्लान ऐसे भी मिलेंगे जिसमे आपको unlimited storage मिलता है । तो अगर आपकी वेबसाइट पर बहुत सारी videos, imagaes अपलोड होनी है तो आप अनलिमिटेड वाला ही प्लान लें और अगर कम कंटेंट अपलोड होना है तो फिर आप अपनी जरूरत के अनुसार प्लान  चुन सकते हैं ।

Bandwidth –


bandwidth का मतलब होता है कि आपकी वेबसाइट को एक सेकंड में कितने लोग access कर सकते हैं । अगर आपकी वेबसाइट की bandwidth कम है और ट्रैफिक ज्यादा है तो आपकी वेबसाइट डाउन हो जाएगी। इसलिए अगर ज्यादा ट्राफिक वाली वेबसाइट बनानी है तो ज्यादा बैंडविड्थ वाला प्लान select करे या अनलिमिटेड बैंडविड्थ वाला प्लान सेलेक्ट करें।

Uptime –


वेसे तो जो अच्छी कम्न्पनिया हैं वो हेर वक़्त आपकी वेबसाइट को Up रखने की गारंटी देते हैं । पर फिर भी आपको देख लेन चाहिए की कोन सी कंपनी आपको ये फैसिलिटी दे रही है क्योंकि बहुत से रीज़न होते हैं की हमारी वेबसाइट डाउन हो जाती है और अगर बार बार डाउन रहे तो फिर ट्रैफिक कैसे आ पायेगा।  इस लिए आप भी यही चाहते होंगे की आपकी वेबसाइट ज्यादा से जादा टाइम Up (active) रहे मैंने अपनी वेब होस्टिंग Godaddy  से खरीदी है।  तो इसमें ज्यादा प्रॉब्लम नहीं आती और वेबसाइट 99% Up रहती है . हाँ कभी कभार महीने में 2-3 बार 20-25 सेकंड के लिए डाउन होती है बाकि 24*7 सही चलती है ।

Customer support –


जब आप किसी Best web hosting company से होस्टिंग खरीदेंगे तो पहले ही वेब पेज पर आपको कस्टमर केयर का नम्बर दिख जायेगा।  Godaddy में  आजतक मुझे कोई प्रॉब्लम तो नहीं हुई इसलिए मैं ये कह सकता हूँ की Godaddy की सर्विस अच्छी है । लेकिन ये मेल से  जादा सपोर्ट कॉल वाले कस्टमर का करते हैं । और Hostgator भी एक बेस्ट कंपनी है जो आपको हर तरह हर टाइम कस्टमर सपोर्ट करती है । तो यह थी जानकरी वेब होस्टिंग के बारे में  आशा करता हूँ की आपको वेब होस्टिंग (web hosting ) के बारे में पता चल गया होगा ।
आप यह भी पढ़ सकते हैं
ब्लॉग शुरू करने के लिए Top 20 Blogging ideas
नेटवर्क हब | Network Hub क्या है जाने हिन्दी में
http क्या है | what is http
वेब सर्वर क्या होता है|What is web server

About kailash

मेरा नाम कैलाश रावत है और मैं hindish.com का एडमिन व लेखक हूँ और इस ब्लॉग पर निरंतर हिन्दी में ,टेक,टिप्स,जीवनियाँ,रहस्य,व अन्य जानकारी वाली पोस्ट share करता रहता हूँ, मेरा मकसद यह है की जैसे बाकि भाषाए इन्टरनेट पर अपनी एक अलग पह्चान बना रही हैं तो फिर हम भी अपनी मात्र भाषा की इन्टरनेट की दुनियां में अलग पहचान बनाये न की hinglish में ।

Share post, share knowledge

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *