मोनालिसा पेंटिंग का रहस्य |mystery of mona lisa painting in hindi

mona lisa painting mystery

दुनिया में बहुत कम लोग ही ऐसे होते हैं जो मरने के बाद भी अपने कामो से हमेशा के लिए लोगो के दिलो में जिंदा रहते हैं उनमे से एक हैं मशहूर पेंटर लेओनार्दो डा विन्ची (Leonardo da Vinci) ।

mona lisa painting mystery
Image source-www.artwallpaperhi.com

लेओनार्दो डा विन्ची (Leonardo da Vinci) 

लेओनार्दो डा विन्ची का जन्म 15 अप्रैल 1452 को इटली के विन्ची शहर में हुआ था और इसी कारण उनका नाम के पीछे विन्ची लगया गया है।लेओनार्दो डा विन्ची इटली की राजशाही के दौरान एक वैज्ञानिक खोजकर्ता व कलाकार के रूप में जाने जाते थे और आज भी वह अपनी प्रतिभा के लिए पुरे विश्व में जाने जाते हैं ।पुरातत्वा वेता (archaeological heritage) द्वारा उनको दुनिया का सबसे सबसे प्रतिभाशाली व्यक्ति का दर्जा दिया गया है।Leonardo da Vinci एक ही बार में एक हाथ से लिख और दुसरे हाथ से पेंटिंग कर सकते थे ।

मोना लिसा पेंटिंग 

दुनिया की सबसे प्रसिद्ध पेंटिंग मोना लिसा को लेओनार्दो डा विन्ची द्वारा ही बनाया गया था जो आज भी फ्रांस के Louvre Museum में मौजूद है और इसकी कीमत भारतीय रुपयों के हिसाब से 5253 करोड़ रुपये यानी (Rs.52531050000) है।कहा जाता है की मोना लिसा की पेंटिंग को अलग अलग एंगल से देखने मोना लिसा की स्माइल अलग अलग नज़र आती है,मगर यह रहस्य आज तक भी रहस्य ही है।

मोना लिसा पेंटिंग रहस्य 

  • लेओनार्दो डा विन्ची  ने इस पेंटिग को सन 1503 में बनाना शुरु किया था जब वे 51 साल के थे और 2 मई 1519 में vinci  पेंटिंग को  पूरी किये बिना ही भगवान को प्यारे हो गए।
  • और मोना लिसा को वैसे तो English में Mona lisa लिखा जाता है मगर उसका सही नाम Monna lisa है ।इटली में इस का मतलब होता है my lady.
  • यह भी कहा जाता है की यह पेंटिंग nepoleon  Bonaprte को यह पेंटिंग बहुत पसंद आ गयी थी जिसके चलते उन्होंने यह पेंटिंग अपने कमरे में लगवा दी थी ।
  • सन  1757  में मोना लिसा की पेंटिंग कोक फ्रांस के Louvre Museum में पाया गया था,लेकिन चौंकाने वाली बात यह है की यह पेंटिंग वह पहुची कैसे या बात आज तक रहस्य ।
  • 1951 में एक आदमी ने मोना लीसा की पेंटिंग पर पत्थर फेंका था जिसकी वजह से मोना लीसा के बाएं हाथ की कोहनी के सामने एक स्क्रेच आ गया है । और फिर इस पेंटिंग की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए फ्रांस की government में उस पेंटिंग के लिए Louvre Museum में एक Special Room बनाया है जिसका temprature ऐसा रखा गया है जिस से पेंटिंग को कोई नुक्सान न पहुचे इस कमरे को बनाने  के लिए museum ने तकरीबन 50 करोड़ रुपये खर्च किए। इस पेंटिंग को वह एक बुलेट proof शीशे के अंदर रखा गया है ।

भारत की 10 रहस्यमयी जगहें

ये 10 घटनाये आज तक रहस्य ही हैं पढ़ें 

  • 21 अग्स्स्त 1911 को यह पेंटिंग Museum  से चोरी हो गयी थी पर हैरानी की बात यह है की यह पेंटिंग 10 साल बाद फिर से वहाँ आ गई थी ।
  • 14 december 1962 को यह पेंटिंग 100 million doller की थी और गूगल के सर्च रिजल्ट से पता चलता है की आज इस पेंटिंग की कीमत करीब 5253 करोड़ है वाकई कुछ तो है इस पेंटिंग में जो उस ज़माने में इतने सारी तकनीक उपलब्ध न होने पर भी लेओनार्दो ने ऐसी पेंटिंग बना डाली जिसकी कीमत के आगे आज की आधुनिक तकनीन की कलाकारी भी घुटने टेकती है ।
  • लेओनार्दो डा विन्ची एक पेंटर होने के साथ साथ एक लेखक भी थे लेकिन उन्होंने अपनी सबसे favorite painting mona lisa का ज़िक्र कहीं भी नहीं किया जिस से आजतक यह बात रहस्य ही बनी हुई है की आखिर वह औरत है कौन जिसको मोना लिसा पेंटिंग में बनाया गया है ।
  • लकिन माना यह जाता है की 2005 में एक latter मिला था जिसको लेओनार्दो के ही मित्र ने लिखा था और अपनी दूसरी बेटी के जन्मदिन पर लिओनार्दो से अपनी पत्नी जिया कोंडो की पेंटिंग बनाने को कहा गया था पर जिस वक़्त यह पत्र लिखा गया था उस वक़्त विन्ची इस पेटिंग पर काम कर रहे थे इसलिए पूरी तरह से यह कह पाना उचित नहीं होगा की जिया कोंडो की मोना लिसा है ।
  • mona lisa नमक पेंटिंग का अकार 21 “चौड़ी  व 30 ” लम्बी है ।
  • 2004 में एक वैज्ञानिक (Pascle Cottee ) ने mona lisa की पेंटिंग को spector lights technology  के high intensity lights और multi lens कैमरा की मदद से अलग अलग layers निकाल ली और उसमे उन्हें यह पता चला की Mona Lisa painting बनाने में दिओनर्दो डा विन्ची ने जो paint स्तेमाल किया था उसकी मोटाई 40 micro meter थी यानी एक बाल से भी ज्यादा पतली जिसमे कोयला भी शामिल था। ये बात भले आपको रहस्य ना लगती  हो मगर रहस्य तो यह है की इस तस्वीर में इतने पटले पेंट का स्तेमाल करने पर भी यह आज तक यानी 500 सालो से भी ज्यादा सालो तक सुरक्षित है ।

ताजमहल से जुड़े अनोखे तथ्य

  • इस रहस्य मई तासीर को बनाने में लेइओनर्दो डा विन्ची ने sfumato तकनीक का स्तेमाल किया है जिसमे painting में कही outline नहीं होती अगर कही पर होती भी हैं तो उनको दो रंगों से मिला कर seamless बना दिया जाता है ।
  • एक शोध से यह भी पता चला है की मोना लिसा painting में Vinci ने कुछ शब्द La risposta si Trova Qui लिखे थे जो Italian भाषा में थे,और हिन्दी में इसका मतलब होता है की उत्तर यहाँ है (the answer is here)।इस बात से यह पता चलता है की शायद vinci इस painting में छुपे message को बताना चाहते हों मगर वे इस से पहले ही इश्वर को प्यारे हो गए और यहाँ एक रहस्य छोड़ गए  ।
  • हाल ही में एक website paranormal Crucible ने यह बात बतायी की Mona Lisa की painting में alien छुपा है,यह बात कितनी सच और और कितनी सच इसकी तो अभी पुष्टि नहीं की गयी मगर जब हम Mona Lisa की दो painting लेते हैं और दोनों का मुह बाएं और दायें करके मिलाते हैं तो बेच में एक alien जैसी आकृति बन कर आती है। यह बात तब सोचने पर मजबूर करती है जब यह आकृति वही बनती है जहाँ पर vinci ने लिखा था की उत्तर यहाँ है ।

mona lisa painting mystery

अब आप इस तस्वीर में खुद देख सकते हैं की  मोना लिसा की दो फोटो को मिला कर यह तस्वीर क्या दर्शाती है तो यह थे Mona Lisa painting mystery अगर अच्छी लगी  तो दोस्तों के साथ share करना न भूलें ।

|जय हिन्द|

About kailash

मेरा नाम कैलाश रावत है और मैं hindish.com का एडमिन व लेखक हूँ और इस ब्लॉग पर निरंतर हिन्दी में ,टेक,टिप्स,जीवनियाँ,रहस्य,व अन्य जानकारी वाली पोस्ट share करता रहता हूँ, मेरा मकसद यह है की जैसे बाकि भाषाए इन्टरनेट पर अपनी एक अलग पह्चान बना रही हैं तो फिर हम भी अपनी मात्र भाषा की इन्टरनेट की दुनियां में अलग पहचान बनाये न की hinglish में ।
Share post, share knowledge

3 thoughts on “मोनालिसा पेंटिंग का रहस्य |mystery of mona lisa painting in hindi”

  1. Thank you brother for giving many informations about the painting of monalisa.my name is krishna from guwahati(assam).

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *