इलोन मस्क का जीवन परिचय | Elon musk biography in hindi

elon musk,

इलोन मस्क –


Elon musk का जन्म 28 जून 1971 को साउथ अफ्रीका के प्रीटिरिया में हुआ था। वे एक सफल Software engineer, Investor, और Rocket Scientist हैं। उनके पिता एक इंजिनियर और माँ एक मॉडल थी। जब इलोन 9 साल के थे तभी इनके माता पिता का तलाक हो गया। और वे अलग हो गए और तब से एलोन अपने पिता के साथ प्रेटोरिया में ही रहने लगे। उनके दो छोटे भाई बहन भी थे मगर एलोन के पिता  एलोन पर ही जायदा ध्यान देते थे। इलोन मस्क बचपन से ही किताबो से लगाव रखते थे। उन्होंने बचपन में हो वे किताबे पढ़ ली थी जिनको शायद कोई Collage students भी नहीं पढ़ते।

elon musk,
elon musk,

1984 में जब Elon musk 12 साल के थे तभी उन्होंने कुछ किताबो की मदद से programming सीखी और घर पर रखे computer पर ही एक game बना डाला। जिसका नाम था Blaster. साधारण सी programming language में बने हुए इस गेम को उन्होंने $500 में Online एक कंपनी को बेच दिया।और अपने स्कूल की फीस उन्होंने इसी पैसे से भरी । इलोन मस्क बचपन से ही सीधे स्वाभाव के थे इसलिए जिस स्कूल में वे पढ़ते थे वहाँ के कुछ बदमाश बच्चे उन्हें परेशान करते थे। और उनके साथ मारपीट करते थे । एक बार उन बदमाश बच्चो ने मिलकर elon  को इतना मारा की एलोन बेहोश हो गए। और इसके बाद उन्होंने एलोन को सीढियों से नीचे फेंक दिया फिर उनको हॉस्पिटल में एडमिट करवाया गया, जहां कई दिनों के बाद उनकी  यादाश्त वापस आई। इस घटना के बाद आज भी उन्हें आज भी सांस लेने में तकलीफ होती है। और इन्ही कशमकश हालात में उन्होंने साउथ अफ्रीका में ही अपनी high school की पढाई पूरी कर ली। और उसके बाद वे अपनी माँ के  पास Canada चले गए। और उनको वहीँ की नागरिकता मिल गयी।

यह भी पढ़ें :- स्टीफन हॉकिंग biography in hindi

Canada जाकर उन्होंने  University of Pennsylvania में दाखिला लिया और Physics यानि भौन्तिक विज्ञानं में बैचलर डिग्री प्राप्त की। तथा  Wharton School of Business से economics की डिग्री हासिल की। पैसो की कमी  पूरी करने के लिए ईलोन ने कनाडा में कई छोटी मोटी नौकरियां की और एक वक़्त पर तो उन्होंने नाले साफ़ करने की नौकरी भी की। उसके बाद साल 1995 में physics में Phd करने के लिए वे Canada से USA चले गए । Stanford university में admission ले लिया इलोन यहाँ Internet से रूबरू हुए और दो दिन में ही उन्होंने Phd से drop out ले लिया और अपना सारा ध्यान Internet  में लगा दिया।

Elon Musk ने बनायी Paypal-


इसी साल Elon musk और उनके भाई Kimbal Musk ने मिलकर अपने पिता की पैत्रक संपत्ति से मिली पैसो से एक online software company Zip2 बनायीं। जो online newspaper publisher industry के लिए city Guide का काम करती थी। बाद में इस कंपनी को इलोन और उनके भाई ने एक जानी मानी कंप्यूटर कंपनी Compaq को 307 million dollar में बेच दिया। जिस से एलोन को $22 million मिले वैसे तो एक आम आदमी अपनी ज़िन्दगी इतने पैसो में आराम से गुज़ार सकता है। मगर एलोन के दिमाग में कुछ और ही चल रहा था। इसलिए उन्होंने इन पैसो से एक वेबसाइट X.com बनायीं जो एक Online Payment website थी। जिसका नाम बदलकर Paypal रखा गया।

Paypal क्या है पढ़े पूरी जानकरी 

फिर जुलाई 2002 में ebay.com ने Paypal को $1.5 billion में खरीदा। जो भारतीय रुपयों के हिसाब से करीब 97.5 अरब रुपयों के बराबर होते हैं। और इसमें से Elon musk को $165 Million  मिले मगर वे इस से भी संतुष्ट नहीं हुए, payment इंडस्ट्री में तो वे Financial Revolution ले के आ गये थे । लेकिन इलोन कुछ बड़ा करने की सोच रहे थे वे humanities को धरती से बाहर बसाना  चाहते थे ।और एक revolution लाना चाहते थे । उन्होंने अपने दिमाग में कुछ ऐसा सोच रखा था जिसको सुनकर अक्सर लग कहते हैं कि ये पागल हो गया है। उन्होंने अपना यह सारा पैसा बहुत सी कंपनियों  में Invest कर दिया । और los angeles जाकर अपने दोस्तों के यहाँ rent पर रहने लगे। Investment  return में जो पैसा आया उस से उन्होने  2002 में एक कंपनी बनाइ SpaceX. तो आइये जानते हैं spaceX कंपनी के बारे में।

SpaceX –


Space Exploration Technologies Corp यानी SpaceX कंपनी एक Aerospace company है जिसकी स्थापना वर्ष 2002 में Elon musk ने की थी, 2002 से पहले दुनिया में कोई भी private Aerospace company नहीं थी। सभी सरकारी ही संस्था थी  मगर 2002 में एलोन मस्क ने यह साबित कर दिया की Private sector भी इस क्षेत्र में भागीदार हो सकते हैं और अपनी भागीदारी अच्छे से निभा सकते हैं। SpaceX का headquarter Hawthorne, California, United States में है। और आज इस कंपनी में 7000 Employee कार्यरत हैं।

पढ़ें रितेश अग्रवाल की संघर्ष की कहानी 0 से 600 करोड़ तक का सफ़र

SpaceX की स्थापना करने के पीछे इलोन मस्क का यह मकसद बिलकुल भी नहीं है कि वे कही नए ग्रह की खोज करेंगे, कही पाने खोजेंगे, कहीं वातावरण ढूँढेंगे, बल्कि उनका सिर्फ यह उद्देश्य है कि Space exploration, space travel को सबसे ज्यादा सस्ता बनाया जाय और इसी को motive लेते हुए उन्होंने SpaceX कंपनी की स्थापना की। वे इलोन मस्क मंगल ग्रह पर इंसानों की बस्ती बसाने की भी बात करते हैं। और आज तक उन्होंने कभी हार नहीं मानी अपने हर लक्ष्य को पाया है। उम्मीद है की वे इसमें भी सफल होंगे। एक महत्वपूर्ण बात मैं आपको बता देता हूँ जो आपके मन में भी चल रही होगी कि।

  • Elon musk एक software engineer थे तो फिर वे space scientist कैसे बन गए ?
  • इलोन मस्क बेशक एक software engineer थे। मगर जब जब उन्होंने SpaceX कम्पनी बनानी की सोची तो उन्होंने बहुत सारी किताबो को पढ़ा और हर उस बात को पढ़ा और समझा जो उनके लिए जरुरी थी जैसे राकेट कैसे बनते हैं। राकेट में कौन कौन से पार्ट लगे होते हैं rocket काम कैसे करता है। और भी बहुत सारा knowledge उन्होंने खुद से ही किताब पढ़कर हासिल किया।

ये जानने की बाद Rocket खरीदने के लिए वे रूस के पास गए ताकि वे रूस से राकेट खरीद सके और फिर उन राकेट को अपने तरीके से modify करके वे launch कर सके मगर रूस ने राकेट की बहुत ही ज्यादा कीमत बताई  जिसके बाद उन्होंने खुद ही की कम्पनी बनाने में ही फायदा समझा मगर इसके लिए उनको एक ऐसा scientist चाहिए था। जो Elon musk को इसके बारे में Practicle जानकारी दे पाए और उनकी कंपनी को आगे बढा पाए। ऐसे में 2002 में उनको मिले Tom Mueller और तब शुरू हुई SpacX.

Rocket List of SpaceX


शुरवाती दौर में इलोन मस्क के 3 लगातार राकेट प्रोजेक्ट Fail हुए और वे कंगाली की कगार पर  आ गये थे। मगर उन्होंने हार नहीं मानी और 4 वीं बार प्रयास किया और पिछले रॉकेट्स में की गयी गलतियों से सीख लेकर अपने चौथे प्रोजेक्ट में जुट गए। लोग उनको पागल सनकी तक कहने लगे। लेकिन जिनको कुछ बड़ा करना होता है उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता की दुनिया उन्हें क्या कहती है। Elon musk ने चौथी बार राकेट को लांच करने में कामयाबी हासिल कर ली। और उनकी इस सफलता से पूरी दुनिया की अंतरिक्ष एजेंसियों में खलबली मच गयी कि बिना जानकारी के कैसे एक लड़के ने इतनी जानकारी हासिल की। एलोन ने 3 बार Fail होने के बावजूद भी हिम्मत जुटाई और सफलता भी पायी। इलोन मस्क ने फिर एक के बाद एक कामयाबी हासिल की । आज उनकी SpaceX कंपनी एक सफ़ल Space transport company company बन चुकी है। जो low cost में NASA Space agency के Equipment, Cargo और satellites को orbit तक पहुंचाती है। पर आज स्पेस एक्स इस मुकाम पर पहुच गयी की वो  NASA और ISRO जैसी Space Agency को टक्कर देती है ।

क्यों इसरो और NASA से आगे है एलोन मस्क की SpaceX –


इसमें कोई संदेह नहीं है, कि भारत का अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ISRO बहुत अच्छा काम कर रहा है। और इसपर हमको गर्व है हाल ही में 104 satellites सफलतापूर्वक अंतरिक्ष में भेजकर ISRO ने पूरे भारत का नाम पूरी दुनिया में रौशन कर दिया । और मंगलयान से तो ISRO दुनिया की Top 5 Space agencies में   शामिल हो चुकी है। जबकि पहले नम्बर पर अमेरिका की space agency NASA है। मगर दुनिया की सारी एजेंसी अभी तक ऐसे राकेट बनाती हैं जो resuable नहीं होते, यानी उनको एक बार अंतरिक्ष में भेजा जाय तो वे दुबारा वापस नहीं आते । जबकि  Elon musk  की SpaceX के rocket पूरी तरह से दुबारा उपयोग किये जा सकते हैं। यानी वे अंतरिक्ष में जाकर वापस फिर धरती पर और धरती से फिर अंतरिक्ष में जाने लायक होते हैं।

यह भी पढ़ें :- ब्रह्माण्ड के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बाते

इलोन का कहना है की वे एक ऐसा satellites अंतरिक्ष में भेजना चाहते हैं जिस से सभी लोग को फ्री में फ़ास्ट इन्टरनेट चलाने को मिल सके।

Tesla –


उन्होंने 2004 में Tesla motor  company में Invest किया जो tesla coil पर आधारित electric car बना रही थी एलोन पहले ही यह जान चुके थे की का आने वाले टाइम में लोग इलेक्ट्रिक कार का ही ज्यादा उपयोग करंगे।  और वो हमारे पर्यावरण के लिए भी सही है। इसलिए वे उस कम्पनी के CEO बन गए।

Solar City –


यह अमेरिका की दूसरी सबसे बड़ी सोलर एनर्जी उत्पादन करने वाली कंपनी है।और हम इस बात को भली भांति जानते हैं कि solar energy आने वाले कल में हमारी एक अहम् जरुरत बनने वाली है। और भारत सर्कार भी Solar Power करने के लिए नए उद्यमियों को सब्सिडी दे रही है।और कुछ लोगो ने इस बिज़नस को स्टार्ट भी कर लिया है ।

Hyperloop Train –


Hyperloop एक पब्लिक ट्रांसपोर्टेशन प्रोजेक्ट है जिसपर अभी Elon musk काम कर रहे हैं। इसमें एक कैप्सूल की तरह दिखने वाली Tube के अंदर यात्रियों को बैठना होगा। और इसकी रफ्तार होगी 1000 Km/Hr। और जो जमीन पर अब तक का सबसे fast public transportation system बन जायेगा ।

Hyprloop Train के बारे में पूरी जाने 

Elon Musk के जीवन से प्रेरणा-


दोस्तों अब तो आप भी मानते ही होंगे की जीरो से हीरो तक इलोन मस्क (Elon musk ) का यह सफ़र कैसे रहा । कई बार हम कोई काम सीखकर फिर दुबारा पछताते हैं कि यार मुझे तो दूसरा काम सीखना चाहिए था इसमें मेरा मन नहीं लग रहा है। मगर हम चाहे तो कुछ भी कर सकते हैं अगर हम खुद पर confidence रखे और आत्मविश्वास रखे तो कुछ भी असंभव नहीं है । इलोन मस्क भी software engineer से rocket scientist बने वो भी अपनी दम पर। बस आपको किस भी काम को करने के लिए लगन और स्मार्ट वर्क की जरुरत होती है। तो दोस्तों कैसा लगा आपको इलोन मस्क का जीवन परिचय | Elon musk biography in hindi में पढ़कर कमेन्ट बॉक्स में जरुर बताएं ।

Share post, share knowledge

6 thoughts on “इलोन मस्क का जीवन परिचय | Elon musk biography in hindi”

  1. India k logo m isse jada achha krne k power hai, pr ab knowledge sirf english m h hai to yhi chutiye progress krte hai kyuki wo inka mother toungue hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *