10 अमीर भारतीय महिलाएं

आज के समय में जहाँ पुरुषों ने देश को आगे बढ़ाने का कार्य किया है ,यहीं इस कार्य में महिलाएं  भी अब पीछे नहीं हैं। वर्तमान में महिलाएं अपने घरों की जिम्मेदारी अच्छी तरह से निभाती ही हैं ,किन्तु साथ साथ वह अपने करियर और बिज़नेस को भी महत्व देने लगीं हैं। महिलाओं ने हर क्षेत्र में पुरुषों की बराबरी की है , और समाज में नए और महान कीर्तिमान स्थापित किये हैं। उन्होंने शाबित कर दिया है कि , महिलाएं चाहें तो सब कुछ कर सकती हैं, फिर बात चाहे घर चलाने की हो या बिज़नेस की या फिर सरकार चलाने की वह हर क्षेत्र में निपुण हैं और पुरुषों से अच्छा कार्य करने में भी सक्षम हैं।

महिलाओं ने अपनी मेहनत के बल पर समाज में अपना वर्चस्व स्थापित किया है, और अपनी एक अलग पहचान बनाई है। आज हम आपको भारत देश की कुछ ऐसी ही महिलाओं के विषय में बताने जारहे हैं जिन्होंने अपने परिश्रम के दम पर अपने आप को  शाबित किया है तथा बिज़नेस की दुनिया में कई पुरुषों को भी पीछे छोड़ दिया है और ऐसी सफलता हासिल की है कि उनका नाम आज भारत की अमीर  महिलाओं में सुमार हो चुका है। आइये जानते हैं भारत देश की सबसे अमीर  बिज़नेस वुमंस के बारे में :

भारत की 10 सबसे अमीर महिलाएं

  1. रौशनी नाडर मल्होत्रा।
  2. किरन मजुमदार शॉ।
  3. लीना गाँधी तिवारी।
  4. नीलिमा मोटापत्री।
  5. राधा वेम्बू।
  6. जयश्री उल्लाल।
  7. रेनु  मुंजाल।
  8. मल्लिका चिरायु अमिन।
  9. अनु आगा और महर पद्मजी।
  10. फाल्गुनी नायर।

 

1 – रौशनी नाडर मल्होत्रा –

  कुल संपत्ति – 54,850 करोड़ रूपए

हम सबसे पहले बात करेंगे , HCL Technology की चेयर पर्सन रौशनी नाडर  की, जिन्होंने अपने पिता के बिजनेस को एक नए मुकाम तक पहुँचाने का काम किया। उनकी नेट बर्थ 54,850 करोड़ रुपए है। यहीं नहीं, 2020 में रौशनी का नाम फ़ोर्ब्स वर्ड की  100 पावरफुल महिलाओं की लिस्ट में 55वां स्थान पर रखा गया। वह पहली भारतीय महिला हैं जो एक लिस्टेड IT कंपनी चलाती हैं। रोशनी नादर मल्होत्रा ​​एचसीएल एंटरप्राइज की कार्यकारी निर्देशिका और सीईओ हैं। वह एचसीएल के संस्थापक शिव नाडर की एकमात्र संतान हैं। IIFL Wealth Hurun India Rich List (2019) के अनुसार, रोशनी नादर भारत की सबसे अमीर महिला हैं।

रौशनी नाडर एचसीएल कॉरपोरेशन की सीईओ बनने से पहले,  शिव नाडर फाउंडेशन के ट्रस्टी के रूप में कार्य कर रही थी, जो चेन्नई के श्री शिवसुब्रमण्य नादर कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग को लाभ के लिए चलाता है। वह एचसीएल समूह में ब्रांड निर्माण में भी शामिल थीं।

रौशनी नाडर एक प्रशिक्षित शास्त्रीय संगीतकार हैं। उन्होंने सन 2010 में शिखर मल्होत्रा से शादी की , शिखर मल्होत्रा एचसीएल हेल्थकेयर के वाइस चेयरमैन हैं।


2 – किरण  मजुमदार शॉ –

  कुल संपत्ति – 36,600 करोड़ रूपए

किरण मजूमदार-शॉ  एक भारतीय महिला व्यवसायी, टेक्नोक्रेट, अन्वेषक और बायोकॉन की संस्थापक है, जिनका जन्म 23 मार्च 1953 में बंगलौर में हुआ था। किरण मजुमदार का  बंगलौर में एक अग्रणी जैव प्रौद्योगिकी संस्थान है। वे बायोकॉन लिमिटेड की अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक तथा सिनजीन इंटरनेशनल लिमिटेड और क्लिनिजीन इंटरनेशनल लिमिटेड की अध्यक्ष हैं।

किरण ने बायोकॉन की शुरूआत 1978 में  की और,साथ ही साथ इन्होने उत्पादों के अच्छी तरह से संतुलित व्यापार पोर्टफोलियो तथा मधुमेह, कैंसर-विज्ञान और आत्म-प्रतिरोध बीमारियों पर केंद्रित शोध प्रारम्भ किया।  उसके साथ इन्होने बायोकॉन को  एक औद्योगिक एंजाइमों की निर्माण कंपनी से विकासित कर पूरी तरह से एकीकृत जैविक दवा कंपनी बनाया। उन्होंने दो सहायक कंपनियों की भी स्थापना की: खोज अनुसंधान हेतु विकास सहायक सेवाएं प्रदान करने के लिए सिनजीन (1994) और नैदानिक विकास सेवाओं को पूरा करने के लिए क्लिनिजीन (2000)।अपनी महनत और लगन की वजह से आज वह भारत की सबसे अमीर महिलाओं की श्रेणी में दुसरे नंबर पर आती हैं।


3- लीना गाँधी तिवारी –

 कुल संपत्ति – 21,340 करोड़

लीना गाँधी तिवारी का जन्म 1956/1957 में हुआ। लीना गाँधी एक भारतीय व्यवसायी होने के साथ-साथ एक लेखिका भी हैं ,वह मल्टीनेशनल फार्मा और बायोटेक्नोलॉजी कंपनी USV की चेयरपर्सन हैं,जो मुंबई में स्थित एक बहुराष्ट्रीय दवा और जैव प्रौद्योगिकी कंपनी है। लीना गांधी तिवारी एक सफल  बिजनेसवुमन हैं । यह कंपनी लीना के दादी ने शुरु की थी।USV कंपनी की शुरुआत लीना गाँधी के दादा जी श्री विट्ठल बालकृष्ण गाँधी ने 1961 में की। USV कंपनी मधुमेह और हृदय संबंधी दवाओं के साथ-साथ बायोसिमिलर दवाओं, इंजेक्शन और सक्रिय दवा सामग्री बनाने में माहिर है।लीना ने अपने दादाजी की  कंपनी को अपनी मेहनत के बलबूते कामयाबी क शिखर तक ले गयी और ऐसी परिश्रम का परिणाम है की लीना गाँधी तिवारी 2.6 $ अमेरिकी डॉलर के साथ भारतीय महिलाओं में तीसरे पायदान पर हैं।


4- नीलिमा मोटापत्री –

 कुल सम्पति – 18,620 करोड़

नीलिमा मोटापत्री भारत की फेमस DIVI’S लैबोरेटोरीज की डायरेक्टर हैं। यही नहीं  DIVI’S के अलावा अन्य 10 कंपनियों के बोर्ड में भी नीलिमा का नाम शामिल है। नीलिमा ने ग्लासगो यूनिवर्सिटी से गिताम इंस्टिट्यूट ऑफ फॉरेन ट्रेड से ग्रैजुएशन किया है। DIVI’S लैबोरेट्रीज को सर्वप्रथम DIVI के रिसर्च सेंटर के रूप में सन 1990 में स्थापित किया गया था। कंपनी ने शुरू में एपीआई और मध्यवर्ती के निर्माण के लिए वाणिज्यिक प्रक्रियाओं को विकसित करना शुरू किया। DIVI’S रिसर्च सेंटर ने 1994 में DIVI’S लैबोरेट्रीज लिमिटेड का नाम बदलकर API कर दिया और  मध्यवर्ती विनिर्माण उद्योग में प्रवेश करने के अपने इरादे का संकेत दिया। इसके बाद, कंपनी ने 1995 में तेलंगाना के चौटप्पल में अपनी पहली विनिर्माण सुविधा स्थापित की।  2002 में, कंपनी की दूसरी विनिर्माण सुविधा विशाखापत्तनम के पास चिपपाड़ा में परिचालन शुरू हुई। कंपनी 17 फरवरी 2003 को अपने आईपीओ के साथ सार्वजनिक हुई। वर्ष 2010 में, कंपनी ने हैदराबाद में एक अनुसंधान केंद्र स्थापित किया।इस प्रकार से नीलिमा के परिश्रम के फलस्वरूप वह वर्तमान समय में भारत की सबसे अमीर महिलाओं में चौथे नंबर पर आती हैं।


5- राधा वेम्बू –

कुल संपत्ति – 11,590 करोड़ रूपए

राधा वेम्बू  (जन्म 1972/1973) ,एक अरबपति भारतीय व्यवसायी हैं ,और जोहो कॉर्पोरेशन ,एक भारतीय सॉफ्टवेयर विकास कंपनी की सबसे बड़ी स्टेकहोल्डर हैं। वेम्बू ने भारतीय प्रोद्योगिकी संस्थान मद्रास से औद्योगिक प्रबंधन की शिक्षा प्राप्त की तथा डिग्री हासिल की। जोहो कॉरपोरेशन उनके भाई श्रीधर वेम्बु द्वारा सह-स्थापित किया गया था, जिन्होंने 1996 में एडवेंटनेट के रूप में व्यवसाय शुरू किया था। वह कंपनी में बहुसंख्यक हिस्सेदारी की मालिक है और ईमेल सेवा, जोहो मेल के लिए एक उत्पाद प्रबंधक है, और कॉर्पस फाउंडेशन के निदेशक भी हैं।  वह सक्रिय रूप से खुद को लाइमलाइट से दूर रखती हैं।वेम्बु  विवाहित हैं और साथ ही एक बच्चे की माँ भी हैं , और वर्तमान में भारत के चेन्नई में रहती हैं। वेम्बू की कुल सम्पति 11,590 करोड़ है जिसके साथ सबसे अमीर भारतीय महिलाओं की लिस्ट में वेम्बू पांचवें स्थान पर हैं।


6- जयश्री उल्लाल –

कुल सम्पति – 10,220 करोड़ रूपए

जयश्री उल्लाल का जन्म 27 मार्च 1961  को हुआ ,जयश्री एक अमेरिकी अरबपति महिला हैं ,तथा एरिस्टा नेटवर्क्स की प्रेसिडेंट और सीईओ हैं और अरबपति बिजनेसवुमन हैं। उनकी कंपनी खासतौर पर ईथरनेट नेटवर्किंग डेटा पर काम करती है, जिससे उनकी नेट वर्थ 10,220 करोड़ रुपए हो जाती है।


7- रेनु मुंजाल –

renu-munjal

कुल सम्पति – 8,690 करोड़ रूपए

रेनु मुंजाल हीरो फिनकॉर्प की मैनेजिंग डायरेक्टर(मैनेजिंग डायरेक्टर ) हैं।  रेनु मुंजाल की सालाना  कमाई 8,690 करोड़ रुपए है। बता दें कि वह ईजी बिल के बोर्ड में एक निदेशक के रूप में भी काम करती हैं,तथा  हीरो मोटोकॉर्प की  पूर्व कार्यकारी निदेशक हैं. रेनु मुंजाल बिज़नेस के साथ -साथ अक्सर महिला सशक्तिकरण के प्रोजेक्ट पर कार्य करती रहती हैं।वह सबसे अमीर भारतीय महिलाओं में सातवें पायदान पर हैं।


8- मल्लिका चिरायु अमिन –

10 अमीर भारतीय महिलाएं

कुल सम्पति – 7,570 करोड़ रूपए

मल्लिका चिरायु अमिन अलेम्बिक लिमिटेड की एक्जिक्यूटिव डायरेक्टर, CEO और MD (मैनेजिंग डाइरेक्टर ) हैं। मल्लिका एक नहीं बल्कि कई बिजनेस संभालती हैं। अलेम्बिक ग्रुप की स्थापना 1907 में हुई थी ,और इसका मुख्यालय वडोदरा (गुजरात) में है। बहुप्रतिभाशाली मल्लिका का नाम सिएरा इन्वेस्टमेंट्स लिमिटेड के बोर्ड में भी शामिल है। साथ ही शेर्नो लिमिटेड, आवरण टेक्सटाइल्स लिमिटेड और सिएरा हेल्थकेयर लिमिटेड भी उनके हिस्से में है। उनकी कुल सम्पति  7,570 करोड़ रुपए है, तथा मल्लिका का आठवां स्थान है।


9- अनु आगा और महर पद्मजी –

10 अमीर भारतीय महिलाएं

 कुल सम्पति – 5,850 करोड़ रूपए

अनु आगा और महर पद्मजी माँ और बेटी हैं और इस माँ बेटी की सफल जोड़ी ने अपना एक अलग मुकाम हासिल किया है। आपको बता दें कि मां बेटी की ये जोड़ी सभी महिलाओं के लिए प्रेरणा का एक स्रोत है। सन 1996 से अनु आगा और महर पद्मजी थर्मैक्स लिमिटेड कंपनी(थर्मैक्स औद्योगिक और वाणिज्यिक दोनों क्षेत्रों के लिए वन-स्टॉप यूटिलिटी पार्टनर है, जिससे ग्राहकों को बेहतर पर्यावरण बनाए रखते हुए बेहतर संसाधन उत्पादकता और नीचे की रेखाएँ प्राप्त करने में मदद मिलती है।) को चला रही हैं। अनु आगा थर्मैक्स की पूर्व और मेहर पद्मजी वर्तमान चेयरपर्सन है, और वह सोशल वर्क में भी काफी दिलचस्पी रखती हैं। उनकी कम्बाइन नेटवर्थ 5,850 करोड़ रुपए है।और माँ बेटी की यह जोड़ी सबसे अमीर भारतीय महिलाओं की सूची में नौवां स्थान रखती हैं।


 10-फाल्गुनी नायर –

falguni nayar

 कुल सम्पति – 5,410

इस लिस्ट में 10वां स्थान सेल्फ मेड फाल्गुनी नायर को मिला है, जो नायका की फाउंडर और मैनेजिंग डायरेक्टर है। फाल्गुनी ने नायका की शुरुआत 2012 में की थी, जो आज काफी ऊंचाईयों पर है। उन्होंने ना सिर्फ ब्यूटी प्रोडक्ट्स की जरूरत को जाना बल्कि उसे ही अपना बिजनेस भी बनाया। बता दें कि उनकी नेटवर्थ- 5,410 करोड़ रुपए है।


ये हैं दुनियां की Top 10 सबसे फ़ास्ट कार

ये हैं दुनिया की 10 सबसे Powerful Missile

दुनिया के 10 सबसे अमीर क्रिकेटर (2021)

ये हैं भारत की 10 सबसे ऊँची बिल्डिंग 

ये हैं दुनिया के 10 सबसे गरीब देश 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *