हीरा और मोती दो बैलो की प्रेरणादायक कहानी | kids story in hindi

heera or moti दो बैलो की कहानी

नमस्कार स्वागत है आपका हिंदिश वेबसाइट में जहा आपको बहुत ही प्रेरणादायक kids story पढने के लिए मिलेंगी तो आज हम हीरा और मोती दोनों बैलो की कहानी पढ़ेंगे

हीरा और मोती दो बैलो की प्रेरणादायक कहानी | kids story 


झूरी के पास दो बैल थे हीरा और मोती दोनों में बहुत प्यार था वो दोनों नाद में एक साथ मुह डालते और एक साथ हटाते झूरी उनके चारे पानी का बड़ा ध्यान रखता था वो कभी भूलकर भी उनको कभी मरता पीटता नहीं था पशु भी प्यार का भूखा होता है वे भी झूरी को बहुत चाहते थे झूरी की पत्नी का भाई गया एक बार हीरा और मोती को कुछ दिन के लिए अपने गाँव ले जाने लगा बैलो को बड़ा आश्चर्य हुआ कि वो उन्हें क्यों और कहा लिए जाता है रस्ते में उन्होंने गया ने बहुत तंग किया इस पर गया ने उन्हें बहुत पीटा और घर पहुच कर उनके सामने रुखा सुखा भूसा डाल दिया लेकिन बैलो ने उसे सूंघा तक नहीं रात होने पर दोनों बैलो ने वहाँ से भाग जाने का फैसला किया , उन्होंने जोर लगाकर रस्सियाँ तोड़ डाली और वह से भाग निकले

heera or moti दो बैलो की कहानी heera or moti दो बैलो की कहानी

सुबह होने पर जब झूरी ने उन्हें अपने स्थान पर खड़े देखा तो वह सब कुछ समझ गया और प्यार से उनपर हाथ फेरने लगा परन्तु झूरी की पत्नी उन्हें देख कर जल भुन गयी उसने उनके सामने रुखा-सुखा भूसा दाल दिया फिर भी वे खुश थे अगले दिन गया फिर आया इस बार वे उन्हें गाडी में जोतकर ले गया रस्ते में मोती ने चाहा कि गाडी को गड्ढे में धकेल दे पर हीरा समझदार था उसने गाडी संभाल ली जैसे तैसे गया घर पंहुचा और उनसे बड़ा सख्त काम लेना शुरू किया वे उन्हें दिनभर हल में जोतता और उन्हें खूब मरता पीटता और घर लाकर उनको मोटे मोटे रस्सो से बंधकर उनके सामने रूखा सूखा भूसा डाल देता वे लाचार निगाहों से एक दुसरे को देखते रहते थे

गया के घर एक छोटी सी लड़की रहती थी वह बैलो की दुर्दशा देखती तो उसे बुरा लगता वह रात को उनको चुपके से रोटी खिलाती दोनों बैल उसके प्यार के सामने अपना मान और अपमान भूल जाते

एक दिन मोती रस्सी को चबाकर तोड़ने की कोशिश कर रहा था वह लड़की आई और उसने दोनों बैलो को खोल दिया दोनों वहां से भाग निकले थोड़ी देर बाद जब गया को पता चला तो वह भी उनके पीछे दौड़ा पर उनको पकड़ न सका

अब हीरा और मोती आज़ाद थे रस्ते में उनको एक सांड मिला वो उनकी और लपका तो हीरा मोती के होश उड़ गए भागना बेकार था इसलिए दोनों ने साहस से काम लिया सांड ने आकर हीरे पर वार किया तो मोती ने उसे पीछे से सींघो से चोट की सांड घबराया वो किसी एक को तो बुरी तरह मार सकता था पर यहाँ तो दो थे मिलकर काम करने में बल है दोनों ने मिलकर सांड को भगा दिया मोती कुछ दूर उसके पीछे भी दौड़ा पर हीरा ने मोती को रोक दिया दोनों अब बड़े खुश थे और आगे चलकर उनको रस्ते मे एक मटर का खेत दिखाई दिया भूक तो लग ही रही थी हरी भरी मटर देखकर उनकी भूख और भी तेज हो गयी वे खेत में घुस गए और लगे मटर खाने

आलसी तोते Motivational kids story 

अभी पेट भरा भी नहीं था की खेत के रखवालो ने उन्हें देख लिया और उन्हें पशुओ के कैदखाने में बंद कर दिया दोनों ने देखा की वहां तो और भी जानवर कैद हो रखे हैं भैंस, घोड़े, गधे, बकरियां, सबके सब कमजोर और दुबले पतले वहां किसी के लिए न चारा था और न पानी का इसपर हीरा मोती ने आपस में सोचा की अगर हम ज्यादा दिन यहाँ रहेंगे तो हमारा भी यही हाल होगा, अगर दीवार तोड़ दी जाए तो यहाँ से बाहर निकल जा सकता है

दोनों ने अपने सींघो से दीवार को दोड़ने की कोशिश की थोड़े से ही प्रयास से थोड़ी सी दीवार टूट गयी उसका उनका उत्साह बढा और उन्होने और दीवार दोड़ने की कोशिश की तो दीवार टूट गयी दीवार टूट जाने के बाद सबसे पहले तो घोड़े वह से भागे फिर भैंसे और फिर बकरियां मोती ने गधो को भी  सींघ मार मार कर भगा दिया मोती ने हीरे से भी भागने के लिए कहा लेकिन हीरे ने मना कर दिया और मोती मन मार कर रह गया

सुबह सब वहाँ के मालिक ने देखा की सब जानवर भाग गए और हीरा मोती ही वह खड़े हैं तो उसने उनको बेचने के लिए बोली लगानी शुरू कर दी और सबसे ऊँची बोली लगाने वाले  एक व्यापारी को बेच दिया वह दोनों को लेकर अपने गाँव की ओर चला

मार खाते खाते और भूक सहते सहते हीरा मोती बहुत कमजोर हो गए थे उनकी हड्डियाँ भी निकल आई थी प्यास से व्याकुल बैलों में कुछ भी दम बाकी नहीं रहा था वे चुपचाप व्यापारी के साथ चलने लगे रास्ता  उन्हें जाना पहचाना लगा तो उनमें नजाने कहा से दम आ गया वे दोनों तेजी से भागे आगे-आगे दोनों बैल पीछे-पीछे व्यापारी पर जबतक वे उनको पकडे तब तक वे अपने  घर झूरी के पास पहुँच चुके थे बैलो को देखकर झुरी बहुत खुश हुआ वह उनसे लिपट गया और इतने में व्यापारी भी वहाँ आ पंहुचा और उनको मांगने लगा

मोती ने आँख दिखाना शुरू किया और व्यापारी पर झपटा व्यापारी जान बचाकर वह से निकला झूरी की पत्नी भी भीतर से दौड़ी दौड़ी आई उसने दोनों बैलो के माथे चूम लिए
तो आपने देखा की अगर हम साथ में मिक्लर चलते हैं तो हमें कितना बल मिलता है इसी तरह की kids story  पढने के लिए आते रहिये hindish.com पर और पढ़ें रहीये ऐसी ही best kids story  हिंदी में

One thought on “हीरा और मोती दो बैलो की प्रेरणादायक कहानी | kids story in hindi”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *