मूर्ख पंडित हिंदी नैतिक कहानी | Foolish pundit moral story for kids

एक मूर्ख  पंडित जंगल में एक पेड़ एक नीचे माँ दुर्गा की स्तुति कर रहा था उसकी इस स्तुति से खुश होकर माँ दुर्गा प्रकट हुई और पंडी से बोली ।

आंखे खोलो पंडित जी बोलो तुम्हे क्या चाहिए मैं तम्हे एक वरदान दे सकती हूँ कहो तुम्हे क्या चाहिए ।

पंडित में संजीवनी बूटी की इच्छा जताई और मा दुर्गा ने अपने हाथो संजीवनी बूटी प्रकट की और पंडित को देते हुए कहा कि तुम्हारी स्तुति से प्रसन्न होकर मैं तुम्हे यह संजीवनी बूटी दे रही हूँ तुम कसी भी तुम इस से किसी भी मरे हुए प्राणी को जिंदा कर सकते हो और माँ दुर्गा वहा से गयाब हो गयी ।

पंडित संजीवनी बूटी पाकर बहुत खुश था और घर जा रहा था लेकिन रस्ते में उसके मन में के बात आई की कही दुर्गा माँ के द्वारक दी गयी संजीवनी बूटी नकली तो नहीं है । हो सकता है वह ऐसे ही घास के पत्ते हों , मुझे कैसे पता चलेगा की यह असली संजीवनी बूटी है या नकली।

इस स्टोरी को भी पढ़ें :- हीरा और मोती दो बैलो की कहानी 

तो उसको रस्ते में एक मारा हुआ शेर मिला, मूर्ख पंडित ने सोचा मैं क्यों न इसी पर अजमा कर देख लूँ की यह संजीवनी असली है या नकली, वह शेर के पास गया और संजीवनी बूटी को हाथो में लिए मसलने लगा और शेरे के उपर डालने लगा।

तभी शेर धीर धीरे जिंदा होने लगता है ,और पंडित खुश हो जाता है, कि अरे वह यह तो असली की बूटी है। अब तो मैं मृत्यु पर विजय पा लूँगा और सारे गाँव वाले मेरी पूजा करेंगे। तब तक शेर खड़ा हुआ और जोर  से दहाड़ने लगा , पंडित  की चौंक गए और सोचने लगे।

“यह मैंने क्या किया शेर को जिंदा कर दिया 😨” ।

इस स्टोरी को भी पढ़ें :-  जादुई चप्पल और सोने के सिक्के best hindi moral story for kids

वह वहां से भागने लगा और शेर भी उसके पीछे पीछे भागने लग गया और शेर ने उस मुर्ख पंडित को मार डाला और अपना शिकार बना डाला।

मूर्ख पंडित हिंदी नैतिक कहानी से सीख 


तो अपने इस कहानी से यह सीखा कि हमको को भी काम बिना सोचे समझे नहीं करना चाहिए। किसी भी काम को करने से पहले हमें सोच विचार करना चाहिए की वह काम हमारे लिए सही है या गलत ।अगर बिना सोचे समझे कोई काम करेंगे वो वही हाल हो गा जो मूर्ख  पंडित का हुआ ।

इस स्टोरी को भी पढ़ें :- एक लोटा दूध हिंदी प्रेरणादायक कहानी 

Share post, share knowledge

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *