Microsoft Windows क्या है

Microsoft Windows क्या है

Microsoft Windows का पूरा नाम Microsoft World Wide Interactive Network Development For Office Work Solution है।  माइक्रोसॉफ्ट विंडोज पर्सनल कंप्यूटर के लिए माइक्रोसॉफ्ट द्वारा विकसित एक ऑपरेटिंग सिस्टम  है।  दुनिया के लगभग 90% कंप्यूटर में मिक्रॉफ्ट विंडो का ही स्तेमाल किया जाता है। और शायद आप विंडोज का  use भी कर रहे होंगे। आज हम इस लेख में जानेंगे की विंडोज क्या है (windows in hindi ) और इसे कौन सी कंपनी बनाती है | इसके अलावा , इस लेख में हम विंडोज से जुडी सभी महत्वपूर्ण  तथ्यों के बारे में जानेंगे और साथ ही जानेंगे इसके इतिहास के बारे में की यह कब कब प्रचलन में आया।

Microsoft Windows क्या है
Microsoft Windows wallpaper

Windows क्या है ( What is Windows in hindi )

माइक्रोसॉफ्ट विंडो माइक्रोसॉफ्ट कंपनी का एक प्रोडक्ट है जिसे विंडोज भी कहा जाता है। विंडोज माइक्रोसॉफ्ट द्वारा बनाया गया एक ऑपरेटिंग सिस्टम है जिसे सिस्टम सॉफ्टवेयर  कहा जाता है।  विंडोज एक ऑपरेटिंग सिस्टम है जो की एक बहुत ही popular ऑपरेटिंग  सिस्टम है। Windows को माइक्रोसॉफ्ट कंपनी ने बनाया था इस वजह से इस ऑपरेटिंग सिस्टम का नाम Microsoft Windows ही पड़ गया। वर्तमान में पूरे विश्व में सबसे कॉमन और ज्यादा प्रयोग किए जाने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम माइक्रोसॉफ्ट विंडोज ही है।  यह पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा बिकने वाला Operating System भी है, ऐसा मानना है कि दुनिया भर के 90% कंप्यूटर में माइक्रोसॉफ्ट विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम ही काम करता है, इसके अलावा बाकी के 10% लोग linux या Mac ऑपरेटिंग सिस्टम का उपयोग करते हैं। अब मैं आपको थोड़ा Operating System के बार में बता देता तभी आपको इसके बारे में विस्तृत जानकारी मिल पायेगी।

Operating System

छोटे रूप मे इसे OS कहते है, एक ऐसा कम्प्यूटर प्रोग्राम होता है, जो अन्य कम्प्यूटर प्रोग्रामों का संचालन करता है।  ऑपरेटिंग सिस्टम उपयोक्ता (Users) तथा कम्प्यूटर सिस्टम के बीच मध्यस्थ का कार्य करता है।  यह हमारे निर्देशो को कम्प्यूटर को समझाता है।  Operating System के द्वारा अन्य Software प्रोग्राम तथा Hardware का संचालन किया जाता है।  दूसरे शब्दों में कहें तो ऑपरेटिंग सिस्टम  (operating  system ) एक सॉफ्टवेयर होता है जिसके ऊपर ही सभी सॉफ्टवेयर run होते है , बिना ऑपरेटिंग सिस्टम के किसी भी कंप्यूटर या मोबाइल को चलाना  मुश्किल है। यह ग्राफिकल यूजर इंटरफेस (GUI), मल्टीटास्किंग, वर्चुअल मेमोरी की सुविधा देता है। माइक्रोसॉफ्ट ने बाजार में GUI की मांग को देखकर ही इस ऑपरेटिंग सिस्टम GUI को लॉन्च किया था जिसकी फुल फॉर्म Graphical User Interface है यह ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर में ग्राफिकल आइकन को दिखाने का काम करता है , हम कंप्यूटर में किसी भी आइकन को टेप करके उस एप्लिकेशन को चला सकते है । GUI वाले कुछ ऑपरेटिंग Windows , Mac OS , Android etc  हैं।

Windows  की कुछ विशेषताये ( Feature of Windows in hindi )

इस बात को तो अब हम जान की चुके हैं की माइक्रोसॉफ्ट ने इसको आसान बनाने के लिए GUI लॉन्च किया था जिसकी मदद से हम स्क्रीन पर आइकॉन देख सकते हैं। उस आइकॉन पर क्लिक करके हम उस सॉफ्टवेयर को ओपन कर सकते हैं। और वास्तव में यह हमारे काम को आसान बना देता है अगर आपको कोई फोल्डर ओपन करना है तो फोल्डर का आइकॉन पर क्लिक करके आप उसको ओपन कर सकते है इसके अलावा अगर अपने कोई सॉफ्टवेयर डाला है और आप उसको ओपन करना चाहते हैं तो simply  आप उस सॉफ्टवेयर के आइकॉन पर क्लिक करते हैं और वह सॉफ्टवेयर ओपन हो जाता है।

इसके अलावा विंडोज में विंडोज की विशेषता यह है इसमें दिए हुए कीबोर्ड के शॉर्टकट बटन जिनके द्वारा बड़े से बड़े काम जल्दी और आसनी से कर सकते है | जैसे, अगर किसी File या Text को Copy करना है तो सिम्पल आप Ctrl + C दबाएंगे अगर आपको past करना है तो Ctrl + v दबाएंगे और ऐसे ही कई अन्य Shortcut keys हैं जिनकी लिस्ट मैं आपको नीचे दे दूंगा।

अगर Windows के Version की बात करे तो Windows 7 इसका सबसे पॉपुलर Version रहा है और इस समय इसका लेटेस्ट Version Windows 10 है जिसे 2015 में लांच किया गया था। विंडोज का Windows 10 version भी काफी पॉपुलर है।

इसके अलावा, इसमें दिए हुए Command Prompt की सहायता से महत्वपूर्ण कामों को बड़ी आसानी से कर सकते है।

इसमें इंटरनेट को कनेक्ट करना भी बहुत आसान है आप अपने कंप्यूटर को किसी भी तरह से विंडो की मदद से एक कस्टमाइज कर सकते हैं इसकी मदद से आप कंप्यूटर में मीडिया प्लेयर इनस्टॉल कर सकते हैं जिस से आप  अपने कंप्यूटर में कोई भी म्यूजिक सुन सकते हैं वीडियो देख सकते हैं, कई तरह के फॉर्मेट की फोटो देख सकते हैं, यह सभी प्रकार के हार्डवेयर को जैस प्रिंटर, स्पीकर, etc सपोर्ट करता है।

Windows में आपको Recycle Bin का ऑप्शन मिलता है जिस से आप डिलीट की हुई फाइल पहल रीसायकल बिन में जाती है ताकि अगर अपने कोई फाइल गलती से डिलीट कर दी हो तो आप उसको 30

Windows shortcut keys –

माइक्रोसॉफ्ट विंडोज Shorotcut Keys

शॉटकट बटन से क्या होगा

Ctrl + X

सेलेक्ट किया गया पार्ट कट हो जायेगा

Ctrl + C (or Ctrl + Insert) सेलेक्ट किया गया आइटम कॉपी हो जायेगा
Ctrl + V (or Shift + Insert) सेलेक्ट किया गया आइटम पास्ट हो जायेगा
Ctrl + Z यदि अपने कुछ गलती कर दी तो इस से आप पहले की तरह (undo)  कर सकते हैं
Alt + Tab अपने जितनी भी एप्लीकेशन या फोल्डर ओपन कर रखी होंगी उनमे स्विच कर सकते हैं
Alt + F4 इस से आप किसी भी ओपन विंडो या एप्लीकेशन को क्लोज कर सकते हैं
Windows logo key  + L  इस से आपका कोप्म्पुटर लॉक हो जायेगा
Windows logo key  + D इस से आप अपने डेस्कटॉप को हाईड कर सकते हैं
F2 कसी फाइल को Rename कर सकते हैं
F3 इस से आप  File Explorer में किसी फाइल, फोल्डर को सर्च कर सकते हैं
F4 File Explorer में अड्रेस बार को डिस्प्ले करेगा
F5 किसी ओपन फोल्डर ब्राउज़र को रिफ्रेश करने के लिए
Alt + Enter selected item के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए
Alt + Spacebar एक्टिव विंडोज का मेनू ओपन करने का शॉटकट की
Alt + Left arrow पीछे जाने के लिए
Alt + Right arrow आगे जाने के लिए
Alt + Page Up पेज को ऊपर की तरफ मूव करने के लिए
Alt + Page Down पेज को नीचे की तरफ मूव करने के लिए
Ctrl + F4 Close the active document (in apps that are full-screen and let you have multiple documents open at the same time).
Ctrl + A सभी items, documents, folder,सेलेक्ट करने के लये
Ctrl + D (or Delete) selected item को डिलीट करने के लिए और  सिलेक्टेड आइटम को रीसायकल बिन में डालने के लिए
Ctrl + R (or F5) active window को refresh करने के लिए
Ctrl + Y किसी एक्शन को रीडू ( Redo ) करने के लिए
PrtScn इस से आप अपनी स्क्रीन का screenshot  ले सकते हैं

इसके अलावा और भी बहुत सारे शॉर्टकट की हैं जिनकी मदद से आप विंडो को भी फ़ास्ट चला सकते हैं। इनको आप microsoft की official वेबसाइट पर देख सकते हैं। तो आइये अब जान लेते हैं विंडोज के इतिहास के बारे में की यह आखिर अस्तित्वा में कैसे आया।

Microsoft Windows के प्रकार

सिंगल यूजर ऑपरेटिंग सिस्टम

Single-user ऑपरेटिंग सिस्टम में एक समय में केवल एक ही यूजर कार्य करता है इसलिए इसे single-user operating system कहते हैं।

मल्टी यूजर ऑपरेटिंग सिस्टम

मल्टी यूजर ऑपरेटिंग सिस्टम में एक समय में एक से अधिक यूजर्स काम कर सकते हैं  इस ऑपरेटिंग सिस्टम का उपयोगबड़ी कंपनियों में  किया जाता है।

मल्टीथ्रेडिंग ऑपरेटिंग सिस्टम

मल्टी थ्रेडिंग ऑपरेटिंग सिस्टम एक ही प्रोग्राम के कई पार्ट को चलाने की दक्षता उपलब्ध कराता है।

मल्टीटास्किंग ऑपरेटिंग सिस्टम

मल्टीटास्किंग ऑपरेटिंग सिस्टम में आप अलग-अलग प्रोग्राम को एक साथ Operate कर सकते हो।

मल्टिप्रोसेसिंग ऑपरेटिंग सिस्टम

मल्टी प्रोसेसिंग ऑपरेटिंग सिस्टम की खास विशेषता यह है कि यह एक प्रोग्राम को एक से अधिक सीपीयू पर ऑपरेट करने की सुविधा उपलब्ध कराता है।

विंडोज का इतिहास – History of Windows –

दोस्तों आपने बिल गेट का नाम तो सुना ही होगा जो माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के मालिक हैं और वे 1995 से 2017 तक विश्व के सबसे धनि व्यक्ति भी रहे हैं। बिल गेट ने 10 नवंबर 1983 को Windows का पहला वर्ज़न 1.0 जारी किया  था। इस Version के बाद 1987 में Windows 2.0 और 1990 में 3.0 लाँच किया गया। इसके बाद Windows के विभिन्न प्रकार के वर्ज़न लाँच किये गए जैसे Windows 95, Windows 98, Windows NT और Windows XP लाँच किया गया। इन सब वर्ज़न में Windows XP सबसे ज्यादा लोकप्रिय वर्ज़न रहा। Windows XP को माइक्रोसॉफ्ट ने अक्टूबर 2011 में लाँच किया था। यह इस्तेमाल करने में बहुत ही आसान था जो सभी तरह के हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के साथ कार्य करता था। Windows XP के बाद Windows 7 और Windows 10 सफल रहे। Windows 10 Windows का नया वर्ज़न है। जिसे माइक्रोसॉफ्ट के द्वारा 2015 में लाँच किया गया था। आइये एक एक टेबल की मदद से जानते हैं माइक्रोसॉफ्ट के पूरे इतिहास को आसान तरीके से।

1983 बिल गेट्स ने 10 नवंबर 1983 को माइक्रोसॉफ्ट Windows की घोषणा की।
1985 Microsoft Windows 1.0 को 20 नवंबर 1985 को पेश किया गया था, और शुरू में इसे $ 100.00 के लिए बेचा गया था
1987 Microsoft Windows 2.0 को 9 दिसंबर 1987 को रिलीज़ किया गया था, और शुरू में इसे $100.00 के लिए बेच दिया गया था। Microsoft Windows/386 या Windows 386 को 9 दिसंबर, 1987 को पेश किया गया था और शुरू में इसे $ 100.00 के लिए बेचा गया था।
1988 Microsoft Windows / 286 या Windows 286 जून 1988 में पेश किया गया है, और शुरूमें $100.00 के लिए बेचा जाता है।
1990 Microsoft Windows 3.0 को 22 मई 1990 को जारी किया गया था। Microsoft Windows 3.0 पूर्ण वर्जन की कीमत $ 149.95 थी और नवीनीकरण वर्जन की कीमत $ 79.95 थी
1991 सहकारी प्रणालियों को आईबीएम के साथ सहकारी रूप से विकसित नहीं करने के अपने फैसले केबाद, माइक्रोसॉफ्ट ने OS/2 का नाम बदलकर चिंडोज़ एनटी कर दिया है। मल्टीमीडिया के साथ माइक्रोसॉफ्ट Windows 3.0 या Windows 3.0 A को अक्टूबर 1991 मेंजारी किया गया था।
1992 Microsoft Windows 3.1 को अप्रैल 1992 में रिलीज़ किया गया था और रिलीज़ होने के पहले दो महीनों के भीतर इसकी दस लाख से अधिक प्रतियां बिक चुकी थी। अक्टूबर 1992 में वर्कग्रुप 3.1 के लिए माइक्रोसॉफ्ट Windows जारी किया गया था।
1993 Microsoft Windows NT 3.1 27 जुलाई, 1993 को जारी किया गया था। Microsoft Windows 3.11, Windows 3.1 का अपडेट 31 दिसंबर को जारी किया1993गया था।
1994 माइक्रोसॉफ्ट Windows फॉर वर्कग्रुप 3.11 फरवरी 1994 में जारी किया गया था। Microsoft Windows NJ 3.5 को 21 सितंबर, 1994 को जारी किया गया था।
1995 Microsoft Windows NT 3.51 को 30 मई, 1995 को जारी किया गया था। Microsoft Windows 95 को 24 अगस्त, 1995 को जारी किया गया था, और 4 दिनों के भीतर इसकी दस लाख से अधिक कॉपियां बेची गई। Microsoft Windows 95 सर्विस पैक्र 1 (4.00.950A) को 14 फरवरी, 1996 को जारीकिया गया था।
1996 Microsoft Windows NT 4.0 को 29 जुलाई, 1996 को रिलीज़ किया गया था। FAT32 और MIX समर्थन के साथ माइक्रोसॉफ्ट Windows 95 (4.00.950B) उर्फ OSR2को 24 अगस्त 1996 को जारी किया गया था। Microsoft Windows CE 1.0 को नवंबर 1996 में रिलीज़ किया गया था।
1997 Microsoft Windows CE 2.0 को नवंबर 1997 में जारी किया गया था।Microsoft Windows 95 (4.00.950C) उर्फ OSR2.5 26 नवंबर, 1997 को जारी किया ग1997या था।
1998 Microsoft Windows 98 को जून 1998 में रिलीज़ किया गया था। उसके बाद Microsoft Windows CE 2.1 को भी जुलाई 1998 में जारी किया गया था। अक्टूबर 1998 में, Microsoft ने घोषणा की कि भविष्य में Windows NT की रिलीज़ के लिएNT के प्रारंभिक अक्षर नहीं होंगे और अगला वर्जन Windows 2000 होगा।
1999 Microsoft Windows 98 SE (दूसरा वर्जन) 5 मई, 1999 को जारी किया गया था।Microsoft Windows CE 3.0 को 1999 में जारी किया गया था।
2000 CES में 4 जनवरी, 2000 को, बिल गेट्स ने घोषणा की कि Windows CE के नए वर्जन को Pocket PC कहा जाएगा। इसके बाद माइक्रोसॉफ्ट Windows 2000 को 17 फरवरी, 2000 को जारी किया गया था। Microsoft Windows ME (मिलेनियम) 19 जून 2000 को जारी किया गया था।
2001 Microsoft Windows XP को 25 अक्टूबर, 2001 को जारी किया गया था
2003 इटेनियम सिस्टम के लिए Microsoft Windows XP 64-चिट वर्जन (वर्जन 2002) 28 मार्च, 2003 को जारी किया गया था। Microsoft Windows Server 2003 को 28 मार्च 2003 को जारी किया गया था। इटेनियम 2 सिस्टम के लिए Microsoft Windows XP 64-बिट वर्जन (वर्जन 2003) 28 मार्च,2003 को जारी किया गया था। Microsoft Windows XP Media Center Version 2003 को 18 दिसंबर 2003 कोजारी किया गया था।
2004 Microsoft Windows XP Media Center वर्जन 2005 को 12 अक्टूबर 2004 को जारीकिया गया था।
2005 Microsoft Windows XP Professionalx64 वर्जन 24 अप्रैल 2005 को जारी किया गया था।2005 में माइक्रोसॉफ्ट ने अपने अगले ऑपरेटिंग सिस्टम की घोषणा की, कोड-नामित “लोन्गान” को 23जुलाई 2005 को Windows Vista नाम दिया गया।
2006 Microsoft ने Microsoft Windows Vista को 30 नवंबर 2006 को निगों को जारीकिया।
2007 Microsoft ने Microsoft Windows Vista और Office 2007 को आम जनता के लिए 30जनवरी 2007 को जारी किया
2008 Microsoft ने Microsoft Windows Server 2008 को 27 फरवरी 2008 को जनता केलिए रिलीज़ किया।
2009 Microsoft ने 22 अक्टूबर 2009 को Windows 7 जारी किया।
2012 Microsoft ने 4 सितंबर 2012 को Windows Server 2012 जारी किया। Microsoft ने 26 अक्टूबर 2012 को Windows 8 जारी किया।
2015 Microsoft ने 29 जुलाई 2015 को Windows 10 जारी किया।

Windows ( FAQ ) || विंडोज के बारे में पूजे जाने वाले कुछ आम सवाल 

Question 1. Windows 10 का trial version कितने दिनों तक चलता है ?
Answer:- अगर आप अपने लैपटॉप में विंडोज का Trial Version चलाएंगे तो वह केवल 90 दिनों तक ही वैलिड होगा तत्पश्चात आपको विंडो खरीदनी होगी।

Question 2.  क्या windows के बिना आप अपने कंप्यूटर को चला सकते हैं ?
Answer:- बिलकुल चला सकते हैं क्योंकि Windows एक ऑपरेटिंग सिस्टम है जिसको माइक्रोसॉफ्ट के द्वारा डेवेलोप किया गया है और ऐसे ही इनको ऑपरेटिंग सिस्टम मार्किट में हैं जैसे Linux, Raspbian PIXEL, Zorin OS, Ubuntu, CloudReady इनको इनस्टॉल करके भी आप अपने कम्प्यूटर चला सकते हैं बस समस्या यहाँ है की विंडोज को चलना बहुत ही आसान है और इसीलिए दुनिया के ज्यादातर लोग विंडोज का ही स्तेमाल करते  हैं।

Question 3. Windows 10 का बैकअप लेने के लिए आपकी Pan Drive में कितने स्टोरेज की जरुरत होती है ?
Answer:- जब आप विंडोज 10 का बैकअप लेते हैं तो आपको कम से कम 6 GB की पैन ड्राइव की आवश्यकता पड़ती है। इसलिए 8 GB स्टोरेज वाली पेन ड्राइव में ही बैकअप लें।

Question 4. क्या मैं non-windows device (जैसे Apple) में विंडो चला सकता हूँ ?
Answer:- जी हाँ बिलकुल आप non-windows device में भी विंडो चला सकते हैं आपको उनके लिए नीचे दिए गए लिंक से विंडो डाउनलोड करनी होगी

Question 5. क्या मैं एक ही समय में Window 10 और  window 7 का उपयोग कर सकत हूँ ?
Answer:- हाँ, आप एक ही समय में दोनों Windows version का उपयोग कर सकते हो लेकिन उसके लिए आपको Duel Booting का स्तेमाल करना होगा।

Question 6. मेरे कंप्यूटर में Windows 7 हैं और मैं Windows 10 डालना चाहता हूँ तो क्या करू ?
Answer:- इसके लिए आपको Windows Upgrade Installer का उपयोग करना होगा जिसमे आप Upgrade का विकल्प चुने जिस से आपकी विंडोज 7 विंडोज 10 में अपग्रेड हो जाएगी।


आशा करता हूँ की आपको Microsoft Windows के बारे में पूरी जानकारी मिली होगी। हमने विस्तृत ढंग से Microsoft Windows के सभी जानकारियों को इस आर्टिकल में समझाने का प्रयास किया है , फिर भी यदि आपके मन में कोई सवाल या doubt है तो आप नीचे कमैंट्स कर सकते हैं। ऐसी ही अन्य जानकारी आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके पढ़ सकते हैं।

NEFT, RTGS, IMPS, UPI में क्या फर्क है ?

Photoshop क्या है | What is Photoshop

Drone क्या है और यह कैसे काम करता है ?

अपने कंप्यूटर की स्क्रीन को कैसे रिकॉर्ड करें How to record your computer screen

मदर बोर्ड क्या है | What is mother board in hindi

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है पूरी जानकारी | What is Operating system in hindi 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *