शेयर बाजार क्या है ?

शेयर बाजार क्या है ?

शेयर बाजार से शेयर खरीदने को बहुत से लोग जुआ समझते है, मैं नही मानता। कुछ लोग इसे एक खतरनाक खेल की उपाधि भी दे देते है, लेकिन मुझे शेयर खरीदने में कुछ भी खतरनाक नजर नही आता।

हा, एक बात है, यदि आप शेयर बाजार से शेयर खरीदने को मजाक बना देंगे या फिर बिना सोचे समझे invest करेंगे तो ये सच में आपके लिए एक जुआ और खतरनाक खेल हो सकता है। आइये जानते हैं विस्तार से

शेयर बाजार क्या है ?

शेयर बाजार क्या होता है ?

स्टॉक मार्केट एक मार्केटप्लेस एक ऐसी जगह है, जहा स्टॉक मार्केट में लिस्टेड कंपनी के शेयर, तथा अन्य प्रतीभुतियो जैसे म्यूच्यूअल फण्ड, बांड्स आदि ख़रीदे और बेचे जाते है, Share Market दो शब्दों से मिलकर बना है Share + Market, अगर हम भी Share Market को दो भागों में समझने की कोशिश करे तो हमे यह आसानी से समझ आ सकता है।

1- Share

शेयर का बहुत ही सीधा सा अर्थ होता है “हिस्सा”। यदि हम शेयर मार्केट की भाषा में बात करें तो शेयर का अर्थ है कंपनियों में हिस्सा ! उदाहरण के लिए किसी एक कंपनी ने कुल 1 लाख रुपये के शेयर जारी किए है। तथा आप कंपनी के प्रस्ताव के अनुसार जितने अंश खरीद लेते है आपका उस कंपनी में उतने प्रतिशत का मालिकाना हक हो जाता है। शेयर को आप किसी अन्य खरीददार को जब भी चाहें बेच सकते है। आप 100 रुपए से लेकर अधिकतम कितनी भी राशि तक के शेयर खरीद सकते है।

2- Market

शेयर मार्किट वह बाज़ार होता है जहाँ शेयर का लेन-देन किया जाता है अथवा ख़रीदा या बेचा जाता है। शेयर बाजार में शेयर बेचने वाली कंपनी रजिस्टर्ड होती है और शेयर बाजार में सूचीबद्ध होने के लिए कंपनी को बाजार से लिखित समझौता करना पड़ता है।

अगर कोई कंपनी समझौते के नियमों का पालन नहीं करती है, तो सेबी (SEBI) द्वारा उसे डीलिस्ट (सूची से बाहर) कर दिया जाता है। सेबी का प्रमुख उद्देश्य भारतीय स्टॉक निवेशकों के हितों को संरक्षण प्रदान करना है इसके अलावा इस पूरे बाजार पर भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) का ही नियंत्रण होता है।

भारत के स्टॉक एक्सचेंज –

शेयर बाजार का कारोबार स्टॉक एक्सचेंजों पर ही होता है। भारत के दो प्रमुख स्टॉक एक्सचेंज हैं बंबई स्टॉक एक्सचेंज (BSE) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ( NSE ) हैं । स्टॉक एक्सचेंज में कंपनियों की प्राइस की बढ़ोतरी और घटोतरी को BSE का सूचकांक सेंसेक्स और NSE का सूचकांक निफ़्टी प्रदर्शित करता है  आइये अलग अलग करके जानते हैं की Sensex और Nifty क्या हैं।

Sensex क्या होता है ?

Sensex बोम्बे स्टॉक एक्सचेंज का सूचकांक (Index) हैं और Sensex का निर्धारण BSE में लिस्टेड Top 30 Companies के मार्केट कैपिटलाइजेशन (कंपनीयों का कुल मूल्य) के आधार पर किया जाता हैं।  अगर सेंसेक्स बढ़ता हैं तो इसका मतलब हैं कि BSE में रजिस्टर्ड ज्यादातर कंपनियों ने अच्छा प्रदर्शन किया हैं|और इसी तरह अगर सेंसेक्स गिरता हैं तो इसका मतलब यह हैं कि अधिकांश कंपनियों का प्रदर्शन ख़राब रहा हैं।

Nifty क्या हैं ?

Nifty नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का सूचकांक (Index) हैं और इसका निर्धारण NSE में लिस्टेड Top 50 Companies के मार्केट कैपिटलाइजेशन आधार पर किया जाता हैं।  अगर Nifty बढ़ता हैं तो इसका मतलब यह हैं कि NSE में रजिस्टर्ड कंपनियों ने अच्छा प्रदर्शन किया हैं और अगर Nifty घटता हैं तो इसका अर्थ यह हैं कि NSE की कंपनियों ने बुरा प्रदर्शन किया हैं।

कोई कंपनी BSE/NSE में कैसे लिस्ट होती है ?

शेयर बाजार (Stock Market) में लिस्ट होने के लिए कंपनी को शेयर बाजार से लिखित समझौता करना पड़ता है।  इसके बाद कंपनी पूंजी बाजार नियामक SEBI के पास अपने सभी जरूरी दस्तावेज जमा करती है।  SEBI की जांच में सूचना सही होने और सभी शर्त के पूरा करते ही कंपनी BSE/NSE में लिस्ट हो जाती है।

इसके बाद कंपनी अपनी हर गतिविधि की जानकारी शेयर बाजार (Stock Market) को समय-समय पर देती रहती है. इनमें खास तौर पर ऐसी जानकारियां शामिल होती हैं, जिससे निवेशकों के हित प्रभावित होते हों।

शेयर बाजार में कैसे होती है कमाई ?

स्‍टॉक मार्केट में दो तरह से ट्रेडिंग होती है। एक तरीके में आप किसी शेयर को खरीद लेते हैं और बाद में फायदे में बेचते हैं। दूसरे तरीके में उसी दिन शेयर को खरीदते हैं और फायदे में बेच भी देते हैं। इस तरीके को डे ट्रेडिंग कहते हैं। डे ट्रेडिंग में आप किसी भी शेयर बेच या खरीद सकते हैं। उसी दिन शेयरों की खरीददारी को बॉय कॉल और पहले बेचने का शॉर्ट करना कहते हैं।

Shares कैसे खरीदें ?

आपको सबसे पहले किसी Stock Broker से आपको Account को ओपन करना होगा ये Trading & Demat Account है जिसको आपको ओपन करना होगा।

Demant Account –

जैसे आप अपने बॅंक मे पैसा को जमा करते है वेसए ही इसमे आपको Demant Account में आपके निवेश से संबंधी सभी Securities जैसे Share, Bonds, Government Securities, Mutual Funds आदि को Electronic के form मे जाम कर सकते है।

Trading Account –

इसका उपयोग आपको बेचने और buy के लिए . है जो आपका Shares होता है उसको. आप इस को ओपन के बाद आप कुछ भी बेच और buy सकते है।

आजकल  Online Broker कंपनियों में सबसे बेस्ट कम्पनिया Upstox और Zerodha हैं।  जो SEBI registed हैं और आपको ऑनलाइन Website या Mobile के जरिये ट्रेडिंग करने की सुविधा उपलब्ध करवाते हैं और वो भी बहुत ही कम Charge में।

Demat और Trading Account खोलने के लिए आपको जिन डोक्यूमेंट्स की जरूरत होगी >>>

  1. PAN Card
  2. Address Proof
  3. Income Proof
  4. Cancel Cheque
  5. 2 Passport Size Photo

इन सभी दस्तावेज़ों को जमा करते समय इस बात का ध्यान रखें इन सभी प्रमाण पत्रों में आपका नाम सही और स्पष्ट लिखा हो और एक ही तरीके से लिखा हो।

तो दोस्तों आशा करता हूँ आपको यह लेख शेयर बाजार क्या है ? को पढ़कर शेयर बाजार के बारे में कुछ जानकरी अवश्य मिली होगी। दोस्तों शेयर बाजार के बारे में अलग अलग टॉपिक पर हमें अलग अलग लेखो में समझना होगा एक ही आर्टिकल में सारी बाते समझाना आसान नहीं होगा इसलिए मैं आपके लिए हर  टॉपिक पर अलग अलग लेख लिखूंगा आप Hindish.com पर ऐसे लेखो को पढ़ते रहें।


यह भी  पढ़ें –

SIP क्या है हिंदी में जाने ? 

10 बिज़नस आईडिया, जीरो इन्वेस्टमेंट से शुरू कर सकते हैं

PAN Card खो गया या चोरी हो गया तो नए पैन कार्ड के लिए कैसे apply करें

डिजिटल लॉकर में खाता कैसे खोलें | how to open account on digital locker

Share post, share knowledge

One thought on “शेयर बाजार क्या है ?”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *