जादुई चप्पल बेस्ट हिंदी कहानी | The Magical Slippers best hindi story

जादुई चप्पल | jadui chappal best hindi sotry for kids

आज हम आपको बतायेगे एक  जादुई चप्पल बेस्ट हिंदी कहानी –  बहुत समय पहले की बात है।  जापान के एक छोटे से शहर में दाई ची नाम  का एक छोटा सा लड़का रहता था।  वह बहुत ही चतुर व्यापारी था और अपने पिताजी के काम में बहुत मदद करता था, पर वह थोडा सा लालची भी था, और जरूरत से ज्यादा दुसरो से हर चीज ले लेता था ।

जादुई चप्पल | jadui chappal best hindi sotry for kids

एक दिन जब उसके माँ पाप दुसरे गाँव गए हुए हुए थे तो उसके मामा हुरोको उनके घर आये।  और दाई ची ने उनकी खूब सेवा की।  मामा ने घर से जाते हुए कहां :-

मुझे तुम पर बहुत बहुत गर्व है बेटा मैं तुमको तुम्हरी सेवा का इनाम देना चाहता हूँ।  और होरोको मामा ने दाई ची को जादुई चप्पल दिए, और कहा बेटा ये जो मैं तुम्हे दे रहा हूँ, यह एक जादुई चप्पल है । अगर तुम इसको संभालकर और ध्यान से रखोगे तो तुम बहुत धनवान बन जाओगे , दाई ची को मामा की बात पर यकीन नहीं हुआ और वह कहने लगा –

दाई ची:- क्या आप मेरा मजाक उड़ा  रहे हैं इस साधारण सी दिखने वाली चप्पल में क्या जादू हो सकता है।

तो इस बात पर मामा मुस्कुराने लगे और कहने लगे देखो दाई ची मैं तुम्हे अभी इस जादुई चप्पल से जादू कर के दिखता हूँ।  और मामा ने वह चप्पल पहन ली और एक बार कूदे जैसे ही वे कूदे, तो उनकी चप्पल में से एक सोने का सिक्का निकला।  और दाई ची  को अपनी आँखों पर विश्वाश नहीं हुआ और उसने सिक्का उठाते हुए कहा :- देखो मामा एक सोने का सिक्का😱, ये तो सचमें एक जादुई चप्पल है मामा एक बार और कूदिये न एक और सिक्का मिल जायेगा । 

इस कहानी को भी पढ़ें :- हीरा और मोती दो बैलो की कहानी । 

मामा ने इनकार कर दिया, और दाई ची को समझाने लगे कि नही बेटा मैंने तुमको बताया था की इस जादुई चप्पल को समझदारी से रखना  होगा, जब भी इन चप्पलो को पहनकर कूदते हैं तो हमें कम से कम 7 दिन तक नहीं कूदना चाहिए ।  क्योंकि यह जादुई चप्पल पहनकर एक बार कूदने से हमारा कद (height) थोडा सा कम हो जाता है।  दाई ची  ने मामा की बात मान ली और कहा

दाई ची :- मामा मुझे भी दो मै भी कूदता हूँ, और दाई ची जादुई चप्पल पहन कर कूद गया, और फिर एक और सोने का सिका निकला ।
फिर मामा ने दाई ची  को समझाते हुए कहा की अब तुम इन जादुई चप्पलो को कही संभालकर रख दो ।  क्योंकि अब तुम कूद गए हो अब 7 दिन तक नहीं कूद सकते।  और यह कहते हुए शाम को मामा अपने सफ़र पर निकल पड़े ।

इधर दाई ची जादुई चप्पल मिलने की ख़ुशी में पूरी रात सो न सका ।  और उसने आधी रात को सोच की जब मेरे मामी पापा घर आएंगे तो कुछ और सिक्को के साथ मैं उनको चौंका दूंगा ।  लम्बे होने के लिए तो मेरी पूरी की पूरी ज़िन्दगी पड़ी हुई है।  और दाई ची  ने जादुई चप्पल निकाली और पहनकर कूदना शुरू कर दिया, और एक के बाद एक सिक्के निकलने लग गए और देख्नते ही देखते सिक्को का ढेर लग गया ।

इस कहानी को भी पढ़ें :- एक बाघ और चार गायो की कहानी बेस्ट हिंदी स्टोरीज। 

अब थके हारे दाई ची ने सोचा की चलो अब काफी थक गए और सिक्के भी बहुत हो गए तो अब सो जाते हैं।  लेकिन जैसे ही उसने बिस्तर की तरफ देखा तो वह वहां तक पहुच  ही  नहीं पाया, उसके लिए बिस्तर बहुत बड़ा था क्योंकि वह एक चींटी की तरह छोटा सा हो गया था ।

दाई ची रोने लग गया । लेकिन अब तो कुछ भी नहीं किया जा सकता था।  दुसरे दिन उसके माँ बाप वापस घर आये तो उन्होंने सोने का ढेर देखा और वो चौंक😱 गए और फिर  दाई ची  को आवाज लगाने लगे –

दाई ची📢….

दाई ची📢………….

दाई ची📣………………..

पर उनको दाई ची फिर कभी  दिखाई ही नहीं दिया । ….

जादुई चप्पल बेस्ट हिंदी कहानी से सीख 


जैसे की आपने इस से पहले वाली  किसान और सांप की कहानी पढ़ी होगी, उससे  भी हमको यही सीख मिली थी की हमें ज्यादा लालच नहीं करना चाहिए ।  और आपने तो सुना ही होगा की ” लालच बुरी बात है “ हर चीज भगवान् ने इंसान के लिए ही बनायीं है, बस उसका सदुपयोग करना आना चाहिए ,और आज की इस कहानी से भी हमको यही सीख मिलती है कि ज्यादा लालच बुरी बात होती है ।

Share post, share knowledge

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *