भारत के 10 ऐसे Projects जिनको देखकर आपको भी गर्व होगा

india;s mega projects

दोस्तो आप सोचते होंगे कि विदेशो में कितने ऊँची-ऊँची बिल्डिंग्स और मेगा इंजिनियरिंग प्रोजेक्ट्स होते हैं। हमारे इंडिया में क्यों नहीं तो दोस्तों ऐसा कुछ नहीं है । हम भारतीय भी किसी से का नहीं हैं।  दुनिया की बड़ी-बड़ी दिग्गज companies, Google, Microsoft, adobe जैसी कंपनियों में भारत के इंजिनियर कार्यरत हैं। और भी ऊँचे पद पर आज मैं आपको बताने वाला हूँ। अपने देश के 10 मेगा प्रोजेक्ट्स जिनको देखकर आपको भी भारतीय होने पर गर्व होगा ।

Namaste Tower-


 

मुंबई में बन रही एक गगनचुम्बी इमारत जिसका आकार नमस्कार की मुद्रा में जुड़े हाथो की तरह बनाया जा रहा है जो इसीलिए इसको नमस्ते टावर का नाम दिया गया है। जो हमारी भारतीय संस्कृति को दर्शायेगा 316  मीटर ऊंची यह building 63  मंजिले की होगी  जिसमें 380 कमरे होंगे इस बिल्डिंग में ऑफिस और रिटेल स्पेस भी होंगे।

Chenab Bridge –


यह जम्बू और कश्मीर में बनाया जा रहा एक विशाल रेलवे पुल है इस arch bridge को कंक्रीट और स्टील से बनाया जा रहा है। यह railway bridge जम्बू कश्मीर के बक्काल और कौरी इलाके  जोड़ता है। और जब यह पुल बनकर तैयार होगा तो तब इसकी ऊंचाई होगी 359 मीटर यानी france के eiffel tower से 35 मीटर ऊँचा। और फिर यह कहलायेगा दुनिया का सबसे ऊँचा रेल पुल ।]

World One –


word one वर्ली मुंबई में स्थित एक गगनचुम्बी इमारत है। जिसकी ऊंचाई 442 मीटर है इसक बिल्डिंग को बनाने का काम सन्न 2011 में शुरू हुआ था और अनुमान यह है कि यह ईमारत 2018 तक बन कर तैयार हो जाएगी। और विकिपीडिया के  अनुसार इस बिल्डिंग को बनाने का खर्चा  लगभग भारतीय रुपया2,000 करोड़ है  ।

GIFT city –


GIFT सिटी की फुल फॉर्म Gujarat International Finance Tec-City  है  जिसको 886 एकड़ जमीन में बनाया जा रहा है। इस सिटी को बनाने का मैन मकसद है high quaility physical infrastructure प्रोवाइड करवाना । जैसे इलेक्ट्रिसिटी, पानी, गैस, telecom, boradband आदि, दिल्ली मुंबई बंगलुरु जैसे   शहरो की ये जगहे पुरानी हो गयी हैं और कीमती भी बहुत हैं।

यह भी पढ़ें – दुनिया के 10 सबसे खुबसूरत शहर 

इसलिए GIFT सिटी को डेवेलोप किया जा रहा है जहा तमाम आधुनिक तकनीक और सुविधाए उपलब्ध होंगी ।

Navi Mumbai International Airport –


यह एअरपोर्ट नवी मुंबई में बनेगा जो अभी under construction है  और इस प्रोजेक्ट का मकसद मुंबई के क्षत्रपति शिवाजी एअरपोर्ट पर होने वाले air traffic congestion को कम करना है। यह भारत का सबसे आधुनिक एअरपोर्ट   होगा ।

DMIC प्रोजेक्ट –


DMIC की फुल फोर्म है Delhi–Mumbai Industrial Corridor Project यह  भारत सरकार द्वारा प्रायोजित औद्योगिक-विकास की विशाल परियोजना है। इस परियोजना के पूरा होने पर अधोसंरचना एवं उद्योग का अत्यधिक प्रसार हो जायेगा तथा रेल, सड़क, बंदरगाह एवं हवाई यातायात की व्यापक वृद्धि होगी। यह कॉरिडोर 7 राज्यों को जोड़ेगा जिस से हमको सुविधाए तो मिलेंगी ही साथ में नौकरिया भी मिलेंगी।

The Chennai Mofussil Bus Terminus –


37 एकड़ क्षेत्र के क्षेत्र में फैले हुए, यह एशिया का दूसरा सबसे बड़ा बस स्टेशन है,  2002 में खोला गया। इस टर्मिनल में 2,000 बसों और 200,000 यात्रियों को रोजाना संभाल करने की क्षमता है। बस स्टेशन में 64 सीसीटीवी कैमरे और खोए हुए बच्चों के लिए एक ‘child-friendly’ केंद्र भी  है।

यह भी पढ़ें – दुनिया के 10 सबसे अमीर actor 

Yamuna Expressway-


यमुना एक्सप्रेसवे  उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा और आगरा को जोड़ता है। यह 165 किमी लम्बा, 6 लेन वाला मार्ग है इसका निर्माण कार्य वर्ष 2007 में आरंभ हुआ जब मायावती की सरकार थी। तथा  वर्ष 1012 में अखिलेश यादव की सरकार में सम्पन्न हुआ। यह भारत के सबसे बड़े मेघा प्रोएक्ट्स में से एक माना जाता है ।

Bandra-Worli Sea Link –


बांद्रा-वरली सागर लिंक या राजीव गांधी सागर लिंक मुंबई के पश्चिमी उपनगरों में बांडी और वर्ली से प्रस्तावित पश्चिमी फ्रीवे का हिस्सा है। बांद्रा-वरली सागर लिंक भारत में पानी के ऊपर सबसे लंबा पुल है। इस विशाल सेतु का उद्घाटन  30 जून, 2009 को संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन प्रमुख श्रीमती सोनिया गांधी द्वारा किया गया ।

यह भी पढ़ें – दुनिया के 10 महान आविष्कार जो भारत ने किये 

इस सेतु के बनने से पहले बांद्रा और वर्ली के बीच यात्रा में 45 इनट लगते थे। मगर इस पुल के बनने के बाद अब इसेक बीच का सफ़र मात्र 7 मिनट में तय किया जा सकता है ।

Kathipara Flyover –


कठिपारा फ्लाईओवर जिसको हम road junction भी कह सकते हैं। यह चेन्नई में स्थित है काठिपारा फ्लायओवर एशिया में सबसे बड़ा क्लोवरलेफ फ्लायओवर है। 9 अप्रैल, 2008 को इनर रिंग रोड और जीएसटी रोड को जोड़ने वाले फ्लाईओवर को 9 अक्टूबर 2008 को यातायात के लिए खोला गया था।  और पूरे खंड को 26 अक्टूबर 2008 को जनता के लिए खोल दिया गया था।

तो दोस्तों कैसा लगा आपको भारत के Mega Projects के बारे में जानकर कमेंट में अपनी प्रतिक्रिया दें ।

Share post, share knowledge

One thought on “भारत के 10 ऐसे Projects जिनको देखकर आपको भी गर्व होगा”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *