ये हैं भारत की 10 सबसे ऊँची बिल्डिंग

ये हैं भारत की 10 सबसे ऊँची बिल्डिंग

मानव विकास के इतिहास में आज इंसान बुलंदियों पर है। और इंसानो के बनाये गए Infrastructure भी बुलंदियों पर हैं। दुनिया में ऊँची-ऊँची इमारतें हैं जिनके बारे में शायद आप जानते ही होंगे लेकिन भारत की 10 सबसे ऊँची बिल्डिंग कौन-कौन हैं क्या आप जानते हैं। तो आइये जानते हैं भारत की 10 सबसे ऊँची गगनचुम्बी इमारतों के बारे में।

01- दी 42 –

ये हैं भारत की 10 सबसे ऊँची बिल्डिंग

द 42′ की लंबाई 268 मीटर है।  इस से पहले हमारे देश की सबसे ऊँची ईमारत मुंबई की इम्पीरियल बिल्डिंग हुआ करती थी, लेकिन अब सब ऊँची बिल्डिंग का ताज कोलकाता की The 42 Building के नाम है। इमारत के सामने बड़ा मैदान है और उससे आगे हुगली नदी बहती हुई दिखती है। ‘द 42’ पश्चिम बंगाल के कोलकाता में जवाहरलाल नेहरू रोड पर अब देश की सबसे ऊंची इमारत बन गयी है।

 

02- इंपीरियल बिल्डिंग

ये हैं भारत की 10 सबसे ऊँची बिल्डिंग

हालाँकि अब इस बिल्डिंग का सबसे ऊँची बिल्डिंग का ख़िताब कोलकाता की थे 42 बिल्डिंग ने छीन लिया है लेकिन यह ईमारत आज भी भारत की दूसरी सबसे ऊँची ईमारत है जो मुंबई में स्थित है। मशहूर आर्किटेक्‍ट हाफिज कांट्रेक्‍टर द्वारा इसका डिजाइन  तैयार किया गया था। इम्पीरियल बिल्डिंग आज मुंबई की सबसे ऊँची गगनचुम्बी ईमारत है और यह मुंबई की पहचान है, जो 2010 में बनकर तैयार हुई थी।  जिस जगह पर यह बिल्डिंग बनायी गई है वह पहले कच्ची बस्तियां हुआ करती थी, लेकिन बाद में यहां पर रहने वालों को नई जगह पर बसाया है। यह इमारत 256 मीटर (840 फीट) ऊंची है। इसके दो अलग-अलग टावर हैं जिनमें 60 फ्लोर हैं। यह शपूरजी पालोनजी और दिलीप ठाकर का ज्‍वाइंट वेंचर प्रोजेक्‍ट है।

03- आहूजा टावर

ये हैं भारत की 10 सबसे ऊँची बिल्डिंग

आहूजा टावर भी मुंबई में ही स्थित है और यह वर्तमान में भारत की तीसरी  सबसे ऊंची इमारत है। आहूजा टावर की ऊंचाई करीब 248.5 मीटर (815 फीट) है। इसमें 54 फ्लोर है और यह पूरी तरह से रेजिडेंशियल यानि रहने के लिए बनाया गया है। यह 2015 में बनकर तैयार हुआ था।

04- वन अविघना पार्क –

वन अविघना पार्क देश में चौथी सबसे ऊंची गगनचुम्बी इमारत है, जो कि साल 2017 में बनकर तैयार हुई थी। इसकी ऊंचाई 247 मीटर (810 फीट) है। 61 फ्लोर वाली यह बिल्डिंग पूरी तरह से रेजिडेंशियल हैं। यह मुंबई के लॉवर परेल में स्थित है। इस लग्‍जरी रेजिडेंशियल टावर को कई पुरुस्कारो से भी सम्मानित किया गया है।

05- लोधा अल्‍टामाउंट –

ये हैं भारत की 10 सबसे ऊँची बिल्डिंग

लोढ़ा अलगामाउंट देश की पांचवीं सबसे ऊंची इमारत है जिसका निर्माण कार्य साल 2018 में तैयार हुआ था । यह भी मुंबई में स्थित है। इस ईमारत की ऊंचाई करीब 240 मीटर (787 फीट) है। आपको बता दें कि अल्‍टामाउंट रोड की गिनती दुनिया की दसवीं सबसे महंगी सड़कों में की जाती है। 40 मंजिला इस इमारत के पास ही मुकेश अंबानी और कुमारमंगलम बिड़ला का भी घर है।

06- ऑरिस सेरेनिटी टावर –

ये हैं भारत की 10 सबसे ऊँची बिल्डिंग

ऑरिस सेरेनिटी टावर भी मुंबई में ही है और देश की छठी सबसे ऊंची इमारत है, जो साल 2018 में बनकर तैयार हुई थी। 69 मंजिला इस ईमारत की ऊंचाई 235 मीटर (771 फीट) है और यह बिल्डिंग पूरी तरह से रेजिडेंशियल बिल्डिंग है।

07- टू आईसीसी –

ये हैं भारत की 10 सबसे ऊँची बिल्डिंग

ज्यादातर ऊँची इमारते मुंबई में ही स्थिक है और Twoभी मुंबई में ही है, जो 223.2 मीटर (732 फीट) ऊंची है। यह इमारत 69 मंजिला है और 2018 में बनकर तैयार हुई थी।

08- वर्ल्‍ड क्रेस्‍ट –

ये हैं भारत की 10 सबसे ऊँची बिल्डिंग

Two ICC भी मुंबई में ही है, और देश की आठवीं सबसे ऊंची इमारत है।57 मंजिला इस बिल्डिंग की ऊंचाई  222.5 मीटर (730 फीट)  है। इस बिल्डिंग का काम 2011 में शुरू हुआ था और 2014 में पूरा हुआ था। लॉवर परेल में स्थित यह इमारत करीब सात हैक्‍टेयर क्षेत्र में बनी है। आपको बता दें की इस बिल्डिंग को बनाने में करीब 23.4 अरब रुपये की लागत आई थी।

09- लोधा वेनेजिया –

ये हैं भारत की 10 सबसे ऊँची बिल्डिंग

यह बिल्डिंग देश की नौवीं सबसे ऊंची इमारत है जो 213 मीटर (700 फीट) से अधिक ऊंची है। यह इमारत 68 मंजिला है और 2017 में बनकर तैयार हुई थी।

10- कोहिनूर स्क्वेर –

ये हैं भारत की 10 सबसे ऊँची बिल्डिंग

भी मुंबई में ही है और देश की दसवीं सबसे ऊंची इमारत है। यह करीब 197.5 मीटर (648 फीट) ऊंची है। इस बिल्डिंग में करीब 53 फ्लोर हैं और यह बिल्डिंग 2012 में बनकर तैयार हुई थी।


दुनिया की टॉप 10 सबसे ऊँची ईमारत

भारत के 10 ऐसे Projects जिनको देखकर आपको भी गर्व होगा

दुनिया के10 सबसे ज्यादा आबादी वाले शहर। 

ये हैं दुनिया के 10 सबसे गरीब देश

दुनिया की 10 सबसे अमीर महिलाएं (2021 )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *