Deep web, Dark web, Surface web क्या है पूरी जानकारी

surfacae web, deep web, dark web, in hindi

Internet एक ऐसी दुनिया बन चुकी  है जहाँ रोजाना करोड़ो लोग visit करते हैं। और वो भी बिना किसी दिक्कत के लेकिन क्या आपको पता है कि आप और हम अक्सर जिन website facebook twitter yoiutube google को यूज़ करते हैं वो वो internet का सिर्फ 5% ही है ।और हमको लगता है कि बाप रे  ! internet कितनी बड़ी चीज है रोज कितने सारे लोग इन्टरनेट चलाते हैं ।जबकि जिसको हम बड़ा कहते हैं वो इंटरनेट का सिर्फ 5% ही है और बाकि के 95% से शायद आप अभी अंजन होंगे इन्टरनेट क्या है और यह कैसे काम करता है इसके बारे में मैंने अपने पिछले लेख इन्टरनेट क्या है पूरी जानकारी में में बताया है आप उसको भी पढ़ सकते हैं । खैर अभी आगे बढ़ते हैं और Deep web, Dark web, Surface web क्या है पूरी जानकारी लेते हैं, तो क्या आपको पता है कि इन्टरनेट को भी 3 भागो में बांटा गया है।

इन्टरनेट के तीन भाग हैं-

  1. Surface web
  2. Deep web 
  3. Dark web 
surfacae web, deep web, dark web, in hindi
surfacae web, deep web, dark web,

ये तीनो इन्टरनेट के ही भाग है लेकिन तीनो के अलग अलग feature हैं अलग अलग कार्य हैं तो इन सब के बारे में विस्तार से जानते हैं तो सबसे पहले शुरू करते हैं surface web से ।

surface web क्या है पूरी जानकारी | surface web kya hai


surface web के बारे में मैं आपको सबसे पहले इसलिए बता रहा हूँ क्योंकि यह internet का एक ऐसा common पार्ट है जिसको कोई भी व्यक्ति आसानी से बिना किसी दिक्कत के access कर सकता है कोई भी कहीं से भी  चला सकता है। उदहारण के तौर पर मैंने अपनी वेबसाइट hindish.com पर यह आर्टिकल लिखा है और आप इसे आसानी से कही से भी पढ़ रहे हैं इसी तरह  Facebook,YouTube,google, twitter,yahoo, microsoft,  flipkart, आदि और भी जितनी websites को आप चलाते हैं ये सारी की सारी वेबसाइट surface web में ही आती हैं।

यानी हम किसी भी चीज के बारे में जब Google, yahoo, bing  पर seach करते हैं और उसके बारे में ये search engine हमें result show करवा देता है तो इसको हम कहते हैं surface web कहते हैं ।

surface web  के बारे में मैं आपको एक बात और बता दूँ कि surface web की सारी websites को आप dark web और deep web में access कर सकते हैं।लेकिन deep web और dark web की website को हम surface web में access नहीं कर सकते। शोधकर्ताओ के अनुसार इन्टरनेट पर हम जितना भी  sruface web को use करते हैं वो पुरे इन्टरनेट का सिर्फ 5% ही है आइये बढ़ते हैं आगे।

Deep web क्या है पूरी जानकरी | Deep web kya hai


किसी भी search engine चाहे वो google हो yahoo हो या bing हो सब कानून के दायरे में रहकर ही अपना काम करते हैं।गूगल भले ही बहुत बड़ी private company है और अपने पास अपने सारे अधिकार रखती  है । उसके बावजूद भी उसको जिस देश में अपना बिज़नस करना होगा तो उसको वहाँ की government जिन category की information को index करवाने के लिए कहेगी वह उतना ही index करेगा यानि उतना की content show करेगा। तो इसी प्रकार भारत में भी इटरनेट संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अंतर्गत आता है जिसमें google को कोई भी illegal website या illegal pages को दिखने की इजाजत नहीं है इसलिए कोई भी search engine illegal content या illegal  website को surface web में show नहीं करता। उसके लिए लोगो को  deep web की जरूरत पड़ती है जिसमे सारे secrets वेबसाइट होती हैं जो जिसमें ज्यादातर काम government employees, army, police, banks secrets, intelligence bureau, central bureau of investigation, जैसे संस्थाए ही करती है इनकी कोई भी secret information आपको google में सर्च करके नहीं मिलेगी ।इसीलिए इस तरह की website या pages को deep web में रखा गया है जिसको हम तभी access कर पाते हैं। जब हमारे पास इनका fix URL हो उदहारण के तौर पर कहू तो

जैसे मेरी वेबसाइट surface web में है तो आप google पर hindish लिखेंगे तो  मेरी वेबसाइट के बहुत सारे result show हो जाएगे और फिर आप किसी भी link पर click करके मेंरी website पर आ जायेंगे लेकिन वही दूसरी तरह हम deep web की बात करे

तो मान  लीजिये आपको cbisecret.com  पर जाना है तो अगर आप google में cbisecret लिखेंगे तो आपको कुछ नहीं मिलने वाला आपको direct bisecret.com पर ही जाना पड़ेगा क्योंकि यह इन्टरनेट पर होती तो हैं। लेकिन कोई भी search engine इनके pages या website को index नहीं करता बस कुछ specific लोगो के लिए ही access होती हैं  अब आती है बारी Dark web की ।

Dark web क्या है पूरी जानकारी | Dark web kya hai in hindi


अभी तक तो हमने surface web or deep web के बारे में पढ़ा जहाँ नियम कानून के according सब ठीक ठाक चलता है लेकिन  Dark web internet की दुनिया का सबसे खतरनाक पार्ट है जहाँ न कोई नियम होता है, न कोई कानून, कोई भी अपनी मर्जी से कुछ  भी कर सकता है। यहाँ आपको  Hacking, secret,murder, हथियारों की खरीद फरोख्त, drugs नशे को बेचना खरीदना, gambling जैसी गैरकानूनी चीजे होती है।

लेकिन Dark web को कोई भी व्यक्ति  normal browser से access नहीं कर सकता क्योंकि General public के लिए dark web की कोई भी जानकारी नहीं रखी जाती और न ही कोई search engine इसको रखने की इज़ाज़त देता है यदि google internet browser mozilla firefox जैसे सर्च इंजन इस तरह की गैरकानूनी content को accept करने लगे तो हम और आप जैसे लोगो के लिए internet की छवि ही बदल जाएगी। जो पूर्ण नियमानुसार चल रहा है वो सब गड़बड़ हो जायेगा ।और बहुत सी जगहों पर इन्टरनेट का मिसयूज होने लगेगा ।

इसलिए Dark web को  सामान्य browser से access नही किया जा सकता इसके लिए आपको एक स्पेशल browser का इस्तेमाल करना होगा जिसका नाम है Tor browser. इसको आप गूगल प्ले स्टोर से Orot नाम से सर्च करेगे तो आपको मिल जायेगा  लेकिन सिर्फ इसके इनस्टॉल करने से यह काम नहीं करेगा इसके साथ   इसका proxy server भी इंस्टाल करना होगा जिसका नाम है Orfox. ये भी आपको आसानी से google play store में मिल जायेगा ।

But I Don’t recommend you to use Tor browser क्योंकि ये आपके काम की चीज नहीं है। और खामखा जेल हो गयी तो फिर मज़े मजे के चक्कर में आपका पूरा ही मज़ा चला जायेया। इसलिए हमारे पास google है जहाँ बहुत सारी अच्छी जानकारी पड़ी हैं उनको पढ़ें और सही कामो में ही अपना समय बिताएं।

तो Deep web, Dark web, Surface web क्या है पूरी जानकारी किसी लगी शेयर और comment जरूर करना ।

आप इनको भी पढ़ सकते हैं->

 

Share post, share knowledge

32 thoughts on “Deep web, Dark web, Surface web क्या है पूरी जानकारी”

  1. Thanks gyan achchha hai.
    But,
    Surface web,dark web, deap web ke parts bhi honge aur unke bhi parts honge unke bhi post kijiye mujhe bhi

  2. Sir agar hmm logg 5% he use krte ha too 95 % use krne ke ejajat ussko kesnne de iska matlab ki jese ne net bnaya wohi ye kr rha ha reply jrur dejye ga

    1. नहीं आपका सवाल गलत है। इंटरनेट किसी एक आदमी का नहीं है
      सर्वर
      डाटा
      फाइबर केबल
      लोकल इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर
      सर्च इंजन
      वेब कंटेंट
      इंटरनेट सपोर्ट करने वाला डिवाइस
      इन सब से मिलकर बनता है इंटरनेट। इसमें किसी एक आदमी का हाथ नहीं है सबको मिलकर का करना होगा तभी सारी प्रक्रिया सही तरीके से चल पायेगी।
      अब जो आपका प्रश्न है 95% का तो देखो आजकल हर बैंक के पास इंटरनेट बैंकिंग है और उन्होंने सारे लोगो को अकाउंट और उनकी डिटेल को इंटरनेट पर डाला है लेकिन वह सर्च इंजिन उसको रिजल्ट में नहीं दिखता और न ही उसको रिजल्ट में आने की इज़ाज़त देता। इसी प्रकार से सभी देशो की जो ब्यूरो एजेन्सिया हैं। डिफेन्स मंत्रालय है उनका भी बहुत सारा डाटा एक दिन में आदान प्रदान होता है लेकिन वह सर्च इंजिन में नहीं आता और न ही उसको इज़ाज़त दी जाती है। और ऐसे ही नजाने कितनी सारी कंपनियां हैं जिनका बहुत सारा काम होता है इंटरनेट पर लेकिन नार्मल यूजर को उसको एक्सेस करने की इज़ाज़त नहीं दी जाती।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *