करेंट अफेयर्स जनवरी 2021

राम मंदिर की झांकी

जनवरी 2021 में घटित घटनाओं के विषय में आने वाली परीक्षाओं के लिए उपयोगी नोट्स :

1-पेपल भारत में घरेलु भुगतान सेवाओं को करेगा बंद :

अमेरिकी डिजिटल भुगतान समाधान प्रदाता पेपल ने घोषणा की है, कि वह 1 अप्रैल, 2021 से भारत के भीतर घरेलू  भुगतान सेवाओं की पेशकश बंद कर करेगा। मुख्य बिंदु , पेपल ने आगे कहा है कि यह अब भारतीय व्यवसायों के लिए अधिक अंतरराष्ट्रीय बिक्री को सक्षम करने पर ध्यान केंद्रित करेगा।

अमेरिकी डिजिटल भुगतान समाधान प्रदाता पेपल ने घोषणा की कि वह 1 अप्रैल, 2021 से भारत के भीतर घरेलू भुगतान सेवाओं की पेशकश बंद कर करेगा।

मुख्य बिंदु

  • पेपल ने आगे कहा है कि यह अब भारतीय व्यवसायों के लिए अधिक अंतरराष्ट्रीय बिक्री को सक्षम करने पर ध्यान केंद्रित करेगा।
  • गौरतलब है कि पेपल ने वर्ष 2020 में 6 लाख से अधिक भारतीय व्यापारियों के लिए 1.4 बिलियन डॉलर अंतरराष्ट्रीय बिक्री की प्रोसेसिंग की थी।
  • इस प्रकार, कंपनी ने भारत में घरेलू उत्पादों से ध्यान हटाने का फैसला किया है।

इस निर्णय के साथ, पेपल भारत के भीतर घरेलू भुगतान सेवाओं की पेशकश करने में सक्षम नहीं होगा। लेकिन कंपनी अब दुनिया भर में भारतीय व्यवसायों को 350 मिलियन पेपाल उपभोक्ताओं तक पहुंचने और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उनकी बिक्री बढ़ाने के लिए उत्पाद विकास में निवेश करेगी। यह निर्णय, भारतीय अर्थव्यवस्था में वृद्धि लाने में मदद करेगा।

इस मुद्दे पर उच्च न्यायालय का रुख

  • दिल्ली उच्च न्यायालय ने अमेरिकी ऑनलाइन भुगतान गेटवे पेपल की याचिका पर वित्तीय खुफिया इकाई (एफआईयू) की प्रतिक्रिया मांगी है।
  • अपनी याचिका में, मनी लॉन्ड्रिंग कानून के उल्लंघन के लिए पेपाल ने 96 लाख रुपये के जुर्माने को चुनौती दी थी।
  • इस प्रकार जस्टिस प्रतिभा एम. सिंह ने एफआईयू को नोटिस जारी किया और 26 फरवरी तक पेपल की याचिका पर अपना पक्ष रखने के लिए कहा था।
  • भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) को भी इस मामले में एक पक्ष बनाया गया है।
  • कोर्ट ने RBI और वित्त मंत्रालय को निर्देश दिया है कि पेपल जैसी इकाई को एक रिपोर्टिंग एजेंसी के रूप में माना जा सकता है या नहीं, इस बारे में नीतिगत निर्णय लेने के लिए एक समिति बनाई जाएगी।
  • कोर्ट ने यह भी पूछा कि क्या उन्हें धन शोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) द्वारा नियंत्रित किया जाता है।

2-भारत का विदेशी  मुद्रा भंडार 590.18 अरब डॉलर के स्तर पर पहुंचा :

29 जनवरी, 2021 को समाप्त हुए सप्ताह के दौरान भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 4.85 बिलियन डॉलर की बढ़ोत्तरी के साथ 590.18 अरब डॉलर तक पहुँच गया है। यह भारत के विदेशी मुद्रा भंडार का रिकॉर्ड स्तर है, इसके साथ ही भारत ने सबस ज्यादा विदेश मुद्रा भंडार वाले देशों की सूची में रूस की जगह चौथा स्थान हासिल कर लिया है। विश्व में सर्वाधिक विदेशी मुद्रा भंडार वाले देशों की सूची में भारत चौथे स्थान पर है, इस सूची में चीन पहले स्थान पर है।

विदेशी मुद्रा

इसे फोरेक्स रिज़र्व या आरक्षित निधियों का भंडार भी कहा जाता है। भुगतान संतुलन में विदेशी मुद्रा भंडारों को आरक्षित परिसंपत्तियाँ’ कहा जाता है तथा ये पूंजी खाते में होते हैं। ये किसी देश की अंतर्राष्ट्रीय निवेश स्थिति का एक महत्त्वपूर्ण भाग हैं। इसमें केवल विदेशी रुपये, विदेशी बैंकों की जमाओं, विदेशी ट्रेज़री बिल और अल्पकालिक अथवा दीर्घकालिक सरकारी परिसंपत्तियों को शामिल किया जाना चाहिये परन्तु इसमें विशेष आहरण अधिकारों , सोने के भंडारों और अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष की भंडार अवस्थितियों को शामिल किया जाता है। इसे आधिकारिक अंतर्राष्ट्रीय भंडार अथवा अंतर्राष्ट्रीय भंडार की संज्ञा देना अधिक उचित है।

29 जनवरी, 2021 को विदेशी मुद्रा भंडार

विदेशी मुद्रा संपत्ति (एफसीए): $547.22 बिलियन
गोल्ड रिजर्व: $ 36.29 बिलियन
आईएमएफ के साथ एसडीआर: $ 1.51 बिलियन
आईएमएफ के साथ रिजर्व की स्थिति: $ 5.16 बिलियन

3-2021-22 में e-NAM पोर्टल के माध्यम से देश की 1000 मंडियों को जोड़ा जायेगा :

केंद्र सरकार ने हाल ही में घोषणा की कि 2021-22 में e-NAM पोर्टल के माध्यम से देश की 1000 मंडियों को जोड़ा जायेगा। कृषि अवसंरचना निधि को कृषि उत्पाद बाजार समितियों को उनकी बुनियादी सुविधाओं को बढ़ाने के लिए उपलब्ध कराया जाएगा।
ई-एनएएम कृषि विपणन में एक अभिनव पहल है, जो खरीददारों और बाजारों तक किसानों की पहुंच को बढ़ाती है।

e-NAM

3-2021-22 में e-NAM पोर्टल के माध्यम से देश की 1000 मंडियों को जोड़ा जायेगा :

राष्ट्रीय कृषि बाजार या ई-नाम पोर्टल कोई अन्य बाजार नहीं है, बल्कि यह देश में मौजूदा मंडियों का एक ऐसा नेटवर्क है, जिसके माध्यम से किसान और व्यापारी एक दूसरे से फसल खरीदने और बेचने का काम घर बैठे ही कर सकते हैं। e-NAM का प्रबंधन छोटे किसानों के कृषि व्यवसाय कंसोर्टियम (SFAC) द्वारा किया जाता है। यह सभी एपीएमसी (कृषि उपज विपणन समिति) संबंधित गतिविधियों के लिए एकल सेवा प्रदान करता है। वर्तमान में व्यापार के लिए ई-एनएएम के तहत 450 से अधिक एपीएमसी सूचीबद्ध हैं। यह एक ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से संचालित होता है जो राज्य की मंडियों से जुड़ा हुआ है।

e-NAM के कार्य

E-NAM वस्तुओं और व्यापार की जानकारी प्रदान करता है। यह मंच कैशलेस लेनदेन प्रदान करता है। यह मृदा परीक्षण तक पहुंच प्रदान करता है और किसानों को छंटाई और पैकिंग के लिए प्रारंभिक सुविधाएं प्रदान करता है।

4-अजय सिंह को बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ़ इंडिया का अध्यक्ष चुना गया :

महाराष्ट्र के खेल मंत्री आशीष शेलार को चुनाव में हराने के बाद ,अजय सिंह को बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (BFI) के अध्यक्ष के रूप में फिर से चुना गया है। अजय सिंह को 37 वोट मिले, जबकि खेल में कई शीर्ष पदों पर काबिज शेलार, जो महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन और मुंबई जिला फुटबॉल संघ के अध्यक्ष भी हैं, को बीएफआई चुनाव में 27 वोट मिले।

बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया

यह भारत में मुक्केबाजी की राष्ट्रीय गवर्निंग बॉडी है,और यह AIBA की सदस्य भी है। यह देश में मुक्केबाजी के प्रशासन और खेल के आयोजन और विकास के लिए ज़िम्मेदार है।

AIBA

अंतर्राष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ AIBA की स्थापना 1946 में की गयी थी। वर्तमान में उमर क्रेमलेव AIBA के अध्यक्ष हैं। यह संगठन अमेचर बॉक्सिंग मैचों को स्वीकृति देता है।

5-ओडिशा में बनाया जायेगा भारत का पहला थंडरस्ट्रॉर्म रिसर्च टेस्टबेड :

भारतीय मौसम विभाग (IMD) के अनुसार ओडिशा के बालासोर में देश का पहला आंधी-तूफ़ान अनुसंधान केंद्र (Thunderstorm Research Testbed) बनाया जाएगा।

प्रमुख बिंदु

बालासोर में आंधी-तूफ़ान अनुसंधान केंद्र स्थापित करने का उद्देश्य आसमानी के कारण जान-माल के नुकसान को कम करना है। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के पास एक प्रथम श्रेणी का मानसून परीक्षण केंद्र विकसित किया जा रहा है। ये घोषणाएँ IMD के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने की। ये दोनों परियोजनाएँ इस समय योजना के चरण में हैं और विस्तृत परियोजना रिपोर्ट बनाई जा रही है।

थंडरस्टॉर्म परीक्षण केंद्र की स्थापना भारतीय मौसम विभाग, पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) और रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) के सहयोग से की जाएगी। DRDO, ISRO और IMD की बालासोर में पहले से ही अपनी इकाइयाँ हैं। अब, इस परियोजना के लिए, पास के क्षेत्रों में वेधशालाएँ स्थापित की जाएंगी।

हर साल ओडिशा में आसमानी बिजली गिरने के कारण औसतन 350 से अधिक लोग मारे जाते हैं। 2019-20 तक नौ वर्षों में आसमानी से कुल 3,218 लोग मारे गए हैं।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD)

यह मौसम की भविष्यवाणी, मौसम संबंधी टिप्पणियों और भूकंपीय विज्ञान के लिए प्रमुख एजेंसी है। यह विभाग पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के तहत काम करता है। इसकी स्थापना वर्ष 1875 में हुई थी। इसका मुख्यालय दिल्ली में है।

6-भारत का पहला चमड़ा पार्क कानपुर में बनेगा :

  • उत्तरप्रदेश सरकार कानपुर जिले में भारत का पहला चमड़ा पार्क स्थापित करेगी। यह कानपुर के रमीपुर गांव में 268 एकड़ जमीन पर बनाया जायेगा।
  • यह लगभग 2 लाख लोगों को रोजगार देगा , और इसमें 5850 करोड़ निवेश किया जायेगा।
  • इस पार्क में 20 मिलियन लीटर प्रतिदिन की क्षमता का ट्रीटमेंट प्लांट लगेगा।
  • पार्क में विश्वस्तरीय चमड़े के सामान के उत्पादन के लिए सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएँगी।

7- उत्तरप्रदेश की राम मंदिर की झांकी ने 72 वें गणतंत्र दिवस की परेड में प्रथम स्थान प्राप्त किया।

राम मंदिर की झांकी

  •  इस वर्ष गणतंत्र दिवस की परेड में कुल 32 झांकियों का प्रदर्शन किया गया।
  •  त्रिपुरा की झांकी को दूसरा स्थान मिला।
  •  तीसरा स्थान उत्तराखंड को मिला। जिसका शीर्षक,देवभूमि :’ द लैंड ऑफ़ द गॉड्स’ था।

8- लेफ्टिनेंट जनरल चंडी प्रसाद मोहंती 1 फरवरी को उप सेना प्रमुख के पद की जिम्मेदारी         संभालेंगे।

  • चंडी प्रसाद , लेफ्टिनेंट जनरल  एसके सैनी का स्थान लेंगे , जो 31 जनवरी को रिटायर हो रहे हैं।
  • वह वर्तमान में दक्षिणी सेना के कमांडर के रूप में काम कर रहे हैं।
  • वह ओडिशा जयबाड़ा गांव के हैं।
  • वाइस चीफ ऑफ़ आर्मी स्टाफ भारतीय सेना का उप-प्रमुख और दूसरा सबसे बड़ा रैंकिंग अधिकारी होता है।

9- आरएस शर्मा को आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के सीईओ के रूप में नियुक्त किया गया है।

  • आरएस शर्मा , इंदु भूषण  की जगह लेंगे जो वर्तमान में आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना और राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के सीईओ हैं।
  • आरएस शर्मा इससे पूर्व भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण ( ट्राई ) के अध्यक्ष के रूप में कार्य कर चुके हैं।

10- शिक्षा मंत्रालय ने आर्थिक मामलों के विभाग- डीईए ,और विश्वबैंक ने स्कूलों में  शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार करने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किये हैं।

  • विश्व बैंक इस समझौते के ठीक प्रकार के क्रियान्वयन के लिए 500 मिलियन अमेरिकी डॉलर की वित्तीय सहायता प्रदान करेगा।
  • इस परियोजना को स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग के तहत नई केंद्र प्रायोजित योजना के रूप में लागू किया जायेगा।

करेंट अफेयर्स जनवरी 2021

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *