स्वामी विवेकानंद जी के अनमोल विचार | Swami vivekanand quotes in hindi

स्वामी विवेकानंद जी के अनमोल विचार | Swami vivekanand quotes in hindi

समय समय पर हमारी भारत भूमि पर महान पुरुषो ने जन्म लिया है उनमे से एक हैं स्वामी विवेकानंद जी भारतीय पुनर्जागरण के महान सेवक स्वामी विवेकानंद का जन 12 जनवरी सन 1863 में कल्केज में एक सम्मानित परिवार में हुआ था l इनकी माता आध्यात्मिकता में पूरा विश्वास करती थी, लेकिन इनके पिता स्वतंत्र विचार के गौरवपूर्ण व्यक्ति थे l इनका पहला नाम नरेन्द्रनाथ था, शारीरिक दृष्टि से नरेंद्नाथ हष्ट-पुष्ट व् शौर्यवान थे l जो एक युवा संन्यासी के रूप में भारतीय संस्कृति की सुगंध विदेशों में बिखेरनें वाले स्वामी विवेकानंद साहित्य, दर्शन और इतिहास के प्रकाण्ड विद्वान थे स्वामी जी अपने जीवन का एक एक क्षण जनसेवा में लगाते थे और दूसरो को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करते थे सन 1881 में उनकी भेंट रामकृष्ण परमहंस से हुयी और वे उनके शिष्य बन गये | वे भी अपने गुरु की तरह माँ काली के भक्ति करने लगे दुनिया में भारतीय आध्यात्म का परचम फहराने के लिए 31 मई 1883 को विवेकानंद (Swami Vivekananda) अमेरिका गये और शिकागो में 11 सितम्बर को विश्व धर्म सम्मेलन में अपने उद्बोधन से सबका दिल जीत लिया उन्होने अपने कर्मो में वह जीवन जी कर दिखाया है जिसकी उन्होंने बाकी युवाओ को राह दिखाई थी पूरे जीवन में विवेकानंद जी के द्वारा  कही गयी कुछ बाते ऐसी हैं जिन्हें जानना आपके लिए उचित होगा तो आइये जानते हैं स्वामी विवेकानंद जी के अनमोल विचार | Swami vivekanand quotes in hindi ।

स्वामी विवेकानंद जी के अनमोल विचार | Swami vivekanand quotes in hindi –


स्वामी विवेकानंद जी के अनमोल विचार | Swami vivekanand quotes in hindi

उठो जागो और तब तक न रुको जब तक लक्ष्य न प्राप्त हो जाय।

जबतक आप खुद पर विश्वास नहीं करते तब तक आप भगवान पर भी विश्वास नहीं कर सकते।

उठो मेरे शेरो इस भ्रम को मिटा दो कि तुम निर्बल हो,
तुम एक अमर आत्मा हो,
स्वछन्द जीव हो,
धन्य हो,
सनातन हो,
तुम तत्व नहीं हो,
न ही शरीर हो,
तत्व तुम्हारा सेवक है, तुम तत्व के सेवक नहीं हो।

जिस तरह से विभिन्न श्रोतो से उत्पन्न धाराये अपना जल समुद्र में मिला देती है  उसी प्रकार मनुष्य द्वारा चुना हर मार्ग चाहे वह अच्छा हो या बुरा भगवान तक जाता है।

धन्य हैं वो लोग जिनके शरीर दूसरो की सेवा करने में नष्ट हो जाते हैं।

इस दुनिया में सभी भेद-भाव किसी स्तर के है न कि प्रकार  के क्योंकि एकता ही सभी चीजो का रहस्य है।

किसी की निंदा न करे अगर आप मदद के लिए हाथ बढा सकते हैं तो जरुर बढ़ाएं अगर नहीं बढ़ा सकते तो अपने हाथ जोडिये अपने भाइयो को आशीर्वाद दीजिये और उन्हें अपने मार्ग पर जाने दीजिये।

शारीरिक बौद्धिक और अध्यात्मिक रूप से जो कुछ भी कमजोर बनाता है, उसे जहर की तरह त्याग दो।

अगर धन दूसरो की भलाई करने में मदद करे तो इसका कुछ मूल्य है, अन्यथा यह सिर्फ बुराई का एक ढेर है और इस से जितनी जल्दी छुटकारा मिल जाए उतना बेहतर है।

यह भी पढ़ें – अब्राहम लिंकन के अनमोल विचार | Abraham lincoln quotes in hindi

हम वो हैं जो हमें हमारी सोच ने बनाया है इसलिए इस बात का ध्यान रखिये की आप क्या हैं शब्द गौण हैं, विचार रहते हैं,  वे दूर तक यात्रा करते हैं।

विश्व एक व्यायामशाला है जहां हम खुदको मजबूत बनाने के लिए आते हैं।

एक विचार लो और उस विचार को अपना जीवन बना लो उसके बारे में सोचो उसके सपने देखो उस विचार को जिओ अपने मस्तिस्क मांशपेशियो शरीर के हर हिस्से को उस विचार में डूब जाने दो और बाकी सभी विचारो को किनारे रख दो यही सफल होने का तरीका है।

वेदांत कोई पाप नहीं जानता वह केवल त्रुटी जानता है और वेदांत कहता है कि सबसे बड़ी त्रुटी यह कहना है कि तुम कमजोर हो, पापी हो, एक तुच्छ प्राणी हो , और तुम्हरे पास कोई शक्ति नहीं है, तुम ये नहीं कर सकते तुम वह नहीं कर सकते।

दिल और दिमाग के टकराव में दिल की सुनो।

किसी  दिन जब आपके सामने कोई समस्या ना आये आप सुनिश्चित हो सकते हो कि आप किसी गलत मार्ग पर चल रहे है।

स्वतंत्र होने का साहस करो जहाँ तक तुम्हरे विचार जाते हैं वहाँ तक जाने का साहस करो।

सबसे बड़ा धर्म अपने स्वभाव के प्रति सच्चा होना, स्वयं पर विश्वास करो।

यह भी पढ़ें – आचार्य चाणक्य के अनमोल विचार | Chanakya quotes thoughts in hindi

आकांक्षा, अज्ञानता, और असमानता यह सम्बन्ध की त्रिमूर्तियां है।

बस वही जीते है जो दूसरो के लिए जीते हैं।

जो हम बोते हैं वो हम काटते हैं हम स्वयं अपने भाग्य के विधाता है हवा बह रही है वो जहाज जिनके पाल खुले हैं इनसे टकराते हैं और अपनी दिशा में आगे बढ़ते हैं पर जिनके पाल बंधे है हवा को नहीं पकड़ पाते क्या यह हवा की गलती है हम खुद अपना भाग्य बनाते है।

एक समय में एक काम करो और उस वक़्त अपनी पूरी आत्मा उसमे डाल दो और बाकी सब कुछ भूल जाओ।

जो तुम सोचते हो वो हो जाओगे यदि तुम खुदको कमजोर सोचते हो तो कमजोर हो जाओगे, और यदि तुम खुदको मजबूत समझते हो तो मजबूत बन जाओगे।

शक्ति जीवन है, निर्बलता मृत्यु है, विस्तार जीवन है, संकुचन मृत्यु है, प्रेम जीवन है, द्वेष मृत्यु है।

कुछ सच्चे, ईमानदार और उर्जावान पुरुष और महिलाएं  जितना कोई भीड़ एक सदी में कर सकती है उस से अधिक एक वर्ष में कर लेते है।

खुदको कमजोर समझना सबसे बड़ा पाप  है।

हम जितना ज्यादा बाहर जाये और दूसरो का भला करे हमारा ह्रदय उतना ही शुद्ध होगा और परमात्मा उसमें बसेंगे।

यह भी पढ़ें – जबरदस्त प्रेरणात्मक वाक्य पार्ट -1| best Motivational quotes in hindi

भगवान की एक परम प्रिय के रूप में पूजा की जानी चाहिए इस या अगले जीवन की सभी चीजो से बढ़कर।

यदि स्वयं में विश्वाश करना और और अधिक विस्तार से पढ़ाया और अभ्यास कराया गया होता तो मुझे यकीन है कि बुराइयों और दुखो का एक बहुत बड़ा हिस्सा गायब हो गया होता।

भला हम भगवान को खोजने कहा जा सकते हैं, अगर हम उसे अपने ह्रदय और हर एक जीवित प्राणी में नहीं देख सकते।

सत्य को हज़ार तरीको से बताया जा सकता है फिर भी हर एक सत्य ही होगा।

सच्ची सफलता और आनंद का सबसे बबसे बड़ा सहस्य यह है, वह पुरुष या स्त्री जो बदले में कुछ नहीं मांगता पूर्ण रूप से निस्वार्थ व्यक्ति सबसे सफल है।

न खोजो ना बचो जो आता है ले लो।

किसी चीज से डरो मत तुम अद्भुद काम करोगे यह निर्भयता ही है जो क्षण भर में परम आनंद लाती है।

मनुष्य की सेवा करो भगवान की सेवा करो।

कुछ मत पूछो बदले में कुछ मत मांगो जो देना है वो दो वो तुम तक वापस आयेगा पर उसके बारे में अभी मत सोचो।

यह भी पढ़ें – जबरदस्त प्रेरणात्मक वाक्य पार्ट – 2 | Best motivational Quotes in hind

यह भगवान से प्रेम का बंधन वास्तव में ऐसा है जो आत्मा को बांधता नहीं है बल्कि प्रभावी ढंग से उसके सारे बंधन तोड़ देता है।

जब लोग तुम्हे गाली दें तो तुम उन्हें आशीर्वाद दो, सोचो तुम्हारे झूटे दंभ को बाहर निकलकर वो तुम्हारी कितनी मदद कर रहे है।

मस्तिस्क की शक्तियां सूर्य की किरणों के सामान है जब वह केन्द्रित होती हैं चमक उठती है।

जो अग्नि हमें गर्मी देती है हमें नष्ट भी कर सकती है यह अग्नि का दोष नहीं।

ब्रह्माण्ड की सारी शक्तियां पहले से ही हमारी हैं  वो हम ही हैं जो अपनी आँख पर हाथ रख लेते हैं और फिर रोते हैं कि कितना अन्धकार है।

तुम्हे अंदर से बाहर की तरफ विकसित होना है कोई उम्हे पढ़ा नहीं सकता कोई तुम्हे अध्यात्मिक नहीं बना सकता तुम्हारी आत्मा के अलावा कोई और गुरु नहीं है।

तो दोस्तों मुझे तो स्वामी विवेकानंद जी के अनमोल विचार | Swami vivekanand quotes in hindi को पढ़कर काफी ज्ञान मिला। और  मेरी सोच एक इन्सान की सोच की तरफ अग्रसर हुई, आशा करता   हूँ की इन्समे से स्वामी विवेकानंद जी का कोई न कोई  विचार ऐसा जरुर रहा होगा जिसने आपको अंदर तक छू लिया होगा। आपका हर सपना  पूरा हो और आपका हर काम पूर्ण हो यही मेरी कामना है, और मेरी शुभकामनाएँ आपके साथ है। ऐसी ही जानकारी युक्त पोस्ट, और प्रेरणादायक विचारो को हिन्दी में पढने के लिए हमारी वेबसाइट hindish.com को पढ़ते रहें ।

Share post, share knowledge

One thought on “स्वामी विवेकानंद जी के अनमोल विचार | Swami vivekanand quotes in hindi”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *