क्या आप जानते हैं भारत की इन रहस्यमयी जगहों के बारे में

konka la pass mystery

भारत कई रहस्यमयी जगहों से भरा पड़ा है और उसमे से हम आपको ऐसी रहस्यमयी जगहों के बारे में बताते हैं जिनको आप खुद जाकर आज भी देख सखते हैं।

कोंगका ला पास,लद्दाख :

कोंगका ला दर्रा लद्दाख में 5,171 मीटर के उचाई पर स्थित भारत-चीन सीमा विवादित क्षेत्र है। यहाँ पर समय समय पर मिलिट्री और अन्य दोनों देशो मुल्को के लोगो द्वारा UFO देखे जाने की बात कही जाती है और कहा जाता है की यहाँ यहाँ अंतरिक्ष जीवो के आने जाने का स्थल है। यह भी कहा जाता है की इस दुर्गम इलाके में किसी यू ऍफ़ ओ को लैंड करना बहुत मुश्किल है क्योंकि यह बहुत ही बर्फीला और दुर्गम इलाका है जहाँ इंसानो द्वारा बनाये गए किसी ऐरोप्लेन,हेलीकाप्टर,या किसी अन्य एयरक्राफ्ट को लैंड करना संभव नहीं है फिर यहाँ आने जाने वाले UFO कहा से आते है और कैसे लैंड करते हैं ये एक रहस्य बना हुआ है। जून 2006 में गूगल सैटेलाइट मैप को भी एक ऐसी तस्वीर मिली जिन में UFO दिखाई दिए थे।अभी  दोनों देशो की सरकार और मिलिट्री इसका पता करने में जुटी हुई है।

भारत की रहस्यमयी जगहों के बारे में कोंका ला दर्रा
 कोंगका ला पास,लद्दाख

कोडिन्ही गांव,मलप्पुरम ,केरल :

मुस्लिम समुदाय के इस गांव को जुड़वों का गांव (twin village ) भी कहा जाता है । साल 2008 में सामने आयी इस सच्चाई ने दुनिया को चौका दिया जब पता चला की यहाँ 2000 लोगो में से 350 जुड़वा जोड़े हैं। यहाँ हर 1000 बच्चो में से 45 जोड़े जुड़वा हो जाते हैं जो आंकड़ा  दुनिया के दूसरे और एशिया के पहले स्थान  पर है। और जुड़वों के मामले में पहले स्थान पर है नईज़ीरिया का इग्बो-ओरा  जहा का औसत करीब 145 है।

जुद्वो का गाँव का रहस्य रहस्यमयी जगहों
 कोडिन्ही गांव,मलप्पुरम ,केरल

द्वारका नगरी,गुजरात :

आपने भगवान श्री कृष्ण की लीला और उनकी भूमि द्वारका के बारे में तो सुना ही होगा मगर क्या आपको पता है की यह नगरी गई तो गयी कहाँ ? कहाँ जाता है की भगवान श्रीकृष्ण के अमर होते वक़्त ही यह नगरी समुद्र में डूब गयी थी।

यह भी पढ़ें- चाँद से जुड़े कुछ रहस्य 

जिसके कुछ अवशेष समुद्र के नीचे अभी भी मौजूद हैं वैज्ञानिको और शोधकर्ताओं को कुछ कटे-छटे पत्थर तो मिले हैं मगर इस बात की पुस्टि कर पाना मुश्किल है की यह पत्थर उसी नगरी का अतीत हैं । यह भी भारत की रहस्यमयी जगहों में से एक है

द्वारका नगरी,गुजरात

जटिंग वेली,असम :

भारत के असम राज्य में जटिंग वेली जहाँ पर शाम  होते ही पक्षी आत्महत्या करने लगते है यहाँ के लोगो का मानना है की यहाँ भूत प्रेतो के कारण यह सब होता है और वैज्ञानिको का मानना है की तेज हवा के कारण पक्षी अपना सन्तुलन खोते देते हैं इसलिए यह होता है।

जटिंग वेली,असम

 

मैगनेटिक हिल लदाख :

लदाख अपनी खूबसूरती से तो दुनिया में जाना ही जाता है मगर रहस्यो से भी भरा पड़ा है। यहाँ पर समुद्र ताल से 11000 फ़ीट की ऊंचाई स्थित है चुम्बकीय पहाड़ (मैगनेटिक हिल ) जहा पर गाडी को खड़ा कर दिया जाये तो यह अपने आप जी 20 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से नीचे आने लगती है इसका रहस्य क्या है यह अभी तक कोई नहीं जनता।

मग्नेटिक हिल लाद्धाख | रहस्यमयी जगहों घटनाये
मैगनेटिक हिल लदाख

ज्वाल्पा मंदिर,हिमांचल :

धार्मिक स्थान के साथ साथ यह मंदिर रहस्यमयी भी है क्योंकि यहाँ भूमि के अंदर से नौ अलग अलग तरह की लौ वर्षो से जलती आ रही हैं। अंग्रेजो ने भी इनको  बुझाने की कोशिश की थी  मगर नाकाम रहे.

ज्वाल्पा मंदिर

भानगढ़ का किला,राजस्थान  :

भानगढ़ का किला 16 वी शताब्दी में राजा ,माधो सिंह ने बनवाया था। और वह की राजकुमारी रत्नावती इतनी खूबसूरत थी की हर कोई उनसे विवाह करना चाहता था। उसी राज्य में काले जादू का महारथी सिंघीया भी रहता था एक दिन उसकी नजर राजकुमारी पर पड़ी और वह तांत्रिक किसी भी तरह राजकुमारी को हासिल करना चाहता था ।
यह भी पढ़ें – पद्मनाभा स्वामी मंदिर का पूरा रहस्य

इसलिए उसने राजकुमारी पर कला जादू किया जो उल्टा सिंघीया पर ही  लग गया । और उसके कारण वह उसी वक़्त मर गया और मरते मरते श्राप दे गया की इस किले के सभी लोग जल्दी मर जायेंगे और उनकी आत्माये यही भटकती रहे । और उसके एक महीने बाद ही बगल वाले राज्य के साथ युद्ध में सरे किले के लोग मर गए तब से यहाँ कोई नहीं बस पाया।माना जाता है की उनकी मृत आत्माये अभी भी यही भटकती हैं। इसलिए भारत की रहस्यमयी जगहों में से भानगढ़ का किला भी एक है।

भानगढ़ का किला


कुलधरा गांव,राजस्थान :  

कुलधरा गांव एक रहस्यमयी घटना भी थी और  जगह भी , जैसलमेर से  महज 18 किलोमीटर की दूरी पर बसे इस गांव को आप आज भी राजस्थान में जाकर देख सकते हैं। पालीवाल के ब्राह्मणों से श्रापित इस गांव में आज भी कोई नहीं बस पाता है ।और यह बस बाहर से आने वाले लोगो के लिए एक पौराणिक पर्यटन स्थल बनकर रह गया है।

कुलधरा गांव

यह भी पढ़ें

About kailash

मेरा नाम कैलाश रावत है और मैं hindish.com का एडमिन व लेखक हूँ और इस ब्लॉग पर निरंतर हिन्दी में ,टेक,टिप्स,जीवनियाँ,रहस्य,व अन्य जानकारी वाली पोस्ट share करता रहता हूँ, मेरा मकसद यह है की जैसे बाकि भाषाए इन्टरनेट पर अपनी एक अलग पह्चान बना रही हैं तो फिर हम भी अपनी मात्र भाषा की इन्टरनेट की दुनियां में अलग पहचान बनाये न की hinglish में ।

Share post, share knowledge

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *