CDN क्या होता है और इसके क्या फायदे हैं ?

CDN क्या होता है और इसके क्या फायदे हैं ?

CDN क्या है और इसके क्या फायदे हैं ? इसके बारे में कुछ लोगो को तो पता है लेकिन ज्यादातर लोग ऐसे हैं जो इसके बारे में नहीं जानते, इसीलिए आज के इस आर्टिकल में हम इस बात पर चर्चा करेंगे की CDN क्या होता है ? इसके क्या फायदे हैं और एक ब्लॉगर या वेबसाइट के लिए CDN का कितना महत्वपूर्ण होता है। जब Google और GT Metrix भी जब स्पीड चेक करते हैं तो वो रैंकिंग फैक्टर में इसे भी शामिल करते हैं, और उसी आधार पर आपकी वेबसाइट की रैंक बनती है। तो सबसे पहले हम यह जान लेते हैं कि CDN क्या होता है।

CDN क्या होता है। 

CDN का पूरा नाम Content Delivery Network होता है। जैसा कि इसके नाम से ही विदित है कि CDN एक कंटेंट डिलीवरी नेटवर्क होता है जिसका काम वेब ब्राउज़र में वेबसाइट कि Loading Speed बढ़ाना होता है। आमतौर पर कोई किसी भी वेबसाइट की होस्टिंग एक जगह स्थित होती है और इंटरनेट पर पूरी दुनिया से अगर कोई उस वेबसाइट को सर्च करता है तो पहले वह Request उस सर्वर तक जाएगी और फिर Visitor को Website Content दिखेगा। अब मान लो की अपने भारत से कोई keyword गूगल पर search किया। और वह keyword किसी ऐसी वेबसाइट पर मिलता है जिसकी Server Location New York में है, तो पहले तो भारत से Request New York जाएगी और फिर वहाँ से कंटेंट आपके Browser पर यानी भारत में दिखेगा तो सीधी सी बात है कि request को जाने और वहां से आपके ब्राउज़र पर कंटेंट को दिखाने में ज्यादा टाइम लगेगा, और नतीजा होगा वेबसाइट की Slow Loading और इस कारण गूगल भी आपकी वेबसाइट को अच्छे से रैंक नहीं कर पायेगा और विजिटर को भी आपकी वेबसाइट को close करके किसी दूसरी वेबसाइट पर चला जायेगा।

तो इस पूरी समस्या का समाधान CDN की मदद से किया गया है। क्योंकि CDN network of servers जिसके सर्वर दुनियाँ के कोने-कोने में फैले हुए हैं। और अगर आप अपनी वेबसाइट पर CDN का उपयोग करते हैं तो यह content replication technique से आपकी वेबसाइट की कॉपी अपने सारे servers पर स्टोर कर के रख देता है। और जैसे ही कोई व्यक्ति गूगल पर Keyword Search करता है तो वह request उस व्यक्ति के सबसे नजदीकी server पर जाएगी और वही से कंटेंट deliver हो जाएगा। जिस से request का आने जाने का travelling time बचेगा और वेबसाइट भी जल्दी से लोड हो जाएगी और जल्दी लोड होगी तो गूगल भी आपकी वेबसाइट को प्राथमिकता देगा और आपकी वेबसाइट को पहले दिखायेगा। इस से वेबसाइट की रैंकिंग भी सही होगी और Website पर आने वाले visitors भी भी बढ़  जायेंगे। और जो भी व्यक्ति वेबसाइट बनाता है वह यही चाहता है कि उसकी वेबसाइट पर ज्यादा से ज्यादा visitor आएं ताकि उसका कंटेंट ज्यादा से ज्यादा लोगो तक डिलीवर हो पाए। नीचे दी गयी इमेज CDN को समझने के लिए एक बहुत ही अच्छा उदहारण है। जिस से आप यह समझ सकते हैं की CDN कैसे काम करता है।

CDN क्या होता है और इसके क्या फायदे हैं ?

अगर आपकी भी कोई वेबसाइट है और आप CDN का उपयोग नहीं कर रहे हैं तो आप जरूर CDN का उपयोग करे इस से आपकी वेबसाइट की रैंकिंग तो बढ़ेगी ही साथ में विजिटर भी बढ़ेंगे। और विजिटर का बढ़ने का मतलब है कि अपने जिस उद्देश्य से website बनाइ है वह उद्देश्य पूरा होना।

CDN कितना पहत्वपूर्ण है और इसके क्या फायदे हैं ?

  • देखिये अगर आप अपनी Website पर CDN का उपयोग नहीं करते है। तो जिस पूरी दुनिया से कोई विजिटर आपकी वेबसाइट पर आना चाहेगा तो पहले Request आपके होस्टिंग सर्वर पर जाएगी और फिर विजिटर के ब्राउज़र पर लोड होगी। और जैसा कि मैंने आपको पहले बताया कि Server के दूर होने की वजह से Website देर से load होगी, जिसके कारण गूगल भी उस वेबसाइट को प्राथमिकता देगा जो fast load होती है, और उसी वेबसाइट की रैंक बेहतर होगी। इसलिए पहला फायदा तो यह है कि आपकी वेबसाइट को Speed Fast हो जाएगी जिस से आपकी Website Ranking और Visitor दोनों बढ़ेंगे।
  • दूसरा फायदा यह है कि Blogger ज्यादातर share hosting का उपयोग करते हैं क्योंकि पर्सनल होस्टिंग काफी महँगी होती है। Share hosting में एक ही server बहुत सारे लोगो की websites को होस्ट करता है इसलिए ज्यादा traffic होने पर आपकी वेबसाइट की bandwidth over हो जाएगी और वेबसाइट कुछ देर के लिए down हो जाएगी। पर वही अगर आप CDN का उपयोग करते हैं तो CDN में आपकी वेबसाइट की एक-एक Copy सभी servers पर रहती है। जिस से अलग अलग जगह से visitors को अलग अलग servers से content serve किया जायेगा और High Traffic आसानी से Manage हो जायेगा और कोई भी विजिटर आपकी वेबसाइट छोड़कर नहीं जायेगा। और आपकी Website Down भी नहीं होगी।
  • तीसरा फायदा यह होगा की आपकी वेबसाइट सब फ़ास्ट भी होगी और Website का Down Time भी कम रहेगा तो गूगल भी आपकी वेबसाइट को प्राथमिता ( Priority ) देगा और आपकी वेबसाइट को ऊपर लाने की कोशिश करेगा जिस से आपकी Alexa Ranking बढ़ जाएगी, और इस से आपकी वेबसाइट पर ज्यादा visitor आने लग जायेंगे।
  • चौथा फायदा यह है कि यदि आप अपनी वेबसाइट पर CDN का उपयोग करते हैं तो CDN आपके blog या वेबसाइट के security के लिए DDoS Mitigation, Security Certificate इत्यादि functions के द्वारा आपके blog या वेबसाइट का security को improve करता है मतलब की आपके security को मजबूत करता है जिसके कारण आपके blog के हैक होने के chances कम हो जाते हैं।
  • पांचवां फायदा यह है कि अगर आपका ब्लॉग है और आप उस ब्लॉग से Google AdSense से earning करते हो तो सीढ़ी से बात है कि ट्रैफिक और विजिटर बढ़ने से एअर्निंग भी बढ़ेगी, और अगर आपकी को e-commerce website है तो। आपका प्रोडक्ट ज्यादातर लोग देखेंगे और खरीदेंगे तो ऐसे में भी earning बढ़ जाएगी।
  • छटवां फायदा यह है कि आपकी bandwidth बढ़ जाएगी। एक जगह से दुसरे जगह पर wired और wireless network के द्वारा जितना data एक बार में transfer होगा उसकी capacity को Bandwidth कहा जाता है। होस्टिंग खरीदते समय आपको space के साथ limited bandwidth भी दी जाती है। बहुत सी Hosting कंपनी आपको 1 TB Bandwidth देती हैं, मान लीजिये Hosting खरीदते समय आपको 1 GB Bandwidth दिया गया है और किसी एक यूजर द्वारा आप के ब्लॉग में Content Load होने में 10 MB Bandwidth का प्रयोग हो जाता है। तब एक समय में आपकी वेबसाइट या ब्लॉग को को 100 से ज्यादा visitor Open नहीं कर पाएंगे और जब आपकी  Bandwidth खत्म हो जायेगी तो आपकी Website या ब्लॉग down हो जाएगी जिस से उस पर तब तक नए visitor नहीं आ पाएंगे, जब तक कुछ यूजर आपकी वेबसाइट को close न कर दें। CDN आपकी इस समस्या को भी हल कर देता  है।

Best CDN Provider – 

वैसे तो अभी बहुत सारी CDN Services उपलब्ध है, और आगे भी नयी नयी कंपनियां आती रहेगें लेकिन अभी जिन CDN कंपनियों ने मार्किट मे अपना दबदबा बना रखा है और जो Famous CDN companies हैं MaxCDNKeyCDNCloudflare ये बहुत ही पोपुलर है। आजकल जो नयी hosting provide करवाने वाली कम्पनिया हैं वो  built-in CDN के साथ आते हैं।यानी उनमे आपको होस्टिंग के साथ ही CDN मिलेगा। security के हिसाब से गूगल उस वेबसाइट को भी प्राथमिकता देता है जिसकी वेबसाइट में  SSL cirtifucate लगा होता है। अगर बजट कम होने के कारण अगर आपने अपनी साईट पर अभी तक SSL certificate इनस्टॉल नहीं किया है, तो आप Cloudflare के Free प्लान के साथ लाइफटाइम के लिए अपनी साईट पर SSL certificate install कर सकते है।

CDN ( FAQs ) –

Question 1 :- CDN की Full Form क्या होती है ?
Answer 1 :- CDN की Full Form – Content Delivery Network होती है।

Question 2 :- क्या CDN के साथ SSL certificate free मिलेगा ?
Answer 3 :- हाँ, कुछ कम्पनिया फ्री में देती हैं कुछ चार्ज लेती हैं लेकिन Cloudflare कंपनी आपको CDN के साथ SSL certificate free देती है।

Question 3 :- अपनी वेबसाइट में CDN का उपयोग कैसे करें ?
Answer 3 :- जिस कंपनी का आप CDN खरीद रहे हो उस कम्पनी से आपको दो Server Name मिलेंगे वो server name आपको अपनी होस्टिंग कम्पनी की वेबसाइट पर जाकर original होस्टिंग Name server के साथ replace कर देना है।

Question 3 :- CDN का उपयोग करने से आपकी वेबसाइट के डिज़ाइन पर क्या फर्क पड़ेगा ?
Answer 3 :- CDN का उपयोग करने से आपकी वेबसाइट के डिज़ाइन पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा सब कुछ वैसा ही रहगी बस वेबसाइट की स्पीड, रैंकिंग और ट्रैफिक बढ़ जायेगा।


तो आशा करता हूँ आपको यह ब्लॉग अच्छा लगा होगा ऐसे ही जानकारी से परिपूर्ण लेख पढ़ने के लिए आप पढ़ते रहें Hindish.com और नीचे दिये गये आर्टिकल भी आप पढ़ सकते हैं –

Cloud Storage क्या है

Dark Web क्या होता है ?

UPI क्या होता है समझिये सरल भाषा में 

Barcode क्या है और कैसे काम करता है ?

Google Drive क्या है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *