अजीत डोभाल बायोग्राफी| Ajeet dobhal biography

ajit dobhal

 

ajit dobhal
ajit dobhal
  • नाम-अजीत डोभाल
  • जन्म-20 जनवरी 1945
  • स्थान –पौड़ी गढ़वाल
  • राष्ट्रीयता-भारत
  • उपलब्धि-कीर्ति चक्र|पुलिस मेडल

भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार और पाकिस्तान की हर नापाक साजिश को विफल करने वाले मास्टर माइंड इंसान अजीत डोभाल से आज न सिर्फ भारत बल्कि पूरी दुनिया रूबरू हो चुकी है,आप असाधारण उच्च बुद्धि और अलौकिक क्षमताओ वाले व्यक्ति हैं।

अजीत डोभाल-

आपका पूरा नाम अजीत कुमार डोभाल है,आपका जन्म 20 जनवरी 1945 को घीड़ी, बानेलस्यूँ,पौड़ी गढ़वाल,उत्तराखण्ड में हुआ था।  प्रारंभिक शिक्षा अजमेर से पूरी करने के बाद आपने आगरा विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में मास्टर डिग्री हासिल की और शिक्षा पूरी होने के बाद IPS की तैयारी में जुट गए। अपनी  लगन और मेहनत से आप 1968 में केरल कैडर से आईपीएस के लिए चुन लिए गए। 2005 में इंटेलिजेंस ब्यूरो के चीफ के  (director of intelligence bureau)पद से रिटायर हो चुके हैं।दिसम्बर 2009 में आप विवेकानंद इंटरनेशनल फॉउंडेशन के संस्थापक निदेशक भी  रह चुके हैं। 30 मई 2014 को आपने भारत के पांचवे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के रूप में कार्यभार संभाला और अभी भी कार्यरत हैं।

sandeep maheshwari की सफलता का राज पढने के लिए यहाँ क्लिक करें

stephen hawking  जीवनी जिन्होंने दे दि भगवान को भी चुनौती पढ़ें

ajit dobhal
ajit dobhal

भारत माँ की सेवा करते करते देखते है आपकी आई.पी.एस, आई.बी और एन.एस.ए के दौरान किये गए मुख्य कार्यो का एक विवरण-

  • जो मैडल किसी आईपीएस अफसर को 17 साल बाद दिया जाता है वो मैडल आपने सेवा के सिर्फ 6 सालो में ही पा लिया था।
  • आपने पकिस्तान में 7 साल जासूस बनकर बिताये और इसी दौरान आप वहाँ की आर्मी में  मार्शल की पोस्ट तक पहुचे।
  • 1984 में भारतीय सेना द्वारा चलाया गया ऑपरेशन ब्ल्यू स्टार के वक़्त आपने पाकिस्तानी जासूस की भूमिका निभाकर खालिस्तानियों का का विश्वास जीत कर सेना को गुप् सूचना मुहैया करवाकर आपरेशन सफल बनाया।
  • इंडियन एयरलाइन्स की फ्लाइट-814 को काठमांडू से हाईजैक कर लिया गया था तब आपको ही मुख्या वार्ताकार बनाया गया था और फिर बाद में फ्लाइट को कांधार ले जाया गया था और ये आपरेशन भी सफल हुआ था।
  • आप भारत के एक मात्र non army person हैं जिन्हें कीर्ति चक्र से नवाजा गया।
  • जब आप  IB के चीफ थे उस दौरान उत्तर पूर्व में ललडेंगा के नेतृत्व में मिजो नेशनल फ्रंट ने हिंसात्मक माहौल बना रखा था ऐसे में आपने उसका विश्वास जीतकर वहाँ का माहौल शांतिप्रिय बनाया।
  • जब 1993 में खालिस्तान लिबरेशन फ्रंट ने रोमानियाई राजनयिक लिविउ राडू  को बंधक बनाया तो अपने उसे बचाने की भी सफल योजना बनायी।
  • बलोचिस्तान में RAW को फिर से एक्टिव करके उसे अंतराष्ट्रीय मुद्दा बनाया।
  • उत्तर पूर्व में सेना पर हुए हमले के बाद सीमा पार करके आतंकियों पर सर्जिकल स्ट्राइक करने की करने की सफल योजना भी आपकी ही बुद्धिमत्ता का सबूत है।जिसमे सेना ने म्यामार में 5 किलोमीटर अंदर घुसकर करीब 50 आतंकियों को मौत के घात उतारा।
  • आपने नागालैंड के आतंकियों को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया।
  • pallet gun देकर सेना को कश्मीर में आतंकियों को मारने की खुली आज़ादी दी।
  • इंदिरा गांधी ,अटल बिहारी बाजपेयी ,और नरेंद्र मोदी जैसी बड़ी हस्तियों के साथ आप काम कर चुके है और अभी भी नरेंद्र मोदी जी के साथ कार्यरत हैं।
  • विवेकानंद युथ फोरम की स्थापना की जो एक ring wing हिन्दू संगठन हैं।
  • सितंबर 2016 में जब भारतीय सेना ने POK में 3 किलोमीटर अंदर घुसकर 40 आतंकियों और 2 पाकिस्तानी फौजियो को मार गिराया था जिसमे भारतीय सेना को कोई नुकसान नहीं पंहुचा इस सफल ऑपरेशन का श्रेय भारतीय सेना के साथ आपको भी जाता है।

divyaa रावत mashroom गर्ल की कहानी 

 देश की ऐसी हस्ती पर हमें भी गर्व है।

|जय हिन्द|

Share post, share knowledge

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *