डिजिटल सिग्नेचर क्या होता है | Digital Signature in hindi

डिजिटल सिग्नेचर | digital signature kya hai in hindiडिजिटल सिग्नेचर | digital signature kya hai in hindi

डिजिटल सिग्नेचर के बारे में अगर आप जानते हैं तो तो बहुत बढ़िया है लेकिन नहीं जानते तो यह लेख आपके लिए है।  जिसमे  मैं आपको बताऊंगा की डिजिटल सिग्नेचर क्या  होता है, इसे कहाँ यूज़  किया जाता है, और इसको कैसे बनाया जाता है।

तो इस बात से तो अप भली भांति परिचित हैं कि आजकल इन्टरनेट कितना आगे बढ़ चूका है और बढ़ता ही जा रहा है पर्यावरण को बचाने के लिए और कागजो को कम करने के लिए अब आधे से से ज्यादा चीजे ऑनलाइन हो गयी हैं । यानि डिजिटल हो हो गई हैं जिसके लिए हमें कागजो की कोई आवश्यकता नहीं है ।  और भारत सरकार ने भी अब डिजिटल चीजो को बढ़ावा देने के लिए Digital India के तहत बहुत साड़ी चीजे डिजिटल कर दी और डाक्यूमेंट्स को इन्टरनेट पर स्टोर और सुरक्षित रखने के लिए एक वेबसाइट Digital Locker  भी बनवाई है।   जिस पर हम अपना अकाउंट बनाकर हर दस्तावेज को रुरक्षित रख सकते हैं और फिर हमें अपने पास किसी भी दस्तावेज ले जाने की कोई आवश्यकता नहीं ।  हमें जहाँ भी वो वे दस्तावेज भेजने होंगे हम Digital locker से ही सेंड कर सकते हैं या फिर उनको लिंक भेज सकते हैं वह कंपनी आपके अकाउंट में आपके दस्तावेजो को देख लेगी और यह पूरी तरह से मान्य होंगे।  तो इस प्रकार आपको photocopy करने की भी कोई आवश्यकता नहीं आप कही  जॉब interview में भी जायेंगे तो आप बिना documents के जा सकते हैं क्योंकि जब आप अप्लाई करेंगे तभी कंपनी आलरेडी आपके डाक्यूमेंट्स  को डिजिटल लाकर  पर देख लेगी डिजिटल लाकर के बारे में आप अधिक जानने के लिए आप हमरी डिजिटल लाकर क्या है वाली पोस्ट पढ़ सकते हैं । और डिजिटल लाकर पर अकाउंट कैसे बनायें भी पढ़ सकते हैं  तो इस  प्रकार जब डाक्यूमेंट्स डिजिटल हो रहे हैं।  तो डिजिटल सिग्नेचर की जरूरत भी अवश्य होगी।  तो आइये जानते हैं अब की

डिजिटल सिग्नेचर क्या है  | What is Digital Signature 


डिजिटल सिग्नेचर या डिजिटल हस्ताक्षर एक ऐसी गणितीय तकनीक है जो इन्टरनेट पर ऑनलाइन भेजे गए किसी भी Message या  दस्तावेज की सत्यता को प्रमाणित करता है की यह दस्तावेज या यह Message किस व्यक्ति ने भेजा है तथा यह message बदला हुआ(altered) नही है। जिस तरह किसी पेपर पर हस्ताक्षर से हमें यह पता चलता है की पेपर पर लिखी गयी जानकारी हस्ताक्षर कर्ता के द्वारा पढ़ी गयी है और सही है ,ठीक उसी प्रकार डिजिटल हस्ताक्षर भी हमें यह भरोसा दिलाता है की भेजा गया डॉक्यूमेंट या Message उसी Sender ने भेजा है जिसे आप जानते हैं या जिस से अपने डॉक्यूमेंट माँगा था।

डिजिटल सिग्नेचर | digital signature kya hai in hindiडिजिटल सिग्नेचर | digital signature kya hai in hindi

डिजिटल हस्ताक्षर की सिक्योरिटी |  Digital signature security


Digital signature security बहुत ही जबरदस्त है भले पेपर में आप किसी के सिग्नेचर को कॉपी कर सकते हैं लेकिन डिजिटल सिग्नेचर को आप कॉपी नहीं कर सकते, जब भी आप डिजिटल हस्ताक्षर को  वक़्त आपको एक Private Key और एक PIN  मिलता है जब तक यह आपके पास है तब तक आपका डिजिटल सिग्नेचर सुरक्षित है ।  क्योंकि जब Private Key को Generate  किया जाता है तब इसको compliant cryptographic Token में रख दिया जाता है ,और cryptographic टोकन कभी यहाँ से बाहर नहीं आता इसलिए यह पेपर पर किया गए सिग्नेचर से बहुत ही ज्यादा secure है।

About kailash

मेरा नाम कैलाश रावत है और मैं hindish.com का एडमिन व लेखक हूँ और इस ब्लॉग पर निरंतर हिन्दी में ,टेक,टिप्स,जीवनियाँ,रहस्य,व अन्य जानकारी वाली पोस्ट share करता रहता हूँ, मेरा मकसद यह है की जैसे बाकि भाषाए इन्टरनेट पर अपनी एक अलग पह्चान बना रही हैं तो फिर हम भी अपनी मात्र भाषा की इन्टरनेट की दुनियां में अलग पहचान बनाये न की hinglish में ।

Share post, share knowledge

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *