आचार्य चाणक्य के अनमोल विचार | Chanakya quotes thoughts in hindi

चाणक्य के अनमोल विचार | Chanakya quotes thoughts in hindi -

आचार्य चाणक्य जिनको हम कौटिल्य और विष्णुगुप्त के नाम से भी जानते हैं। वे भारत में पैदा हुए एक ऐसे विद्वान थे जिनकी नीतियों पर चलकर कई साम्राज्य स्थापित हुए। इसलिए उनको विश्व के सबसे बुद्धिमान व्यक्तियों में से एक माना जाता है। आज मैं आपके लिए लेकर आया हूँ आचार्य चाणक्य के अनमोल विचार | chanakya quotes thoughts in hindi जिनमे से कुछ वाक्य आपकी उलझनों को सुलझा सकते हैं, और कुछ वाक्य आपको आपके लक्ष्य की और बढ़ने में मदद करंगे तो बिना वक़्त गंवाए पढ़ते हैं।

आचार्य चाणक्य के अनमोल विचार | Chanakya quotes thoughts in hindi –


चाणक्य के अनमोल विचार list 1 – 

व्यक्ति अकेले पैदा होता है और अकेले मर जाता है,
और वह अपने अच्छे और बुरे कर्मो का फल खुद ही भुगतता है,
और वह अकेले ही नर्क और स्वर्ग जाता है।

भगवान मूर्तियों में नहीं है, आपका अनुभव आपका ईश्वर है आत्मा आपका मंदिर है।

अगर सांप जहरीला न हो तो भी उसको खुदको जहरीला दिखाना चाहिए।

इस बात को व्यक्त मत होने दीजिये की अपने क्या करने के लिए सोचा है,
बुद्धिमानी से इसे रहस्य बनाये रखिये, और इस काम को करने के लिए दृढ़ रहिये।

जब तक आपका शरीर स्वस्थ और नियंत्रण में है, अपनी आत्मा को बचाने की कोशिश कीजिये, जब मृत्यु सर पर आजाएगी तब आप क्या कर पाएंगे।

शिक्षा सबसे अच्छी मित्र है, एक शिक्षित व्यक्ति हर जगह सम्मान पाता है,
शिक्षा सौंदर्य और यौवन को परस्त कर  देती है।

जैसे ही भय आपके करीब आये उस पर आक्रमण कर उसे खत्म कर दीजिये।

कसी मुर्ख व्यक्ति के लिए किताबे उतनी ही उपयोगी हैं जितना की एक अंधे व्यक्ति के लिए आइना।

कोई भी व्यक्ति अपने कर्म से महान होता है अपने जन्म से नहीं।

वह जो हमारे चिंतन में रहता है हमारे करीब है भले ही वास्तविकता में वह हमसे  बहुत दूर क्यों न हो, लेकिन जो हमारे हृदय  में नहीं वह करीब होते  हुए भी बहुत  दूर है।

चाणक्य के अनमोल विचार list 2 – 


सबसे बड़ा गुरुमंत्र है, कभी भी कभी भी अपने राज दुसरो को मत बताएं ये आपको बर्बाद कर देगा।

कोई भी काम करने से पहले खुद से तीन प्रश्न कीजिये –

1- मैं ये कार्य क्यों कर रहा हूँ ?
2-इसके परिणाम क्या हो सकते हैं ?
3-और क्या मैं सफल होऊंगा ?
जब आपको इन तीनो प्रश्नों का संतोषजनक जवाब मिल जाये तभी आगे बढिए।

च सालो में अपने बच्चे को बड़े प्यार से रखिये अगले पांच साल उसे डांट डपट कर दखिये और जब वह 16 साल का हो जाये तब उसके साथ एक मित्र की तरह व्यवहार कीजिये, आपके वयस्क पुत्र ही आपके सबसे अच्छे मित्र हैं।

यह भी पढ़ें – सफल लोगों के जबरदस्त अनमोल विचार 

फूलों की सुगंध हवा की दिशा में फैलती है मगर एक अच्छे वक्ती की अच्छाई हर दिशा में फैलती है।

दुनिया की सबसे बड़ी शक्ति नौजवानी और औरत की सुन्दरता  है।

हमें भूत के बारे में पछतावा नहीं करना चाहिए न ही भविष्य के बारे में चिंतित होना चाहिए विवेकवान व्यक्ति हमेशा वर्तमान में जीते हैं।

हर मित्रता के पीछे कोई न कोई स्वार्थ होता है, ऐसी कोई मित्रता नहीं जिसके पीछे कोई स्वार्थ न हो, यह एक कड़वा सत्य है।

वैश्याएँ निर्धनों के साथ नहीं    रहती नागरिक कमजोर संगठन  समर्थन नहीं करते, और पक्षी उस पेड़ पर घोंसला नहीं बनाते जिस पर   फल न हों।

जब आप किसी काम को करे तो असफलता से न डरे और उस काम को ना छोड़े, जो ईमानदारी से काम करते हैं वो सबसे प्रसन्न होते है।

वह जो   अपने परिवार से अत्यधिक  जुड़ा हुआ है उसको भय  और चिंता का सामना करना पड़ता है  क्योंकि सभी दुखो की जड़ लगाव है,   इसलिए खुश   रहने के लिए लगाव छोड़ देना चाहिए।

चाणक्य के अनमोल विचार list 3 –


अपमानित होकर जीने से अच्छा मरना है मृत्यु तो बस एक क्षण का दुःख देती है मगर अपमान हर दिन में दुःख लाता है।

कभी भी उस से मित्रता मत  कीजिये जो  आपसे कम या ज्यादा प्रतिष्ठा के हों, ऐसी मित्रता कभी आपको ख़ुशी नहीं देगी।

सेवक को तब परखे  जब वह काम न कर रहा हो,
रिश्तेदार को किसी कठिनाई में,
मित्र को संकट में और पत्नी को घोर विपत्ति में ।

संतुलित दिमाग जैसी कोई सादगी नहीं है,
संतोष जैसा कोई सुख नहीं है,
लोभ जैसी कोई बीमारी नहीं है,
और दया जैसा कोई पुण्य नहीं है ।

यदि किसी का स्वभाव अच्छा है तो उसे किसी और गुण की क्या जरुरत है
और यदि व्यक्ति के पास   प्रसिद्धि है तो भला उसे और किसी श्रंगार की क्या आवश्यकता है ।

यह भी पढ़ें – सफल लोगों के जबरदस्त अनमोल विचार पार्ट- 2

वह जिसका ज्ञान बस किताबो तक सीमित है
और जिसका धन दूसरो के कब्जे में है
वह जरुरत पड़ने पर न अपना ज्ञान प्रयोग कर सकता है और न अपना धन ।

एक उत्कृष्ठ बात जो शेर से सीखी जा सकती है की व्यक्ति जो कुछ भी करना चाहता है   उसे पूरे दिल और जोरदार प्रयास के साथ करें ।

उस व्यक्ति के लिए पृथ्वी ही स्वर्ग है, जिसका पुत्र उसकी बात मानता हो। जिसकी पत्नी उसकी अच्छा के अनुरूप व्यव्हार करती है। जिसे अपने धन पर संतोष है।पुत्र वही है जो पिता का कहना मानें, पिता वही है जो पुत्रों का पालन-पोषण करे, और पत्नी वही है जिससे सुख प्राप्त हो।

जो लोग परमात्मा तक पहुंचना चाहते हैं उन्हें वाणी, मन और इन्द्रियों की पवित्रता और एक दयालू ह्रदय की आवश्यकता होती है ।

जो मेहनती हैं वे गरीब  नहीं हो सकते, हर दम भगवान को याद करते रहने वालो को  कभी भी पाप नहीं  छू सकता क्योंकि वह किसी भी बुरे कर्म करने से पहले भगवान से डरेगा और अच्छे कर्म ही करेगा ।

चाणक्य के अनमोल विचार पर मेरी राय –


दोस्तों यह आचार्य चाणक्य द्वारा कहे गए ऐसे अनमोल वचन और कथन है जो किसी की भी ज़िन्दगी को बदल सकते हैं आचार्य चाणक्य के अनमोल विचार हमारी पारिवारिक बातो से लेकर business से लेकर और self improvement तीनो क्षेत्र में हमें बहुत कुछ सिखाते हैं,
तो  आशा करता हूँ इनमे   कोई न कोई विचार तो आपको भी आपके सपने की तरफ बढ़ने में जरुर मदद करेगा ऐसी  अन्य जानकारी और ज्ञानवर्धक article पढने के लिए visit करते रहे hindish.com को ।

Share post, share knowledge

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *