API क्या होता है जाने हिन्दी में

API –


API की फुल फॉर्म होती है Application Programming Interface । यह एक ऐसा program है जो एक software को दुसरे software से या एक website को दूसरी website से या एक एप्लीकेशन को दूसरी एप्लीकेशन के साथ जोड़ने के लिए use के जाती है। API बहुत सारे कमांड्स, फंक्शन्स, प्रोटोकॉल्स एवं ऑब्जेक्ट्स का कलेशन होता है जिनको use करके programmers software Create करते है एवं external सिस्टम से इंटरैक्ट करने के लिए Model design करते है । यह API की  एक सरल परिभाषा है। मगर इसको और अच्छे तरीके से समझने के लिए हमें उदाहरण का सहारा लेना पड़ेगा। तो ऐसे समझते हैं।

API in hindi
image credit- .programmableweb.com

आजकल हम देखते हैं कि जब हमें travel करना है तो हम online ticket book कर देते हैं चाहे वो flight हो या train का और इसके लिए यह जरुरी नहीं  कि हमें  ticket airlines या भारतीय रेल की ऑफिसियल वेबसाइट से ही बुक करना होगा हम चाहे तो अन्य किसी वेबसाइट जैसे  Make my trip, Paytm, yatra etc websites से भी आसानी से बुक करा सकते हैं। तो किसी airlines company  या train में कितनी seats खाली हैं कितनी बुक हो चुकी हैं। यह जानकारी तो सिर्फ railways या airways वालो के ही पास होगी। तो इनकी official Website से बाकी की वेबसाइट तक इस सारी Information को पहुँचाने Application Programming Interface (API) ही करता है।

यह भी पढ़ें :- Internet क्या है 

दूसरा अच्छा उदाहरण यह है की आपने देखा होगा की कई websites open करने के लिए हमको हमसे login करने के लिए कहा जाता है और नीचे दो option और भी होते हैं।

  • Login with google 
  • Login with facebook

क्योंकि आजकल बहुत सारी वेबसाइट हैं जहाँ हमें Login करने की जरुरत होती है। अगर हम उतनी सारी ID बनायेंगे तो password याद करना मुश्किल हो जायेगा तो गूगल और फेसबुक बहुत बड़ी और विश्वशनीय कम्पनियाँ हैं। इसलिए बाकि की छोटी वेबसाइट हमें इनकी ID से login होने की इज़ाज़त देते हैं और हम सिर्फ एक click करने ही लॉग इन कर जाते हैं। तो हमरी email id, user name और password की सारी इनफार्मेशन को google या facebook से इन कंपनीयों के लॉग इन पेज तक API ही provide करवाता है। और हम आसानी से हम लॉग इन कर जाते हैं।

यह भी पढ़ें :- Web browser क्या है 

दूसरे शब्दों में कहूँ तो एपीआई को हम  software to software, website to website, application to application, को आपस में जोड़ने वाली एक कड़ी (set of routines, protocols )  है।

Types of API –


  1. Hardware API
  2. Web Services API (SOAP, REST , XML-RPC and JSON-RPC)
  3. Source Code API
  4. Object Remoting API
  5. Class based API
  6. Library based API

Benifit of API-


  • सबसे पहला फायदा तो API का यह है की business partner का फायदा होता है क्योंकि पहले जहाँ ऑफिसियल वेबसाइट से ही टिकेट बुक करवाए जा सकते थे। अब बहत सारी वेबसाइट से टिकेट बुक करवाया जा सकता है। जिस से एयरलाइन्स रेलवेज मूवीज मालिको का भी फायदा और जिस वेबसाइट से बुक करवाया जाता है Commission से उसका भी फायदा। जैसे (Paytm, freecharge, make my trip yatra, etc) sites को होता है और कस्टमर को भी फायदा।

यह भी पढ़ें :-  Web server क्या होता है

  • दूसरा Benefit  यह है कि कोइ भी information  हमको वेबसाइट या सॉफ्टवेर में दुबारा से नहीं लिखनी होती है। न ही कोई अपडेट करना पड़ता है क्योंकि API automatic काम करता है। इसलिए मैं वेबसाइट पर जो भी डाटा होगा वह आटोमेटिक API वही डाटा बाकि वेबसाइट को भी प्रोवाइड करवाता है।
  • Time saving,,अगर एक बार आपने API से website को जोड लिया तो फिर आपको कुछ भी करने की जरुरत नहीं।
  • API को easily अपनी वेबसाइट या सॉफ्टवेर के साथ जोड़ा जा सकता है इसके लिए आपको ज्यादा कुछ करने की जरुरत नहीं बस business पार्टनर से contact करना होगा अगर वो मान जाता है तो API को programmer आसानी से connect कर देंगे।
Share post, share knowledge

One thought on “API क्या होता है जाने हिन्दी में”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *