mirror server या mirror website क्या होती है

mirror website in hindi | मिरोर वेबसाइट

हिन्दिश वेबसाइट में आपका स्वागत है आज मैं आपको बताऊंगा कि मिरर सर्वर या मिरर वेबसाइट क्या होती है तो  चलिए सीखते हैं कुछ नया ।

मिरर वेबसाइट क्या होती है || what is mirror website


ये तो आपको पता ही होगा कि website क्या होती है जैसे आप अभी मेरी वेबसाइट hindish.com पर यह Article पढ़ रहे है तो hindish एक वेबसाइट है इसी तरह बहुत सारी वेबसाइट हैं कुछ कॉर्पोरेट वेबसाइट हैं, कुछ इनफार्मेशन शेयर करती हैं, कुछ इ-कॉमर्स वेबसाइट है तो कुछ Online work करने की है।

जैसे आजकल हम इन्टरनेट से songs, movies, software, games, डाउनलोड करते हैं तो हम तो आसानी से डाउनलोड कर देते हैं बिना कैसी दिक्कत के, लेकिन Server website और हमरे  बीच में क्या क्या प्रक्रिया हो रही है । यह हम नहीं जानते क्योंकि हमें सिर्फ डाउनलोड करना होता है बस , तो मैं आपको बता दूँ की, जब भी हम अपने Domain के लिए hosting खरीदते हैं तो होस्टिंग के अन्दर bandwidh भी आती है। जिसमें Host करने वाली कंपनी अपने प्लान के हिसाब से यह निर्धारित करती है की आपकी वेबसाइट पर एक बार में कितना डाटा ट्रान्सफर किया जायेगा ।

यह भी पढ़े : > network hub क्या होता है 

तो मान लीजिये सैमसंग की कम्पनी है की एक वेबसाइट है जिसपर एक फोन लांच होने वाला है और वह और दिन के दो बजे से आर्डर बुक करवाए जा सकते हैं। तो ऐसे में तो लाखो लोग तैयार बैठे होंगे की हम भी उस फ़ोन को बुक करेंगे। तो जैसे ही उतना ज्यादा ट्रैफिक उस वेबसाइट पर जायेगा तो तो साईट डाउन हो जाएगी। ऐसे में फिर यूजर को भी दिक्कत होगी और कंपनी को भी तो इस प्रॉब्लम से निपटने के लिए बनाये जाते हैं Mirror server या Mirror website बनायीं जाती हैं

क्योंकि माना उस सैमसंग वेबसाइट पर एक बार में फ़ोन आर्डर करने की लिमिट 100 लोगो की है  अगर 101वां यूजर जैसे ही आपकी वेबसाइट पर आयेगा वेसे ही उसे दुसरे Mirror website पर भेज दिया जायेगा जो same to same उसी सैमसंग की वेबसाइट की तरह होगी जिस पर आर्डर बुक हो रहे हैं यह भी उसे बिलकुल वही चीज मिलेगी क्योंकि यहाँ भी same वही डाटा है जो पहली वेबसाइट पर है बस रेप्लिका  बनाकर लोगो को बांट दिया जाता है और इस तरह से Website  पर आने वाले heavy traffic को  कंट्रोल किया  जाता है और website और user दोनों बिना किसी दिक्कत के आसानी से अपना काम करते हैं ।

Mirror server बढ़ता है आपके downloading speed 


बहुत बार ऐसा होता है की जब हम किसी सॉफ्टवेर को डाउनलोड करते हैं तो हमें सर्वर सेलेक्ट करने के लिए पूछा जाता है की select your server तो इस case में हमको इंडिया का सेवर select करना चाहिए उस से हमको अच्छी स्पीड मिलती है अगर वह सर्वर इंडिया में नहीं है तो अपनी नजदीकी कंट्री का सर्वर select कर सकते हैं ।

यह भी पढ़े > internet of things क्या है 

ऐसा नहीं है की आप दूर के सर्वर को सेलेक्ट करके download नहीं कर सकते । बिलकुल आप दूर देशो के सर्वर को select करके भी downloading कर सकते हैं लेकिन आपको उस से अच्छी स्पीड नहीं मिलेगी इसलिए नजदीकी सर्वर ही सेलेक्ट करे ताकि सर्वर पर लोड भी न पड़े और आपको स्पीड भी अच्छी मिले ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *