दुनिया के 10 सबसे बड़े आतंकी संगठन

दुनिया के 10 सबसे बड़े आतंकी संगठन

अलकायदा :-

अलकायदा, एक समय था जिसके नाम से दुनिया का सर्वशक्तिशाली देश अमेरिका भी थर-थर कांपता था। अलकयदा को आतंकी संगठनों में सबसे बड़ा ब्रांड माना जाता है।  इस आतंकवादी संगठन की स्थापना 1988 में ओसामा बिन लादेन ने की थी। यह दुनिया का ऐसा आतंकवादी संगठन है, जिसने अपने लड़ाकुओं को हाईटेक और टेकसेवी बनाया। इसने अपने संगठन में शिक्षित और पेशेवर लोगों को शामिल किया, ताकि आतंकवाद का पूरी दुनिया में डंका बजे। अमेरिका में 9/11 का ऐतिहासिक हमला अलकायदा ने ओसामा बिन लादेन के नेतृत्व में किया था।  हालांकि, ओसामा के मारे जाने के बाद यह संगठन थोड़ा-सा कमज़ोर ज़रूर हुआ है, लेकिन वर्तमान में अल जवाहरी के नेतृत्व में फिर से मज़बूती से अपने कदम बढ़ा रहा है।

इस्लामिक स्टेट  इन सीरिया एंड इराक़ (ISIS):-

यह संगठन आईएसआईएस या ISIS के नाम से  जाना जाता है. 1999 में अबू बकर अल बगदादी द्वारा स्थापित आईएसआईएस संगठन सीरिया और इराक में काफ़ी सक्रिय है।  इस संगठन का मकसद न सिर्फ़ आतंक फैलाना है, बल्कि एशिया से लेकर पूरे यूरोप तक पहुंच कर पूरी दुनिया का इस्लामीकरण करना है और शरिया कानून लगाना है।  अबु बकर अल बगदादी का बनाया हुआ ये संगठन बहुत ही बर्बर और हिंसक है इस आतंकी संगठन में दुनियाभर के लड़ाके शामिल हैं।

तालिबान :-

इस पश्तो शब्द का मतलब है छात्र, इस आतंकी संगठन में उन चुनिंदा आतंकी की भर्ती की जाती है, जिसने किसी न किसी देश पर राज किया हो। इस संगठन ने 1996 से 2001 अफगानिस्तान की सत्ता भी संभाल है। इसकी स्थापना मुल्ला मोहम्मद उमर ने किया था। इस संगठन को अलकायदा का भी समर्थन होता है। 1994 में मुल्ला मोहम्मद उमर के नेतृत्व में इस संगठन का निर्माण हुआ। इस आतंकी संगठन का एकमात्र मकसद पूरे अफगानिस्तान में इस्लामी कानून को मनवाना था। इसमें यह संगठन काफी हद तक सफल भी रहा लेकिन अमेरिकी सैनिकों ने इस संगठन को पूरी तरह से तहस-नहस कर दिया। हालांकि यह संगठन फिर से अफगानिस्तान में पनपने के लिए हाथ-पैर मार रहा है।

 

लश्कर-ए-तैयबा :-

लश्कर ए  तैयबा आतंकी सगठन  स्थापना हाफिज मुहम्मद सईद ने की है। लश्कर ए  तैयबा को मुंबई हमले का जिम्मेदार माना जाता है बता दें कि लश्कर ए  तैयबा ने मुंबई में 2006 में आतंकी हमला किया था, जिसमे 166 निर्दोष लोगो की जान भी गयी थी। लश्कर ए  तैयबा का मुख्य उद्देश्य भारत में आतंकी गतिविधिया बढ़ाना है, जबकि पाकिस्तान में इस कुख्यात संगठन को मानवीय हितो की रक्षा करने वाले संगठनो के नाम से जाना जाता है। इस आतंकी संगठन को पाकिस्तानी आर्मी का भी सपोर्ट मिलता है और ये  जानते ही हैं की पाकिस्तान की सरकार को  वहां की आर्मी ही चलती है, तो इस तरह से इस कुख्यात संगठन को पाकिस्तानी सरकार भी सपोर्ट करती है।

बोको हराम :-

बोको हराम नाइजीरिया का एक आतंकी संगठन है जो अपनी बर्बरता के लिए जाना जाता है।  यह संगठन उस वक्त दुनिया की नजर में आया जब इसने नाइजीरिया के एक स्कूल से 250 छात्राओं को अगवा कर लिया था। अंग्रेजी में बोको हरम का अर्थ है ‘पश्चिमी शिक्षा पाप है’।  सामाजिक-आर्थिक मुद्दों से निपटने में विफल नाइजीरियाई सरकार की ज्यादा रोकटोक के बिना यह आतंकी संगठन अपना काम आसानी से अंजाम दे रहा है।  इस कुख्यात आतंकी संगठन को  isis का सपोर्ट मिलता है।

पाकिस्तानी तालिबान :-

पाकिस्तान के पेशावर में आर्मी स्कूल के 132 बच्चों सहित 148 लोगों की हत्या करने वाला आतंकवादी संगठन है। इसे बहुत खतरनाक संगठनों में गिना जाता है। यह आतंकी संगठन दुनिया के सबसे खतरनाक आतंकी संगठनों में से एक माना जाता है। पाकिस्तान में लड़कियों की शिक्षा की हिमायती मलाला यूसुफजयी को गोली से मारने के लिए इसी के आतंकियों को जिम्मेदार माना जाता है।

 अल-नुसरा फ्रंट :-

अल नुस्रा फ्रन्ट यानी जमात अल नुस्रा, अरबी भाषा में जिसका अर्थ है ‘अल-शाम के लोगों के समर्थन में मोर्चा’।  यह संगठन सीरिया और लेबनान में अल-कायदा की शाखा के तौर पर काम कर रहा है।  इस संगठन का प्रमुख अबु मौहम्मद अल जुलानी था, जो सीरियाई विद्रोहियों का मजबूत समर्थक होने के नाते बशर अल-असद शासन के खिलाफ सीरियाई नागरिक युद्ध में शामिल हुआ था। जानकारों के मुताबिक यह सीरिया में ‘एक सबसे प्रभावशाली विद्रोही बल’ था।  इस संगठन को संयुक्त राष्ट्र, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, न्यूजीलैंड, सऊदी अरब, यूनाइटेड किंगडम, संयुक्त राज्य अमेरिका और टर्की  अपने यहां आतंकवादी संगठन घोषित कर चुके हैं।

जेमाह इस्लामिया :-

जेमाह इस्लामिया दक्षिण पूर्व एशिया में में अलकायदा का ही भाग है। इस संगठन ने 2002 में इण्डोनेशिया के बाली राज्य में विस्फोट किया था। जिसकी वजह से 202 निर्दोष लोगो की जान गयी।  आपको बता दें की इंडोनेशिया के बाली राज्य में ज्यादातर जनसंख्या हिन्दू धर्म की है इसलिए इस कुख्यात संगठन ने उस राज्य में विस्फोट किया जैसे की सभी आतंकी संगठनो का उद्देश्य है पूरी दुनिया में इस्लाम फैलाना और बाकि धर्मो को मिटाना। जो कभी होने वाला नहीं।

हमास :-

इस आतंकी संगठन  1987 के जन आंदोलन के समय हुआ। था इस संगठन को फलीस्तीन क्षेत्र का सबसे प्रमुख आतंकी माना जाता। है इस  गुट की फलीस्तीनी इलाको में इजराइली सेना के साथ संघर्ष होता  रहता है। बाकि आतंकी संगठनो  की तरह भी इस संगठन का लक्ष्य फिलिस्तीन क्षेत्र में इस्लामिक स्टेट की स्थापना करना ही है ।

हिजबुल्लाह :-

ईरान और सीरिया समर्थित यह लेबनानी आतंकवादी संगठन 1982 के लेबनानी गृह युद्ध से उभरा।  इस संगठन को इसराइल और सुन्नी अरब देशों का सबसे बड़ा दुश्मन माना जाता है।  सीआईए की रिपोर्ट के मुताबिक यह संगठन की लेबनान की 41 फीसदी जनसंख्या का समर्थन हासिल होने का दावा करता है। यही नहीं हिजबुल्लाह देश में कई मानवीय और सामाजिक गतिविधियों में शामिल भी होता है।


यह भी पढ़ें –

दुनिया के 10 सबसे छोटे देश

इन 10 देशो के लोग खेलते हैं सबसे ज्यादा PUBG

दुनिया के 10 सबसे बड़े बैंक

ये हैं दुनियाँ के 10 सबसे अमीर नेता

पूरी दुनिया में कितने हिन्दू राष्ट्र हैं आइये जानते हैं

Share post, share knowledge

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *