Artificial Intelligence क्या होता है ?

Artificial Intelligence क्या होता है ?

आप में से बहुत से लोगो ने इसके बारे में सुना भी होगा आप में से कई लोग इसके बारे में पहले से जानते भी होंगे और अगर नहीं जानते तो आज के आर्टिकल में हम यही जानेगें कि Artificial Intelligence क्या होता है ? कैसे काम करता है और यह हमारे लिए कितना जरुरी है। तो सबसे पहले हम यह जानते हैं कि Artificial Intelligence क्या होता है ?

Artificial Intelligence क्या होता है ?

Artificial Intelligence क्या होता है ?

Artificial Intelligence जिसको हम हिंदी में कृत्रिम बुद्धिमत्ता भी कहते हैं और Short भाषा में हम इसको AI भी कहते हैं । कृत्रिम का मतलब है किसी व्यक्ति के द्वारा बनाया हुआ और बुद्धिमात्ता का मतलब है Intelligence यानी सोचने समझने की क्षमता। आर्टिफशल इंटेलिजेंस कंप्यूटर विज्ञान की एक शाखा है। जो ऐसे मशीन को विकसित कर रही है जो इंसान की तरह सोच सके और कार्य कर सके जब हम किसी कंप्यूटर को इस तरह तैयार करते हैं कि वह मनुस्य की बुद्धि की तरह कार्य कर सके तो उसको आर्टिफशल इंटेलिजेंस कहते हैं।

दूसरे शब्दों में कहे तो Artificial Intelligence एक ऐसी तकनीक है जिसके द्वारा उन वस्तुओ में जनके पास अपनी खुद की Intelligence नहीं है उनको हम Programming या किसी अन्य तकनीक के द्वारा Intelligence देते हैं। हम लोगो के पास जो बौद्धिक क्षमता है वो प्राकृतिक है, जिस से हम सोच पाते हैं, कल्पना कर पाते हैं, सही गलत में अंतर कर पाते हैं एक दूसरे के साथ कम्युनिकेशन कर पाते हैं और भावनात्मक तरीके से एक दूसरे के साथ जुड़ते हैं आदि। तो जिन वस्तुओ में प्राकृतिक रूप से बौद्धिक क्षमता नहीं होती उनमे  प्रोग्रामिंग या किसी अन्य तकनीक के द्वारा जो काम करने की क्षमता दी जाती है उस प्रक्रिया को हम Artificial Intelligence कहते हैं।

उदहारण के तौर पर हम ऐसा समझ सकते हैं कि जैसे एक कार है तो वो तो सिर्फ धातु कि एक वस्तु थी लेकिन इंसानो ने उसको एक ढांचा दिया, उसमे एक इंजन लगाया, स्टेयरिंग लगायी, गियर बनाये, क्लच, ब्रेक, एक्सेलेटर बनाये और उसको इस तरह तैयार किया की जिस तरह उसको निर्देश दिए जाये वह वैसा ही करे। जिस मोबाइल या कंप्यूटर को आप चला रहे हैं वह भी एक प्रकार की Artificial Intelligence ही है। बड़ी-बड़ी कम्पनियो और फैक्ट्रियो में जो रोबोट हैं वो भी कृत्रिम बुद्धि ( Artificial Intelligence ) द्वारा ही काम करते हैं। गूगल मैप, गूगल असिस्टेंस, ये सब भी आर्टिफशल इंटेलिजेंस ही हैं।

AI की शुरवात कब हुई –

जब मनुस्य कंप्यूटर सिस्टम की ताकत की असली खोज कर रहा था तब मनुस्य के दिमाग ने उन्हें यह सोचने पर मजबूर किया कि क्या एक मशीन भी इंसानो की तरह सोच सकती है ? इसी सवाल से आर्टिफशल इंटेलिजेंस के विकास की शुरवात हुई। जिसके पीछे केवल एक ही उद्देश्य था, कि एक ऐसी बुद्धिमान मशीन की संरचना की जाये जो कि इंसानो की तरह ही बुद्धिमान हो और उनकी तरह ही सोचने समझने की और सीखने की क्षमता रखता हो।

1955 में सबसे पहले John McCarthy ने आर्टिफशल इंटेलिजेंस शब्द का उपयोग किया था, वो एक अमेरिकन कंप्यूटर साइंटिस्ट थे जिन्होंने सबसे पहले इस तकनीक के बारे में साल 1956 में एक कॉन्फ्रेंस में बताया था। इसीलिए उनको Father of Artificial Intelligence भी कहा जाता है। AI कोई पुराना विषय नहीं है क्योंकि दशकों पहले से इस पर दुनिया भर में चर्चा हो रही है Metrix, Robot, Terminator जैसी फिल्मो का आधार Artificial Intelligence ही है। जहाँ रोबोट का स्वरुप दिखाया गया कि रोबोट कैसे कार्य करता है

Artificial Intelligence का उपयोग कहाँ किया जाता है ?

Artificial Intelligence की लोकप्रियता बड़े ही जोरो शोरो से बढ़ती चली जा रही है और आज यह एक ऐसा विषय बन गया है जिसकी technology और Business के क्षेत्र में काफी चर्चा हो रही है। कई विशेषज्ञों और इंडस्ट्री एनालिस्ट का मानना है कि AI या  लर्निंग ही हमारा भविष्य है लेकिन अगर हम अपनी चारो तरफ देखे तो हम पाएंगे कि कि हमारा भविष्य नहीं बल्कि वर्तमान है टेक्नोलॉजी के विकास के साथ आज हम किसी न किसी तरीके से Artificial Intelligence से जुड़े हुए हैं। और इसका उपयोग भी कर रहे हैं।

हाल ही में कई कम्पनियो ने Machine Learning पर काफी निवेश किया है। जिसके कारण कई AI Products और Apps हमारे लिए उपलब्ध हैं आज के समय में उपयोग किये जाने वाले कुछ Artificial Intelligence के उदहारण हैं

01. Siri

Apple का Siri Artificial Intelligence का एक बेहतरीन उदहारण है। इस से आप वो सारी चीजें कर सकते हैं जिसको आप पहले इंटरनेट में टाइप करके कर सकते थे। जैसे message भेजना, इंटरनेट से इनफार्मेशन ढूँढना, कोई एप्लीकेशन ओपन करना, टाइमर सेट करना, अलार्म सेट करना इत्यादि आप मोबाइल को बिना हाथ लगाए ही हे सीरी कह के कर सकते हैं। Siri आपकी भाषा और निर्देशो को समझने के लिए Artificial Intelligence का ही उपयोग करती है।

Alexa device, Windows –

इसी तरह Alexa device, Windows का Cortana और एंड्राइड फ़ोन की पर्सनल अस्सिस्टेंस गूगल अस्सिस्टेंस भी Artificial Intelligence पर ही बेस्ड है। और बात करे गूगल मैप की तो उसमे तो AI का बहुत ही अच्छा उपयोग किया गया है। Google map हमारी लोकेशन को ट्रैक करता है और हमें सही रास्ता बताने के लिए AI enabled mapping का उपयोग करती है, और हमको सही रास्ता बताने में मदद करता है।

Amazon Echo –

amazon के बारे में आज कौन नहीं जानता है amazon ने भी एक ऐसा रेवोलुशनरी प्रोडक्ट लांच किया है जिसका नाम है echo यह आपके सवालों का जवाब दे सकता है आपके लये Audio Book पढ़ सकता है। आपके ट्रैफिक का हाल और मौसम की रिपोर्ट बता सकता है किसी भी स्पोर्ट का स्कोर और शेडूल भी बता सकता है।

Automobile –

Artificial Intelligence का उपयोग केवल स्मार्टफोन और कंप्यूटर में ही नहीं बल्कि automobile क्षेत्र में भी बहुत किया गया है। अगर आप कार पसंद करते हैं तो आपको टेस्ला कार के बारे में थोड़ा बहुत जरूर मालूम होगा यह कार अब तक उपलब्ध सबसे बेहतर ऑटोमोबाइल में से एक है टेस्ला कार से जुड़ने के बाद इसमें self driving जैसे फीचर उपलब्ध हैं ऐसे ही नजाने कितनी सेल्फ ड्राइविंग कार और बन रही हैं जो आने वाले समय में भी और smart हो जाएँगी।

Company and factory –

आर्टिफीसियल इंटेलिजेन्स का उपयोग कई फैक्ट्री में भी जोरो शोरो से किया जा रहा है। पहले जिस काम को करने के लिए सैकड़ो लोग लगते थे वही आज मशीन की मदद से वही काम बहुत जल्दी और बेहतर किया जा रहा है।

Video Games –

Video Games – वीडियो गेम में भी हमको कई बार Artificial Intelligence  की झलक दिख जाती, जैसे अपने शतरंज (chess), लूडो ( Ludo ) को अकेले मोबाइल या कंप्यूटर के साथ खेल सकते हैं। जिसमे एक राउंड में आप खेलेंगे और आपके साथ कंप्यूटर या मोबाइल खेलेगा।

इसके अलावा AI का स्तेमाल Speech Recognition, Computer Vision, Robotics, Finance, Weather Forecasting, Health Industry और Aviation में भी होता है।

 

Artificial Intelligence के फायदे –

  • AI (Artificial Intelligence)  यह Error को कम करने में हमारी मदद करता है। और अधिक accuracy के साथ सटीकता हासिल करने की सम्भावना बढ़ जाती है।
  • इसका उपयोग करने से तेजी से निर्णय लेने और जल्दी से कार्य करने में सहायता मिलती है
  • मनुष्यो के विपरीत मशीन को लगातार आराम और रिफ्रेशमेंट की आवश्यकता नहीं होती वो लम्बे समय तक काम करने के काबिल होते हैं। और ना ही ऊबते हैं और ही विचलित होते हैं, और ना ही थकते हैं।
  • AI की मदद से संचार रक्षा स्वस्थ्य आपदा प्रबंधन और कृषि आदि क्षेत्रो में बड़ा बदलाव आ सकता है।
  • जिस कैलकुलेशन करने और प्रॉब्लम को सुलझाने में पहले कई घंटे लग जाते थे वह काम अब आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस के द्वारा सेकड़ो में किया जा रहा है।

Artificial Intelligence के नुकसान –

  • Artificial Intelligence के लाभ भी बहुत स्पष्ट नहीं है लेकिन इसके खतरों को लेकर कहा जा सकता है कि AI के आने से सबसे बड़ा नुक्सान मनुष्य का ही होगा
  • AI  मनुष्यो के स्थान पर काम करेंगे और मशीने स्वयं ही निर्णय लेने लेगेंगी और अगर उनपर नियंत्रण नहीं किया गया तो इस से मनुस्य के लिए खतरा भी उत्पन्न हो सकता है।
  • विशेष्यज्ञों का कहना है कि सोचने समझने वाले रोबोट अगर किसी कारण या परिस्थिती में मनष्यो को अपना दुश्मन मानने लगे तो मानव के लिए खतरा पैदा हो सकता है।
  • इसके निर्माण के लिए भारी लागत की आवश्यकता होती है क्योंकि यह बहुत ही काम्प्लेक्स मशीन होती हैं उनके मरम्मत और रखरखाव के लिए भारी लागत की आवश्यकता होती है
  • इसमें कोई शक नहीं है कि AI कई सारी नौकरियों को मनष्यो से छीन रही है। जिसमे भविष्य में बेरोजगारी की समस्या और भी बढ़ने वाली है।

आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस का उपयोग हम बहुत से क्षेत्रो में अपने फायदे के लिए कर रहे हैं लेकिन सच यह भी है कि अगर इसके  जोखिमों से बचने का तरीका नहीं ढूडा तो इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं। क्योंकि सभी फायदों के बावजूद भी AI के अपने खतरे हैं।


यह भी पढ़ें –

गूगल होम क्या है और यह कैसे काम करता है ?

Microsoft Windows क्या है 

NEFT, RTGS, IMPS, UPI में क्या फर्क है ?

Photoshop क्या है | What is Photoshop

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *